Followers

Showing posts with label Lawyers. Show all posts

फरीदाबाद में लगेगी 'राष्ट्रीय लोक अदालत', 13 जजों की बेंच करेगी केसों का निपटारा

national-lok-adalat-in-faridabad

फरीदाबाद, 13 मई। जिला विधिक सेवा विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव कुणाल गर्ग ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत के लिए 13 जजों की बेंच न्यायिक परिसर में बनाई गई है। जिनमें लोगों की आपसी सहमति से केसो का निपटारा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि आजादी अमृत महोत्सव की श्रृंखला में राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण एवं हरियाणा राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से 14 मई शनिवार को प्रात: 10 बजे स्थानीय  न्यायिक परिसर में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा। इस लोक अदालत में लंबित मुकदमों के शीघ्र निस्तारण व आपसी सुलह समझौते के लिए स्वयं या अपने अधिवक्ता के माध्यम से अपने केसों का निस्तारण करा सकते हैं।

डालसा सचिव एवं सीजेएम कुनाल गर्ग ने यह जानकारी देते हुए बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में केसों की सुनवाई करने के लिए 13 बैंच न्यायिक परिसर स्थापित किए गए हैं। जहां केसों की सुनवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि इन 13 बैंचो पर न्यायधीश व लीगल सेवा प्राधिकरण द्वारा बनाई की टीमें आमजन के कसों की सुनवाई करेंगी।

इनमें ट्रिब्यूनल राजेश कुमार की अदालत में मोटर दुर्घटना के केसों, अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश पंकज की अदालत में भी मोटर दुर्घटना के केसों, अतिरिक्त प्रधान जज संजय कुमार शर्मा की अदालत में फैमिली कोर्ट के केसों, अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश डॉ आशु संजीव की अदालत में लेबर के केसों का निपटान आपसी सहमति से करवाया जाएगा।  एडी सीजीएम हरीश गोयल की अदालत में एमसीएफ, सिविल और क्रिमिनल केस, जुडिशल मैजिस्ट्रेट संजय तुरकिया, जुडिशल मैजिस्ट्रेट देवेंद्र सिंह, जुडिशल मैजिस्ट्रेट कुमारी रूपम, जुडिशल मैजिस्ट्रेट तरुण चौधरी, जुडिशल मैजिस्ट्रेट अमित नेन, जुडिशल मