Followers

Showing posts with label Education. Show all posts

फरीदाबाद: डॉ भीमराव अंबेडकर छात्रवृत्ति के लिए करें आवेदन, 8000 से 12000 तक की धनराशि मिलेगी

Dr-Bhimrao-Ambedkar-Scholarship-Scheme-in-faridabad

अनुसूचित जाति एवं पिछड़े वर्ग, कल्याण विभाग द्वारा चलाई जा रही डाँ. भीमराव अम्बेडकर मेधावी छात्रवृति संशोधित योजना के वर्ष 2021-22 में छात्र/छात्राओ की छात्रवृति के लिए ऑनलाईन आवेदन पत्र विभागीय वैबसाईट http://scbcharyana.com/ पर प्राप्त करने की अन्तिम तिथि 10.03.2022 निश्चित की गई है। शिक्षा के क्षेत्र में निरन्तर बढ़ रही प्रतिस्पर्धा के युग में अनुसूचित जाति, पिछड़े वर्ग, विमुक्त घुमन्तु, टपरीवास श्रेणी और अन्य वर्गो के छात्र/छात्राओं को सक्षम बनाने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना एवं मैट्रिक से स्नातकोत्तर कक्षाओं में अधिक से अधिक अंक प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित करना है।

जिला कल्याण विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार जाति छात्रवृति की आधार परीक्षा कक्षा परीक्षा में प्राप्त अंकों की प्रतिशतता को शामिल किया जाता है। कल्याण विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार दसवीं कक्षा के लिए अनुसूचित जाति शहरी क्षेत्र में 70 प्रतिशत व ग्रामीण क्षेत्र में 60 प्रतिशत अंक लेने पर 8000/- रूपये की धनराशि, 12 वीं कक्षा में शहरी क्षेत्र में 75 प्रतिशत व ग्रामीण क्षेत्र में 70 प्रतिशत अंक प्राप्त करने पर 8000 से 10000/- रुपये की धनराशि दी जाती है। 

इसी प्रकार स्नातक के लिए शहरी क्षेत्र में 65 प्रतिशत और ग्रामीण क्षेत्र में 60 प्रतिशत अंक प्राप्त करने पर 9000/- से 12000/- रूपये की धनराशि प्रदान की जाती है। विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार पिछड़ा वर्ग (ए) वर्ग के आवेदकों को 10वीं शहरी क्षेत्र में 70 प्रतिशत व ग्रामीण क्षेत्र में 60 प्रतिशत अंक लेने पर 8000/- रूपये की धनराशि, पिछड़ा वर्ग (बी) के 10वीं पास के लिए शहरी क्षेत्र में 80 प्रतिशत और ग्रामीण क्षेत्र में    75 प्रतिशत लेने पर  8000/- रूपये की धनराशि दी जाती है। समान्य वर्ग के 10वीं पास के लिए शहरी क्षेत्र में 80 प्रतिशत व ग्रामीण क्षेत्र में 75 प्रतिशत अंक लेने पर 8000/-रुपये की धनराशि दी जाती है।

इस योजना के तहत आवेदक को छात्र/छात्रा द्वारा पास की गई पास की गई कक्षा की मार्कशीट, हरियाणा का स्थाई निवासी हो, जाति प्रमाण पत्र, फैमली आई0डी0 व आधार कार्ड, बैंक खाता, वर्तमान कक्षा का आई0डी0 कार्ड तथा माता-पिता तथा अभिभावक की 04 लाख से कम का आय प्रमाण होना अनिवार्य है। निर्धारित तिथि के बाद प्राप्त आवेदन पत्रों पर कोई विचार नहीं किया जायेगा। अधिक जानकरी के लिए जिला कल्याण अधिकारी, कार्यालय कमरा न0 408-409, चैथी मंजिल लघु सचिवालय सैक्टर 12 में सम्पर्क करें।

केंद्रीय मंत्री KP गुर्जर ने सरकारी स्कूल की बहुमंजिला नवनिर्मित भवन का किया उदघाटन

फरीदाबाद, 19 दिसंबर। जीवन में सफलता प्राप्त कर कुछ अलग करने के लिए शिक्षा सभी के लिए एक बहुत महत्वपूर्ण साधन है। शिक्षा हमें जीवन के कठिन समय में चुनौतियों से सामना करने में सहायता करती है। शिक्षा बच्चों- बड़ो, महिला - पुरूष सभी वर्गों के लिए समान रूप से आवश्यक है। शिक्षित समाज ही राष्ट्र के नव-निर्माण में अपनी महती भूमिका का निर्वाह कर सकता है। यह विचार ऊर्जा एवं भारी उद्योग केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने आज राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, आनंगपुर, फरीदाबाद के बहुमंजिला नवनिर्मित भवन का उद्घाटन करने के अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहे।

   उन्होंने कहा कि  शिक्षा एक व्यक्ति को अपनी क्षमता का पता लगाने में मदद करती है, जो बदले में एक मजबूत और एकजुट समाज को बढ़ावा देती है। परिवार, समुदाय, समाज और राज्य हर स्तर पर ले जाने के लिये शिक्षा का अत्यंत महत्व इस बात को ध्यान में रखते हुए समाज में रह रहे हर वर्ग को अपने बच्चों को पढ़ाना चाहिए ताकि वे आने वाले समय में एक शिक्षित व सभ्य नागरिक बनकर समाज व राष्ट् के निर्माण में अपनी सहभागिता सुनिश्चित कर सके। कृष्ण पाल गुर्जर ने कहा कि राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय आनंगपुर, फरीदाबाद के नवनिर्मित भवन के बन जाने से आसपास के क्षेत्रों में रह रहे बच्चों के लिए शिक्षा के नए आयाम स्थापित होंगे। कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में केंद्र सरकार व राज्य में मुख्यमंत्री मनहोर लाल के कुशल मार्गदर्शन में गांव - गांव में आधुनिक स्मार्ट स्कूल व उनके भवन बनाए जा रहे हैं, जहां पर नई शिक्षा नीति के अंतर्गत बच्चों के उज्जवल भविष्य की कल्पना के साथ बच्चों को आधुनिक शिक्षा के अनुरूप शिक्षा सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है।

उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों से कहा कि वे स्थानीय व दूर- दराज से यहां शिक्षा ग्रहण करने के लिये आने वाले बच्चों को बेहतर से बेहतर शिक्षा व सम्बंधित सुविधाएं उपलब्ध करवाकर उनके उज्जवल भविष्य के लिए निरंतर प्रयास करने में पूर्ण निष्ठा ईमानदारी से अपने दायित्वो का निर्वाह करें। उल्लेखनीय है कि राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय आनंगपुर के बहुमंजिला नवनिर्मित भवन के निर्माण में 4 करोड़ 65 लाख रुपए अब तक खर्च हो चुके हैं। जिसके अंतर्गत 1 फर्स्ट एड रूम , 1 किचन ,1 डाइनिंग रूम , 2 स्टोर, 7 लैब,1 लाइब्रेरी , 18 क्लास रूम, 12 बॉयज टॉयलेट , 12 गर्ल्स टॉयलेट, 8 स्टाफ टॉयलेट, 4 सीडब्लूएसएन,1 प्रिंसिपल रूम , 1 हेड ऑफिस, 1 स्टाफ रूम , 2 स्टार केस, 16  सीसीटीवी कैमरा,4 वाटर कूलर 4 वाटर फिल्टर , 5 एयर कंडीशनर,1 एलईडी टीवी, 270 ट्यूबलाइट, 167 पंखे,1 वाटर टैंक 1000 लीटर की सुविधाएं दी गई हैं। 

इस अवसर पर विधायक सीमा त्रिखा ने केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर का कराए जा रहे विकास कार्यों के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि कृष्ण पाल गुर्जर के कुशल मार्गदर्शन में संपूर्ण संसदीय क्षेत्र में अनेकों विकास कार्य को अंतिम रूप दिया जा रहा है। इसी कड़ी में आज राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय आनंगपुर के करोड़ो रुपए की लागत से बनने वाले बहुमंजिला जिला नवनिर्मित भवन का उद्घाटन किया गया है। उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में इस प्रकार के भवन बच्चों के उज्जवल भविष्य के लिए मील का पत्थर साबित होंगे। इससे पूर्व राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने स्थानीय लोगों की पेयजल आपूर्ति की समस्या का समाधान करते हुए 20 लाख रुपए के दो ट्यूबवेल की सुविधा प्रदान कर लोगों की पेयजल आपूर्ति की समस्या का समाधान भी किया। इस अवसर पर हरीनिवास, अजीत पाल सरपंच,पूर्व मेयर देवेंद्र, प्रेम सिंह चमन भड़ाना, प्रेम कृष्ण आर्य, ललित भड़ाना, ऋषि भड़ाना, डीएईओ मनीष चौधरी, डीईओ रीतू चौधरी सहित अनेकों गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

रावल इंस्टीट्यूशंस में नवीन छात्रों के लिए फ्रेशर्स पार्टी - रज्जमाताज़ 2021 का किया आयोजन

rawal-institutions-freshers-party-razzmatazz-2021-news

Faridabad News: रावल इंस्टीट्यूशंस में नवीन छात्रों के लिए फ्रेशर्स पार्टी - रज्जमाताज़ 2021 का आयोजन बहुत धूमधाम से किया गया। 

डॉ हम्बीर सिंह, निर्देशक RIET ने छात्रों का स्वागत किया और छात्रों को रावल इंस्टीट्यूशन में मस्ती भरे जीवन के लिए अवगत कराया। छात्रों ने रैंप वॉक में भाग लिया और अपने चकाचौंध भरे लुक और आत्मविश्वास से भरे वॉक से मंच पर धूम मचा दी। 

छात्राओं की प्रतिभा को देख दर्शक मंत्रमुग्ध हो गए। सीनियर्स ने जोशीला नृत्य प्रस्तुत कर दर्शकों का मन मोह लिया। उन्होंने विभिन्न संगीत प्रस्तुतियों से छात्रों का स्वागत किया। कविता पाठ, गिटार प्रदर्शन और तबला ने फ्रेशर्स पार्टी में बहुत जोश भर दिया। मिस्टर  एंड मिस फ्रेशर का खिताब क्रमशः राकेश और मोनिका को दिया गया। स्टार रज्जमाताज़ का खिताब केतकी को दिया गया ।  

छात्रों ने पार्टी का आनंद लिया और डीजे विवेक के संगीत पर  झूमकर नृत्य किया।  डॉ राजेश तिवारी, निर्देशक RIM ने छात्रों के शैक्षिक भविष्य के लिए उनको शुभ कामनाएं दी। इस अवसर पर श्री अनिल प्रताप सिंह, प्रशासक RI और डॉ. सोनल छाबड़ा, प्राचार्य RCE भी उपस्थित थे।

फरीदाबाद में कल होंगी परीक्षाएं, शिक्षा विभाग ने पूरी की तैयारी

फरीदाबाद, 04 दिसम्बर। उपायुक्त जितेन्द्र यादव ने बताया कि जिला में सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार नियम 134ए के तहत परीक्षा कल रविवार को होगी। इसके लिए शिक्षा विभाग पूरी तैयारी कर ली गई है। जिला शिक्षा अधिकारी ऋतु चौधरी ने बताया कि जिला में आठ परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि आवेदन के दौरान मिले रजिस्ट्रेशन नंबर को ही रोल नंबर माना जाएगा। परीक्षा 12 दिसंबर होने की सम्भावना जताई जा रही है।

बल्लभगढ़ के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बल्लभगढ में दूसरी से पांचवीं, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सेक्टर-3 में छठी से नौवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों की परीक्षा होगी। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय एन आईटी-3 में तीसरी, राजकीय गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल में चौथी, राजकीय ब्वाज सीनियर सेकेंडरी स्कूल में चौथी, राजकीय गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल एनआईटी-5 में आठवीं व नौवीं, राजकीय गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल में राजकीय ब्वाज सीनियर सेकेंडरी स्कूल एनआईटी-5 में छटी व सातवीं, राजकीय गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल एनआईटी-1 मट्रो में दूसरी और राजकीय ब्वाज सीनियर सेकेंडरी स्कूल तिकोना पार्क में से पांचवी कक्षा तक के विद्यार्थियों की परीक्षा होगी। परीक्षा के लिए आवेदकों के रोल नंबर आवेदन के दौरान मिले रजिस्ट्रेशन नंबर को ही माना जाएगा। रोल नंबर अलग से जारी नहीं किए जाएंगे। 

परीक्षा केंद्र के अलाटमेंट की सूची को गुरुवार को बीईओ कार्यालय में लगाया जाएगा। सीटिग प्लान को परीक्षा केंद्र के समय ही बताया जाएगा। परीक्षा केवल उन्हीं विद्यार्थियों की होगी जिन्होंने प्राइवेट स्कूल से अपनी पिछली कक्षा पूरी की है। सरकारी स्कूल से अपनी पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों के लिए कोई परीक्षा नहीं होगी। ऐसे विद्यार्थियों को पिछली कक्षा में प्राप्त अंकों पर आवंटन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 11वीं कक्षा में दाखिला दसवीं के परीक्षा परिणाम के आधार पर होगा। अगर विद्यार्थियों को स्कूल आवंटित किया जाता है। इस बार नियम 134ए के तहत स्कूलों की खाली सीटों के लिए बहुत ही कम आवेदन आए हैं। कुल सीटों के आधे आवेदन भी इस बार नहीं आए। अभिभावकों में भी नियम 134ए के तहत कोई उत्साह नहीं है। इसका एक कारण यह भी है कि बच्चे स्कूलों में दाखिला ले चुके हैं। स्कूल अगस्त महिने से खुले हुए हैं।

जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि नियम 134ए के तहत जिला में कुल 3914 सीटें है। कक्षा दूसरी के लिए 565, कक्षा तीसरी के लिए 624, कक्षा चौथी में 552, कक्षा पांचवीं में 575, कक्षा छठी में 451, कक्षा सातवीं में 450, कक्षा आठवीं में 427, कक्षा नौवीं में 270 सीटें है। परीक्षा 5 दिसंबर को आयोजित की जाएगी है।

खण्ड शिक्षा अधिकारी बलबीर कौर ने बताया कि विभाग की ओर से परिक्षा देने के लिए पहुंचने वाले विद्यार्थियों को आइडी प्रुफ और अप्लाई किया गया आनलाइन फार्म साथ लाने के लिए कहा गया है। परिक्षा का समय दोपहर 12 से सायं 3 बजे तक निर्धारित किया गया है। साथ ही विभाग की ओर से कहा गया है कि साढ़े 10 बजे विद्यार्थी अपने-अपने सेंटरों पर पहुंच जाएं। स्थानीय कार्यालय के अधिकारियों कहना है कि 10 दिसंबर तक उनकी ओर से रिजल्ट के लिए मार्किंग करके ऑनलाइन करना है और 13 दिसंबर को पंचकूला हेड ऑफिस से अलाटमेंट कर दी जाएगी। विद्यार्थियों द्वारा आनँ लाइन आवेदन किए जा रहे हैं।

छात्र हितों की मांग लेकर YMCA यूनिवर्सिटी पर ABVP ने किया प्रदर्शन


अभाविप फरीदाबाद के कार्यकर्ताओं ने छात्र हितों की मांग लेकर जेसी बॉस विश्वविद्यालय वाईएमसीए फरीदाबाद पर अभाविप ने किया प्रदर्शन। जिला मीडिया संयोजक रवि पांडे ने कहा की छात्र आनलाईन एक्जाम की मांग कर रहे हैं विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता छात्रों के साथ खड़े है। हमारी मांग है कि विश्वविद्यालय कैंपस को भी ऑफलाइन शुरू किया जाए। 

राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य माधव रावत ने कहा कि जेसी बॉस विश्वविद्यालय वाईएमसीए विश्वविद्यालय को सुचारू रूप से खोला जाए। अभाविप मांग करती है कि विश्वविद्यालय को पुनः जल्द से जल्द ऑफलाइन माध्यम से खोला जाए एवं प्लेसमेंट सेल सुचारू रूप से शुरू की जाए ताकि छात्राओं को इसका लाभ मिल सके। 

जिला संयोजिका प्रीति नागर आज जहां सभी स्कूल भी सुचारू रूप से शुरू हो चुके हैं तो विश्वविद्यालय क्यों नहीं? विश्वविद्यालय को सुचारू रूप से खोला जाना चाहिए। छात्र नेता दिव्यांशु जेसी बॉस विश्वविद्यालय ने बताया जेसी बॉस विश्वविद्यालय कुलपति डॉ राज नेहरू से छात्र प्रतिनिधियों ने मुलाकात कर मांग रखी है कि छात्रों को ऑनलाइन मोड में एग्जाम कराई जाए। एवं जल्द से जल्द विश्वविद्यालय कैंपस को ऑफलाइन माध्यम से शुरू किया जाए।  

दीपक भारद्वाज का कहना है कि छात्रों की मांगों को विश्वविद्यालय प्रशासन जल्द नहीं मांगेगी तो विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता आंदोलन करने से भी पीछे नहीं हटेंगे। इस अवसर पर गौतम भड़ाना, दीपक भारद्वाज, गायत्री, कनिका, रवि पाण्डेय, छविल शर्मा, संचित, रोहित, अमन दुबे, शुभम शर्मा, जैनेश चौहान, राहुल, समेत अनेक कार्यकर्ता एवं विश्वविद्यालय  के छात्र-छात्राएं मौजूद रहे।

फरीदाबाद: स्कूलों के ऑर्डर में हुआ बदलाव, जारी रहेंगे CBSE 10th, 12th के एग्जाम


फरीदाबाद, 15 नवंबर: उपायुक्त जितेंद्र यादव ने बताया कि बढ़े हुए वायु प्रदूषण की वजह से जिला के स्कूलों को 17 नवंबर तक बंद करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि जिला शिक्षा अधिकारी से मंत्रणा करने के बाद यह निर्णय लिया गया है कि यह आदेश सीबीएसई की कक्षा दसवीं, बारहवीं की डेटशीट के अनुसार जो परीक्षा 15 नवंबर से 17 नवंबर तक तय की गई है उस पर लागू नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि सभी सीबीएसई विद्यालयों में परीक्षा सुचारू रूप से जारी रहेगी।

उल्लेखनीय है कि हरियाणा सरकार ने वायु प्रदूषण बढ़ने के कारण गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत और झज्जर में सभी स्कूलों को 17 नवंबर तक के लिए बंद करने का आदेश दिया है. इन जिलों में  सरकारी व निजी स्कूलों को बंद कर दिया गया है. हर तरह के निर्माण कार्यों पर भी रोक लगा दी गई है.

पॉल्यूशन के कारण फरीदाबाद समेत हरियाणा के कई जिलों में बंद किये गए सरकारी व प्राइवेट स्कूल


वायु प्रदूषण बढ़ने के कारण फरीदाबाद सहित हरियाणा के कई जिलों में सरकारी व् प्राइवेट स्कूल बंद कर दिए गए हैं, हरियाणा सरकार ने वायु प्रदूषण बढ़ने के कारण गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत और झज्जर में सभी स्कूलों को 17 नवंबर तक के लिए बंद करने का आदेश दिया है. इससे पहले कल दिल्ली सरकर ने प्रदूषण के कारण एक हफ्ते के लिए स्कूल बंद करने की घोषणा की थी.

DIPR हरियाणा की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक़, वायु प्रदूषण पर रोकथाम के मद्देनज़र हरियाणा सरकार ने त्वरित क़दम उठाते हुए NCR के चार ज़िलों गुरुग्राम, फ़रीदाबाद, सोनीपत व झज्जर को लेकर कई निर्णय लिए हैं. इन जिलों में  सरकारी व निजी स्कूलों को बंद कर दिया गया है. हर तरह के निर्माण कार्यों पर भी रोक लगा दी गई है.

HSSC परीक्षा के लिए फरीदाबाद में बनाया गया कंट्रोल रूम, परेशानी होने पर इन नंबरों पर करें सम्पर्क


फरीदाबाद, 30 अक्टूबर: जिला फरीदाबाद में दिनांक 31 अक्टूबर 2021, 1 नवंबर 2021 व 2 नवंबर 2021 को 90 परीक्षा केंद्रों पर समय प्रातः 10:30 से दोपहर 12:00 बजे तक व दोपहर 3:00 बजे से शाम 4:30 बजे तक होने वाली हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग की परीक्षा के संचालन के लिए नगराधीश कार्यालय, फरीदाबाद रूम नंबर 215 में एक कंट्रोल रूम बनाया गया है। कंट्रोल रूम से दूरभाष नंबर 01292227934 पर संपर्क किया जा सकता है।

कंट्रोल रूम पर निम्नलिखित अधिकारियों व कर्मचारियों की परीक्षा की समाप्ति तक ड्यूटी लगाई गई है। कुंदन लाल, उप-अधीक्षक (8586961951) उपायुक्त कार्यालय, फरीदाबाद को कंट्रोल रूम का नोडल अधिकारी बनाया गया है। श्री होरी लाल, सहायक (9958779699, 7678689944) उपायुक्त कार्यालय फरीदाबाद, श्री सोहन पाल, लिपिक (9811333465) एचआरए शाखा उपायुक्त कार्यालय फरीदाबाद, श्री राजेश लिपिक (9354140025) पेशी शाखा उपायुक्त कार्यालय।

श्री प्रवीण डाटा एंट्री ऑपरेटर (9999579940) नगराधीश कार्यालय फरीदाबाद, श्री सौरभ डाटा एंट्री ऑपरेटर (9953188167) उपायुक्त कार्यालय फरीदाबाद, कुमारी प्रियंका सेवादार, नगराधीश कार्यालय फरीदाबाद, श्री दिलबर, सेवादार (9953248391) नगराधीश कार्यालय फरीदाबाद को निर्देश दिए गए हैं कि 13.10.2021, 01.11.2021 व 02.11.2021 को प्रातः 7:00 अपने कार्यालय स्थल पर पहुंचकर आवश्यक कार्यवाही करना सुनिश्चित करें।

फरीदाबाद के अल्पसंख्यक समुदाय के छात्र उठाएं छात्रवृति योजनाओं का लाभ, जानें पूरा प्रोसेस


फरीदाबाद, 29 अक्तूबर: उपायुक्त जितेंद्र यादव ने बताया कि सरकार द्वारा अल्पसंख्यक समुदाय के छात्रों के कल्याण के लिए प्री-मैट्रिक, पोस्ट-मैट्रिक एवं मैरिट-कम-मींस छात्रवृति योजनाएं क्रियान्वित की जा रही है। अल्पसंख्यक समुदाय (मुस्लिम, सिख, ईसाई, जैन, पारसी व बौद्घ) के पात्र छात्र पोस्ट मैट्रिक छात्रवृति के लिए 15 नवम्बर तथा मैरिट-कम-मींस छात्रवृति के लिए 30 नवम्बर 2021 तक एनएसपी पोर्टल https://scholarships.gov.in/ पर आवेदन करें। 

उन्होंने बताया कि इन छात्रवृति योजनाओं की पात्रता शर्तों में विद्यार्थियों ने पिछली कक्षा में 50 प्रतिशत अंक प्राप्त किये है तथा इनके माता-पिता /अभिभावकों की वार्षिक आय प्री-मैट्रिक छात्रवृति के लिए एक लाख रुपये, पोस्ट-मैट्रिक छात्रवृति के लिए दो लाख रुपये तथा मैरिट-कम-मींस छात्रवृति योजना के लिए अढ़ाई लाख रुपये होनी चाहिए। उन्होंने बताया कि पात्र छात्र ऑनलाइन आवेदन करवाकर संबंधित स्कूल अथवा कॉलेज से एनएसपी पोर्टल पर वेरिफाई करवाये। इस बारे में अधिक जानकारी के लिए अल्पसंख्यक मंत्रालय की वेबसाइट www.minorityaffairs.gov.in देख सकते है।

उन्होंने बताया कि सभी नोडल शिक्षण अधिकारी (सभी स्कूल/कॉलेज प्रतिनिधि) अपनी प्रोफाइल को आधार डैमोग्राफिक ओथेंटिकेशन के साथ यथाशीघ्र एनएसपी पोर्टल पर अपडेट करें व अपनी केवाईसी पूर्ण करें ताकि अल्पसंख्यक समुदाय से संबंधित पात्र विद्यार्थी इन योजनाओं का लाभ उठा सके।


'पुलिस झंडा दिवस' पर स्कूल में बच्चों से मिले CP विकास अरोड़ा, देशभक्ति की भावना बढ़ाने के लिए किया प्रोत्साहित


पुलिस झंडा दिवस के अवसर पर पुलिस आयुक्त विकास अरोड़ा ने डीएवी पुलिस पब्लिक स्कूल में बच्चों से रूबरू होकर उन्हें नैतिक मूल्यों पर आधारित शिक्षा और देशभक्ति की भावना को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहित किया। पुलिस आयुक्त विकास अरोड़ा ने कल पुलिस झंडा दिवस के अवसर पर फरीदाबाद पुलिस लाइन स्थित डीएवी पुलिस पब्लिक स्कूल का दौरा किया उनके साथ पुलिस उपायुक्त डॉ अंशु सिंगला व सहायक पुलिस आयुक्त मुनीश सहगल भी मौजूद रहे।

उनका स्वागत करने के लिए डीएवी पुलिस पब्लिक स्कूल की तरफ से श्री एसएस चौधरी, स्कूल प्रबंधक श्री बी के दास व प्रधानाचार्य श्रीमती हेमा अरोड़ा मौजूद थे। प्रधानाचार्य ने पौधे पेंट करके पुलिस आयुक्त का स्वागत किया। पुलिस आयुक्त ने स्कूल से संबंधित विषयों में स्कूल के बुनियादी ढांचे के विकास पर चर्चा की। 

विद्यालय में चल रही खेल गतिविधियों जैसे फुटबॉल, बैडमिंटन, कबड्डी व कराटे की प्रशंसा करते हुए खेल गतिविधियों को और अधिक बढ़ावा देने पर बल दिया। उन्होंने स्कूल में एनसीसी की शुरुआत करने का आश्वासन दिया और विद्यालय में अतिरिक्त भाषा के तौर पर फ्रेंच भाषा की शुरुआत करने के लिए स्कूल प्रबंधन से चर्चा की। 

इसके पश्चात पुलिस आयुक्त ने छात्रों से संवाद किया और उनके अनुभवों के बारे में अवगत कराते हुए उनका उत्साहवर्धन किया।  उन्होंने विद्यालय के अनुशासन की प्रशंसा करते हुए विद्यालय की गतिविधियों व उपलब्धियों के विषय में जानकारी प्राप्त कर इसे और बेहतर बनाने के लिए प्रोत्साहित किया। स्कूल प्रांगण में छात्रों को हवन करते हुए उन्हें नैतिक मूल्यों पर आधारित शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए विद्यालय की प्रशंसा की। उन्होंने बच्चों को बहादुर पुलिसकर्मियों की वीरता के किस्से सुनाकर उनमें देशभक्ति की भावना को बढ़ाया।

राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय जी ने फरीदाबाद के उद्यमी नवीन सूद को मानद उपाधि से किया सम्मानित

haryana-rajyapal-bandaru-dattatreya-phd-degree-to-naveen-sood 

फरीदाबाद, 8 अक्टूबर। हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने युवाओं को वैश्विक मांग तथा स्थानीय जरूरतों के अनुरूप कौशल प्रदान करने की आवश्यकता पर बल देते हुए आज कहा कि विश्वविद्यालयों को औद्योगिक सहभागिता में कौशल आधारित छोटे-छोटे प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों को शुरू करने पर ध्यान देना होगा ताकि युवाओं के लिए रोजगार के ज्यादा से ज्यादा अवसर उपलब्ध हो सके। उन्होंने कहा कि ऐसे पाठ्यक्रम ग्रामीण आंचल के युवाओं को ध्यान में रखकर तैयार किये जाये।

हरियाणा राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय आज फरीदाबाद के जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए के तीसरे दीक्षांत समारोह को संबोधित कर रहे है। विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह की अध्यक्षता करते हुए कुलाधिपति के रूप में श्री बंडारू दत्तात्रेय ने कुलपति प्रो. दिनेश कुमार की उपस्थिति में विद्यार्थियों को उपाधि, पदक एवं प्रमाण-पत्र प्रदान किये। श्री दत्तात्रेय ने विश्वविद्यालय के कुलगीत का भी विमोचन किया। इस अवसर पर राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड (एनबीए) के अध्यक्ष प्रो. के. के. अग्रवाल विशिष्ट अतिथि रहे तथा दीक्षांत अभिभाषण दिया।

इस अवसर पर कुलाधिपति ने प्रतिष्ठित रक्षा वैज्ञानिक डॉ जी सतीश रेड्डी तथा फरीदाबाद के सफल उद्यमी एवं विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र श्री नवीन सूद को उनकी विशिष्ट उपलब्धियों के लिए सम्मान स्वरूप मानद उपाधियां प्रदान की।

दीक्षांत समारोह के दौरान वर्ष 2021 में उत्तीर्ण कुल पात्र 1210 में से 750 विद्यार्थियों एवं शोधार्थियों ने हिस्सा लिया, जिन्हें कुलाधिपति द्वारा उपाधियां प्रदान की गई। इनमें 672  स्नातक एवं 494 स्नातकोत्तर छात्र-छात्राएं तथा 44 शोधार्थी शामिल रहे।

दीक्षांत समारोह में लड़कियों की भागीदारी उत्साहजनक रही। स्नातक व स्नातकोत्तर स्तर पर सभी पाठ्यक्रमों में उत्तीर्ण 1166 विद्यार्थियों में 604 लड़कियां रहीं। इसी तरह पीएचडी में 44 में से 26 महिला शोधार्थी रहीं तथा 44 स्वर्ण पदक प्राप्तकर्ताओं में 35 छात्राएं रही। दीक्षांत समारोह में लड़कों की तुलना में लड़कियों की अधिक भागीदारी पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए श्री दत्तात्रेय ने ने कहा कि यह अच्छे संकेत है जो साबित करता है कि लड़कियां प्रत्येक क्षेत्र में आगे निकल रही है।

विद्यार्थियों को उद्यमशीलता के लिए प्रोत्साहित करते हुए श्री दत्तात्रेय ने कहा कि देश के उच्चतर शिक्षण संस्थानों से उत्तीर्ण होकर निकलने वाले वाले अधिकतर युवा सरकारी नौकरी की चाह रखते है। लेकिन सरकार सभी को नौकरी नहीं दे सकती। युवाओं को खुद को कौशलवान बनाना होगा ताकि वे खुद को रोजगार के लिए सक्षम बना सके। उन्हें नौकरी मांगने वाले नहीं, अपितु नौकरी देने वाला बनना होगा।

श्री दत्तात्रेय ने कहा कि वर्ष 1969 में इंडो-जर्मन परियोजना केे अंतर्गत स्थापित हुए इस संस्थान ने प्रगतिशील भारत की युवा शक्ति को कौशलवान तथा उद्यमशील बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। हरियाणा सरकार द्वारा महान वैज्ञानिक जगदीश चन्द्र बोस के नाम पर इस संस्थान का नामकरण एक सराहनीय पहल है। राज्यपाल ने सामाजिक सरोकार के क्षेत्र में विश्वविद्यालय के प्रयासों की भी सराहना की।

युवाओं को कौशलवान बनाने की दिशा में राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 को महत्वपूर्ण कदम बताते हुए श्री दत्तात्रेय ने कहा कि यह नीति बेरोजगारी और गरीबी दूर करने वाली शिक्षा नीति है। इस नीति में औद्योगिक जरूरतों एवं प्रौद्योगिकी पर आधारित शिक्षा पर बल दिया गया है। प्राथमिक स्तर पर व्यवसायिक शिक्षा की व्यवस्था की गई है और मातृ भाषा को महत्व दिया गया है। ऐसा 60 वर्षों में पहली बार हुआ है जब शिक्षा नीति में प्रांतीय भाषाओं में सीखने-सिखाने की पहल की गई है। इसी के अनुरूप प्रदेश में पीएचडी एवं तकनीकी पाठ्यक्रमों को हिन्दी भाषा में शुरू किया जायेगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार इस नीति को 2025 तक क्रियान्वित करने जा रही है, जिसके लिए मुख्यमंत्री बधाई के पात्र है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालयों को अगले 4-5 साल इस नीति को प्रभावी रूप से लागू करने पर ध्यान देना होगा।

विशिष्ट व्यक्तियों को मानद उपाधि प्रदान करने की परंपरा शुरू करने पर विश्वविद्यालय को बधाई देते हुए प्रो. अग्रवाल ने कहा कि देश की रक्षा प्रौद्योगिकी को ऊंचाईयों तक ले जाने में डॉ. जी सतीश रेड्डी का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। ऐसे वैज्ञानिक को मानद उपाधि से अलंकृत करना करना विश्वविद्यालय के लिए सम्मान की बात है। इसी तरह उन्होंने मानद उपाधि से सम्मानित प्रतिष्ठित उद्यमी एवं संस्थान के पूर्व छात्र रहे नवीन सूद को भी विद्यार्थियों के लिए आदर्श बताया। उन्होंने कहा कि किसी भी शिक्षण संस्थानों के वह क्षण गौरवपूर्ण होता है, जब उसका कोई छात्र विश्वविद्यालय के किसी समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हो। जे.सी. विश्वविद्यालय के छात्रों ने यह मुकाम हासिल किया है जोकि इस संस्थान की उच्च कोटि की शैक्षणिक गुणवत्ता को दर्शाता है।

उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थानों का यह दायित्व है कि वह शिक्षा को नैतिक मूल्यों के साथ लेकर चले। उन्होंने चिंता जताई कि देश में तकनीकी शिक्षा की गुणवत्ता मूल्यांकन के लिए जिम्मेदार राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड केवल देश में 20 प्रतिशत शिक्षण संस्थानों को भी मान्यता नहीं दे पाया है जो देश में तकनीकी शिक्षा की गुणवत्ता को लेकर गंभीर प्रश्न खड़े करता है।

विद्यार्थियों को बहु-कौशलता अपनाने पर बल देते हुए प्रो. अग्रवाल ने कहा कि वर्तमान दौर में केवल एक कौशल हासिल कर रोजगार की गारंटी नहीं है। युवाओं को बहु-कौशलवान होना होगा। रचनात्मकता और नवाचार पर ध्यान देना होगा और उभरती प्रौद्योगिकियों को अपनाना होगा।

फरीदाबाद में 40 आंगनबाड़ी केंद्र बनेंगे प्ले स्कूल : डीसी जितेंद्र यादव

faridabad-40-anganwani-kendra-will-made-play-school

फरीदाबाद, 12 अगस्त। उपायुक्त जितेंद्र यादव के कुशल मार्गदर्शन में सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार जिला में 40 आंगनबाड़ी केंद्रों को प्ले स्कूल में कन्वर्ट किया जाएगा। इसके लिए महिला एवं बाल विकास विभाग की अधिकारियों को चार दिवसीय प्रशिक्षण स्थानीय बालभवन में दिया गया। सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी, सीडीपीओ व सुपरवाइजर को चार दिवसीय प्रशिक्षण 9 से 12 अगस्त तक दिया गया है।

चार दिवसीय प्रशिक्षण में जिला में 40 आंगनवाड़ी केंद्रों को प्ले स्कूल में कन्वर्ट किया जाने के लिए यह प्रशिक्षण दिया गया है।

 प्रशिक्षण शिविर का निरीक्षण सीएमजीजीए करण कपूर द्वारा भी किया गया और उन्होंने सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार दिशा निर्देश भी दिए।

आपको बता दें कि प्रदेश में सरकार द्वारा 4000 आंगनवाड़ी केंद्रों को प्ले स्कूलों में कन्वर्ट किया जाएगा।  मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा पहले ही यह घोषणा की जा चुकी है और अब इसका क्रियान्वयन बेहतर तरीके से किया जा रहा है।

जिला महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी अनीता शर्मा ने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि जिला के सभी सीडीपीओ व सुपरवाइजर को आंगनबाड़ी केंद्रों को प्ले स्कूल में बदलने के लिए पहले 15 दिन का प्रशिक्षण दिया गया था और अब स्थानीय बाल भवन एनआईटी में चार दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया है। यह प्रशिक्षण 9 से 12 अगस्त तक दिया गया है। जिसमें आंगनवाड़ी केंद्रों को प्ले स्कूल में बदलने के लिए बेहतर तरीके से  मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा घोषित किए गए आंगनवाड़ी केंद्रों को प्ले स्कूल में कन्वर्ट करने की योजना का सही रूप से क्रियान्वयन किया जा सके।

प्रशिक्षण शिविर में सीडीपीओ शकुंतला रखेजा, मीनाक्षी, मीरा,  अनीता गाबा, मंजू ने प्रशिक्षण के उपरांत बताया  कि जिला प्ले स्कूल को बढ़ावा देने के लिए यह यह प्रशिक्षण हमें बेहतर रूप से मार्गदर्शन देगा।

 चार दिवसीय प्रशिक्षण शिविर को मास्टर ट्रेनर अनिल कुमार, रेनू चौधरी, आशा कुमारी, माया देवी, सीमा व अशरती ने बारीकी से प्ले स्कूल के बारे में जानकारी दी।   फोटो संगलन- महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी प्रशिक्षण लेने उपरांत।

महाविद्यालय की लापरवाही की वजह से छात्रों की जेब पर ₹5000 का अतिरिक्त बोझ पड़ रहा है: ABVP

faridabad-avbp-demand-cancellation-of-ne-charges

फरीदाबाद, 28 जुलाई: अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद फरीदाबाद के कार्यकर्ताओं ने पंडित जवाहर लाल नेहरू महाविद्यालय में छात्र हितों की मांग की मांग को लेकर प्राचार्य को सौंपा ज्ञापन। 

जिला मिडिया प्रभारी रवि पाण्डेय ने बताया की विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता निरंतर ही छात्र हित के मुद्दे हो या राष्ट्रहित के मुद्दे के लिए संघर्ष करते रहते हैं। अध्यक्ष कंचन डागर ने कहा एमडीयू द्वारा दस्तावेज के नाम पर महाविद्यालय में पढ़ने वाले छात्रों की जेब पर कैंची चलाए जा रही हैं। 

इसी क्रम में आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने महाविद्यालय प्राचार्य डॉ एमके गुप्ता को एमडीयू कुलपति, यूनिवर्सिटी, शिक्षा मंत्री, के नाम ज्ञापन सौंपा, महाविद्यालय में पढ़ने वाले छात्रों से दस्तावेज जमा करवाने के नाम पर छात्रों से अवैध वसूली की जा रही है। जब की फीस ₹400 प्रति वर्ष महाविद्यालय छात्रों से फीस के नाम पर लिया जाता है। 

छात्र संघ सचिव गोतम वत्स ने कहा महाविद्यालय की लापरवाही की वजह से छात्रों की जेब पर ₹5000 का अतिरिक्त बोझ पड़ रहा है। करोना काल में वैसे ही आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। विद्यार्थी परिषद मांग करती है कि जल्द से जल्द अपने इस तुगलकी फरमान को वापस लिया जाए। छात्र नेता आदित्य मौर्य ने कहा जिन विद्यार्थियों के रिजल्ट अभी जारी नहीं किए गए हैं उनके रिजल्ट तुरंत जारी किए जाएं। अन्यथा विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता आंदोलन से पीछे नहीं हटेंगे। 

इस अवसर पर गायत्री राठौर, दीपक भारद्वाज, अंशुल वशिष्ठ, सुमित, दीपक, अभिषेक, मोहित, सागर, अमन, शुभम समेत अनेक कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

सभी कोर्स सीखो और कमाओ, श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्याल में 8 अगस्त तक लीजिये एडमिशन

shri-vishwakarma-skill-university-palwal-faridabad-admission
Shri Vishwakarma Sill Unversity Palwal, admission started for 2021-22 for providing employment.

Faridabad News 22 July 2021: प्रदेश के युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के क्षेत्र में कार्यरक्त पलवल स्थित Shri Vishwakarma Sill Unversity द्वारा शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए विभिन्न स्किल कोर्सों में प्रवेश के लिए इच्छुक अभ्यर्थियों से 8 अगस्त तक आवेदन आमंत्रित किए है।

  जिला उपायुक्त यशपाल ने इस संबंध में अधिक जानकारी देते हुए बताया कि जिला के युवा जो निम्नलिखित कोर्सेज बीवॉक मैकेट्रोनिक्स, बीवॉक मैकेनिकल मैन्युफैक्चरिंग, बीवॉक प्रोडक्शन टूल एंड डाई मैन्युफैक्चरिंग, बीवॉक रोबोटिक्स एंड ऑटोमेशन, बीवॉक मैकेनिकल मैन्युफैक्चरिंग, डीवॉक इंडस्ट्रीयल इलेक्ट्रॉनिक्स, डीवॉक मैकेनिकल मैन्युफैक्चरिंग आदि के तहत सीखने के उपरांत कमाई की इच्छा रखते है। वह इन कोर्सेज में दाखिला ले सकते है। उन्होंने कहा कि उपर्युक्त सभी कोर्स सीखो और कमाओ की पद्धति पर आधारित है। इच्छुक विद्यार्थी यूनिवर्सिटी के वेबसाइट पर जाकर 8 अगस्त तक आवेदन कर सकते है।

 उपायुक्त यशपाल ने कहा कि इच्छुक विद्यार्थी अधिक जानकारी के लिए समय-समय पर Shri Vishwakarma Sill Unversity की वेबसाइट पर नजर बनाए रखे। कोर्स से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी विश्वविद्यालय की वेबसाइट svsu.ac.in पर उपलब्ध है। इसके साथ ही टोल फ्री नंबर 1800-1800-147 पर कॉल करके भी कोर्सेज तथा दाखिले से सम्बन्धित जानकारी ली जा सकती है।

वैक्सीन ना लगवाने वाले शिक्षकों को शिक्षा अधिकारी रितु चौधरी ने सुनाया ये फरमान, पढ़ें

vaccine-for-teacher-in-haryana

Faridabad News 21 July: जिला शिक्षा अधिकारी ऋतु चौधरी ने बताया कि गत 16 जुलाई से 9वीं से 12वीं के छात्रों के लिए स्कूलों के खुलने से लंबे समय बाद स्कूलों में विद्यार्थियों की चहल पहल की रौनक देखने को मिल रही है। छात्र छात्राएं बारिश के मौसम में भी स्कूल पहुंच रहे हैं।  

गत  20 जुलाई तक अवसर एप की रिपोर्ट अनुसार 94 स्कूलों के 268 अध्यापकों ने पहली डोज तथा 109 अध्यापकों ने दोनों डोज लगावायीं हैं जो की मात्र 20 प्रतिशत है। जिला शिक्षा अधिकारी ने जिला के सभी स्कूलों के शिक्षकों को निर्देश दिए हैं कि वह अपनी वैक्सीन  लगवाने की रिपोर्ट अवसर एप पर भरें।  जिन शिक्षकों को अभी वैक्सीन नहीं लगी है उनके लिए जिला शिक्षा अधिकारी ने सीएचसी/ स्कूल स्तर पर वेक्सीनेशन की व्यवस्था करने के लिए कहा गया है।

उन्होंने बताया कि गत दिवस 20 जुलाई को जिला के सभी 99 राजकीय हाई विद्यालयों के कुल 35 हजार 383 विद्यार्थियों में 50 प्रतिशत विद्यार्थी उपस्थित रहे । इसी प्रकार राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों के 17 हजार 124 छात्रों में से 14124 छात्र उपस्थित रहे  जो कि 80 प्रतिशत उपस्थिति छात्र संख्या के साथ हरियाणा में तीसरे स्थान रही।

जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि यह उपस्थित कोविड-19 कोरोना वायरस काल के चलते देखी जाए तो संतोषजनक है। उन्होंने बताया कि परंतु सभी स्कूलों को यह कहा गया है की उपस्थिति 100 प्रतिशत करने पर जोर दें।

जिला शिक्षा अधिकारी ऋतु चौधरी ने बताया कि गत 20 जुलाई को फरीदाबाद में एक छात्र का ताप बढ़ा हुआ मिला जिसे  सीएचसी रेफर करके उसकी स्वास्थ्य जाचं करवा कर घर भेज दिया गया। उन्होंने बताया कि सभी स्कूलों में छात्रों में पढ़ाई के प्रति उत्साह  दिखाई दे रहा है। जिला शिक्षा अधिकारी श्रीमती रितु चौधरी ने बताया कि वे स्वयं के निर्देशन में जिला की  सभी सीआरसी के साथ कुल आठ टीमें बनाई हुई हैं, जो नियमित रूप से अपने अपने सीआरसी के स्कूलों की मॉनिटरिंग करके जो भी कमियां होती हैं उनका निराकरण करवा रही हैं। उन्होंने बताया कि उन्हें आवश्यक सुझाव देते हुए कार्यालय को रिपोर्ट करने को कहा गया है।

इन दिशानिर्देशों के तहत खुलेंगे स्कूल, नियमों का पालन करना जरूरी

haryana-school-open

फरीदाबाद,18 जुलाई। जिला शिक्षा अधिकारी ऋतु चौधरी ने बताया कि जिला में कोविड-19 के संक्रमण की दूसरी लहर के चलते लगभग 4 महीने बाद गत शुक्रवार 16 जुलाई से स्कूल खोले गए है। उन्होंने बताया कि स्कूलो के खुलने का समय सुबह  9 बजे का है। विद्यार्थियों की हाजरी सरकार द्वारा जारी हिदायतो के अनुसार बच्चो की हाज़री का गूगल फार्म पर भर कर जिला के सभी स्कुलो के साथ  सांझा की गई।

इस कार्य में स्कूलों में लगे बीआईओ और एबीआरसी की मदद से आँकड़े  भिजवाए गए। सभी सीआरसी हैड द्वारा यह सुनिश्चित किया गया कि वे अपने अधीन आने वाले सभी सरकारी व प्राइवेट स्कूलों के छात्रों की हाजरी  की रिपोर्ट  कंपाइल कर एक्सल सीट पर  खण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय को 12.00 बजे तक भिजवाए गए तथा खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय के अधिकारियों और कर्मचारियों द्वार इसे कंपाइल करके 1.00 बजे तक जिला कर्यालय को मेल किया गया और ग्रुप में भी भेजें गए। उन्होंने बताया कि इसके स्कूलों को 4 भागों में बांटा गया है।

जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि प्रत्येक कक्षा को अलग कलर के रिबन कलर दिए गए हैं।  तापमान व हाजरी अवसर एप पर दर्ज की गई है। विद्यार्थियों व शिक्षकों से इन नियमों का पालन करवाई गई है।

उन्होंने बताया कि जो विद्यार्थी ऑनलाइन स्टडी करना चाहते हैं, उनके लिए ऑनलाइन पढ़ाई जारी रखी गई है।

 जिला शिक्षा अधिकारी ऋतु चौधरी ने बताया कि विद्यार्थियों के लिए स्कूल का समय 9 से 12 बजे तक और शिक्षकों के लिए साढ़े 8 से साढ़े 12 बजे तक का समय रखा गया है। सभी विद्यार्थियों का तापमान व हाजरी रोजाना अवसर एप पर अपलोड की गई है। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा जारी हिदायतो के अनुसार स्कूल के सभी शिक्षकों व अन्य कर्मचारियों को टीकाकरण हो चुका होना जरूरी है।  कक्षा में एक डेस्क पर एक ही विद्यार्थी को बैठाया गया।

सभी स्कूलों में किया सेफ्टी कमेटी का गठन कर दिया गया है। स्कूलों में कोविड-19 संबंधी नियमों की पालना सुनिश्चित करवाने के लिए सेफ्टी कमेटी का गठन किया गया है। जिसमें एसएमसी प्रधान, स्कूल मुखिया, पीटीआई, डीपी, दो शिक्षक, कंप्यूटर टीचर व क्लर्क शामिल हैं। स्कूल के भवन में कोविड नियमों की पालना करना और करवाना यह कमेटी सुनिश्चित की गई तथा उच्चाधिकारियों को रिपोर्ट भेजी गई है।

  खण्ड शिक्षा अधिकारी बलबीर कौर ने बताया कि करीब 4 महीने बाद गत शुक्रवार से 9वी से 12वी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए स्कूल खुलें हैं। जबकि छठी से आठवीं तक की कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए आगामी 23 जुलाई से खोले जाएंगे। उन्होंने बताया कि बच्चों को किसी प्रकार की परेशानी न आए इसके लिए सभी स्कूलों में मुखियाओं को सरकार द्वारा जारी हिदायतो के अनुसार जरूरी दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। उन्होंने बताया कि ऑनलाइन पढ़ाई भी जारी रखी गई है। उन्होंने आगे बताया कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर खत्म होने के बाद शुक्रवार से 4 महीने के बाद बच्चों के लिए स्कूल खुलें हैं। पहले चरण में 9वीं से 12वीं कक्षा के बच्चों के लिए ही स्कूल खोले गए हैं तथा रोजाना 50 फीसदी विद्यार्थियों को ही स्कूल में बुलाया गया है। जिन स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या अधिक है।उन स्कूलों ने चारों कक्षाओं को अलग-अलग कलर के रिबन देने का निर्णय लिया है तथा स्कूलों को चार भागों में बांटा गया है ताकि एक कक्षा के विद्यार्थी दूसरी कक्षा के विद्यार्थियों से ना मिल सकें। इसके अलावा स्कूल के मुख्य गेट पर थर्मल स्कैनिंग व हैंड सेनिटाइज करने के बाद ही विद्यार्थियों व शिक्षकों की एंट्री सुनिश्चित की गई । इतना ही नहीं सभी स्कूलों में आने व जाने के गेट भी अलग -अलग बनाए गए। जिन कक्षाओं में बच्चों की संख्या 20 से कम उन स्कूलों में सभी बच्चों को बुलाया गया।

 खण्ड शिक्षा अधिकारी बलबीर कौर ने बताया कि शिक्षा विभाग ने 50 फीसदी बच्चों को रोल नंबर के हिसाब से बुलाने का निर्णय लिया है। इसके तहत यदि एक कक्षा में 50 विद्यार्थी हैं तो उनमें 1 से 25 रोल नंबर के विद्यार्थी शुक्रवार को स्कूल आए है तथा 26 से 50 रोल नंबर तक के विद्यार्थी शनिवार को स्कूल में आए। इसी प्रकार एक-एक दिन का यह शेड्यूल जारी रखा जाएगा। इसके अलावा जिन स्कूलों की कक्षाओं में विद्यार्थियों की संख्या 20 से कम है। उन स्कूलों के सभी बच्चों को स्कूल में बुलाया गया है।

उन्होंने बताया कि बल्लभगढ़ खण्ड में कुल 265 स्कूल हैं। इनमें से 37 राजकीय और 112.प्राईवेट सीनियर सेकेंडरी स्कूल हैं, इसी प्रकार 13 सरकारी व 102 प्राईवेट हाई स्कूल हैं। जबकि एक नवोदय विद्यालय है।

स्कूलों की मनमानी के खिलाफ सड़क पर उतरे अभिभावक, फीस वृद्धि का किया विरोध

school-fees-hike-in-faridabad-protest-against-dav-school-sector-37
School Fees hike in Faridabad, Parents Association protest outside DAV School Sector 37 Faridabad against management.

Faridabad News 9 June 2021: कोरोना महामारी के चलते स्कूल बंद होने के बाबजूद DAV School Sector 37 Faridabad मैनेजमेंट द्वारा  अभिभावकों से बढ़ाई गई  ट्यूशन फीस, एनुअल चार्ज, एडमिशन फीस,डवलपमेंट  फंड आदि मांगने से गुस्साए अभिभावकों ने बुधवार को स्कूल गेट के सामने विरोध प्रदर्शन कर किया और स्कूल मैनेजमेंट से सिर्फ बिना बढ़ाई गई ट्यूशन फीस लेने की मांग की। 

अभिभावक विजय सिंह, दिनेश वशिष्ठ, संजय यादव,प्रवीण,स्वरूप, गौरव शर्मा, शिव, ललित, स्वराज,नागर, राजेश कुमार का कहना है कि एक तरह जहां कोरोना महामारी के चलते काम धंधे बंद होने के कारण अभिभावकों की आर्थिक स्थिति काफी खराब हो गई है ऐसे में यह स्कूल फीस के मामले में मनमानी कर रहा है। 

स्कूल प्रबंधक अभिभावकों को नोटिस भेजकर व अपने अध्यापकों से मैसेज करा कर बढ़ाई गई ट्यूशन फीस,एनुअल चार्ज, एडमिशन फीस व अन्य फंडों में फीस जमा कराने का दबाव डाल रहा है।फीस जमा न कराने पर बच्चों की ऑनलाइन क्लास बंद करने व स्कूल से नाम काटने की धमकी दे रहा है। 

अभिभावकों का कहना है कि घरों में कैई सदस्य कोरोना संक्रमित होने के कारण बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई भी ठीक प्रकार से नहीं चल रही है। केंद्र और राज्य सरकार 10वीं व 12वीं की परीक्षा रद्द कर स्टूडेंट्स को कोविड से बचाने का प्रयास कर रही है वहीं ऐसे समय में स्कूल एस्ट्रा चार्ज के नाम पर अभिभावकों और स्टूडेंट्स के साथ नाइंसाफी कर रहा है। 

अभिभावक दिनेश  वशिष्ठ ने कहा है कि स्कूल बंद हैं, स्कूल के खर्चे भी कम हैं उसके बावजूद स्कूल एनुअल चार्ज, डेवलपमेंट फंड्स आदि अन्य फंडों में नाजायज फीस मांग रहा है कोरोना की इस दूसरी लहर में भी अभिभावकों के काम धंधे बंद होने के कारण घर के खर्चे भी ठीक से नहीं चल रहे हैं उसके बावजूद पेरेंट्स बिना बढ़ाएगी ट्यूशन फीस मासिक आधार पर देने को तैयार हैं लेकिन स्कूल इसको लेने को तैयार नहीं है वह इसके साथ साथ अन्य फंडों में भी फीस मांग रहा है। जो पूरी तरह से गैरकानूनी है और न्याय संगत नहीं है। 

स्कूल की मनमानी फीस को लेकर अभिभावक आज DAV School Sector 37 Faridabad के प्रिंसिपल से मिलने के लिए आए थे लेकिन उन्होंने मिलने से इंकार कर दिया जिसके कारण मजबूरन अभिभावकों को स्कूल के गेट पर विरोध प्रदर्शन करना पड़ा। बाद में अभिभावक गेट पर अपना ज्ञापन व मांग पत्र गेटमैन को देकर स्कूल  के नजदीक रहने वाले पूर्व विधायक व अभिभावक एकता मंच के संस्थापक टेकचंद शर्मा से मिले और उनसे मदद की गुहार लगाई। 

अभिभावकों ने मंच के प्रदेश महासचिव कैलाश शर्मा से भी संपर्क किया। कैलाश शर्मा ने अभिभावकों से कहा है कि वे एकजुट और जागरूक होकर स्कूल की प्रत्येक मनमानी का पुरजोर तरीके से विरोध करें और बिना बढ़ाई गई ट्यूशन फीस ही मासिक आधार पर जमा कराएं। पेरेंट्स शुक्रवार को एक बड़ी बैठक आयोजित करके आगे की रणनीति बनाएंगे।


क्या करें लोग, अधिकतर जमा-पूँजी निजी अस्पतालों ने ले ली, प्राइवेट स्कूल भी वसूलने को तैयार

private-hospital-looted-people-now-school-want-to-loot

फरीदाबाद, 15 मई: जनता का बहुत बुरा समय चल रहा है, यह बुरा समय पिछले साल लॉकडाउन के शुरुआत से ही चल रहा था, लोग पिछले साल की ट्रेजेडी से संभल भी नहीं  पाये थे कि इस साल फिर से लॉकडाउन लग गया और महामारी ने ऐसा कहर ढाया कि अधिकतर लोगों ने अपने प्रियजनों की जान बचाने के लिए अपनी अधिकतर जमा पूजी निजी अस्पतालों को सौंप दी.

हालत इतने बुरे हो गए थी कि कई बड़े अस्पताल 10-20 दिन के इलाज में 10-20 लाख रुपये ले रहे हैं, मीडियम अस्पताल भी रोजाना 40-50 हजार रुपये ले रहे हैं हालाँकि अब कई अस्पतालों ने सरकारी रेट के अनुसार बिल बनाना शुरू कर दिया है.

समस्या ये है कि डर दहशत और पैनिक की वजह से अधिकतर लोगों ने अपनी जमा पूँजी खर्च कर दी, अब प्राइवेट स्कूल भी मुंह खोल कर बैठे हैं और बची हुई जमा पूँजी पर उनकी भी नजर गड़ी हुई है, अधिकतर घरों के बच्चे निजी स्कूलों में पढ़ते हैं. दाखिले का समय है ऐसे में स्कूलों ने अभिभावकों से मैसेज भेजकर पैसे मांगने शुरू कर दिए हैं.

अभिभावकों की परेशानी ये है कि निजी स्कूलों का मुंह कैसे भरेंगे। उन्हें देने के लिए पैसे कहाँ से लाएंगे। कई स्कूल वाले तो खुलेआम धमकी दे रहे हैं कि पैसे दे दो वरना आपने बच्चा आगे नहीं जा पाएगा। लोग बहुत मजबूर और परेशान हैं.

अब देखते हैं कि जनता की परेशानी का कोई हल निकलता है या उन्हें उनके हाल पर छोड़ दिया जाएगा। सरकार से लोगों की उम्मीद है कि समस्या का समाधान जरूर निकाला जाएगा।

हरियाणा बाल कल्याण परिषद 17 मई से 4 जून के बीच आयोजित करेगी 'ऑनलाइन ग्रीष्मकालीन शिविर 2021'

haryana-bal-kalyan-parishad-update-for-studenst-haryana
 

फरीदाबाद, 6 मई: जिला बाल कल्याण परिषद फरीदाबाद के अध्यक्ष एवं उपायुक्त यशपाल ने बताया कि ज़िला बाल कल्याण परिषद बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए विभिन्न गतिविधियों का आयोजन करती रहती है। इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद चंडीगढ़ ऑनलाइन प्लेटफॉर्म ग्रीष्मकालीन शिविर 2021 के माध्यम से प्रदेशभर के बच्चों के सपनों को पंख लगाएगी।         

इस संबंध में हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद के मानद महासचिव प्रवीण अत्री ने घोषणा करते हुए कहा कि संकट की स्थिति में बच्चों के कल्याण के लिए परिषद पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य करेगी। उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी के संकटकालीन दौर के दौरान जब हर कोई अपने घरों में रहने को मजबूर है और बच्चे घरों में अकेलापन महसूस कर रहे हैं। ऐसे में हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद बाल कल्याण के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हुए बच्चों को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से बड़ा मंच प्रदान करने जा रही है।  

उन्होंने कहा कि कोविड-19 संकट के दौरान परिषद 17 मई से 4 जून के बीच "ऑनलाइन ग्रीष्मकालीन शिविर 2021" का आयोजन करने जा रही है। जिसके माध्यम से विभिन्न विषयों के विशेषज्ञ बच्चों को ऑनलाइन प्रशिक्षण देंगे और सप्ताहांत में उन्हीं विषयों को लेकर बच्चों की विभिन्न प्रतियोगिताएं करवाई जाएंगी। ऑनलाइन प्लेटफॉर्म की उपलब्धता से बच्चे विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से घर बैठे अपने प्रतिभा का प्रदर्शन कर सकेंगे। 

उन्होंने कहा कि "ऑनलाइन ग्रीष्मकालीन शिविर 2021" में विशेषज्ञ बच्चों को कोविड-19 में सकारात्मक विचारों की जागरूकता, कोविड-19 वैक्सीन लगवाने की जागरूकता, कोरोना वॉरियर्स का सम्मान बढ़ाने वाले जागरूकता समेत अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर प्रशिक्षित करेंगे और प्रशिक्षण उपरांत बच्चे विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग ले सकेंगे। इन प्रतियोगिताओं में पेंटिंग, स्केचिंग, एकल लोकगीत,  एकल लोक नृत्य, एकल देशभक्ति गीत ब्लॉग व अन्य गतिविधियों के माध्यम से बच्चे ऑनलाइन अपनी प्रस्तुतियां परिषद द्वारा जारी पोर्टल लिंक summervacationcamp.in पर अपलोड की जा सकेंगी। जोकि परिषद की वेबसाइट www.childwelfareharyana.com पर उपलब्ध रहेगा। 

उन्होंने कहा कि इस दौरान बच्चों को विभिन्न प्रतियोगिताओं के साथ साथ शारीरिक रूप से मजबूती के लिए ऑनलाइन माध्यम के द्वारा ही सूर्य नमस्कार का भी प्रशिक्षण दिया जाएगा और प्रतियोगिता भी करवाई जाएगी। मानद महासचिव प्रवीण अत्री ने सभी मंडल बाल कल्याण अधिकारियों और जिला बाल कल्याण अधिकारियों की ऑनलाइन मीटिंग में सभी अधिकारियों से सुझाव लिए और सभी अधिकारियों को आवश्यक निर्देश निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बच्चे कोविड-19 के कारण पिछले लंबे समय से घर बैठने को मजबूर हैं इसीलिए ऑनलाइन प्रतियोगिताओं के माध्यम से बच्चे अपनी प्रतिभा को निखार सकेंगे और उन्हें परिषद ऑनलाइन माध्यम से बच्चों के सपनों को उड़ान देने के लिए बड़ा मंच प्रदान कर रही है। 

उन्होंने कहा कि परिषद संकट की इस स्थिति के दौरान स्लम बस्तियों में सेफ्टी किट वितरित करेगी और लोगों को कोरोना महामारी से बचाव के लिए जागरूक करेगी। उन्होंने कहा कि परिषद का उद्देश्य बाल कल्याण के कार्य व गतिविधियों को प्रदेश के हर उस बच्चे तक पहुंचाना है, जिसमें प्रतिभा है लेकिन वह संसाधनों के अभाव में अपनी प्रतिभा नहीं दिखा पाता। उन्होंने सभी से अपील करते हुए कहा कि सभी सरकार और स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइन का पालन करें और जहां तक संभव हो अपने घरों में रहे। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी से अपना व अपने आसपास के लोगों का बचाव कर हम देश के जिम्मेदार नागरिक होने का कर्तव्य निभा सकते हैं।

Faridabad: बालिका सम्मान समारोह में 20 स्कूलों के बच्चों को उपलब्धियों के लिए किया सम्मानित

faridabad-sarkar-schook-girls-student-awarded-news

फरीदाबाद, 24 मार्च। राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय नंबर 5 में बुधवार को बालिका सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में जिला के 20 अलग-अलग स्कूलों से कला, संगीत, खेल व शैक्षणिक गतिविधियों में बेहतरीन कार्य करने वाली बालिकाओं को सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में संबोधित करते हुए जिला शिक्षा अधिकारी ऋतु चौधरी ने कहा कि बेटियां आज बेटों से किसी भी क्षेत्र में कम नहीं हैं। आज हमारी बेटियों पर हमें गर्व हैं और वह लगातार सफलता के नए आयाम स्थापित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बेटियों का मनोबल बढ़ाने के लिए इस तरह के सम्मान समारोह काफी आवश्यक हैं। 

उन्होंने यहां मौजूद बेटियों से आवाहन किया कि वह इस सम्मान के प्राप्त होने के पश्चात और अधिक मेहनत कर सफलता की बुलंदियों को छुएं। कार्यक्रम की शुरुआत जिला शिक्षा अधिकारी व अन्य अधिकारियों द्वारा दीप प्रज्वलित कर के की गयी। इसके पश्चात छात्राओं ने सरस्वती वंदना और योगासन की प्रस्तुति ने सब का मन मोह लिया। ब्रज नट मंडली द्वारा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ विषय पर नृत्य व नुकड नाटक प्रस्तुत किया गया। 

फऱीदाबाद के 20 स्कूलों से आए बच्चों को उनके कला, संगीत, खेल, शैक्षणिक उपलब्धियों के आधार पर चयनित करके उनको मेडल व 500 रुपये नगद इनाम दे कर सम्मानित किया गया। साथ ही प्रत्येक स्कूल को 2000 रुपये का चैक कार्यक्रम संचालन के लिए दिया गया। 

इस अवसर पर सीएमजीजीए रूपाला सक्सेना महिला और बाल विकास विभाग की कार्यक्रम अधिकारी अनिता शर्मा, जिला समन्वयक पोषण अभियान गीतिका बवेजा, अनीता गाबा, विद्यालय के प्रधानाचार्य करन पाल भी मौजूद थे।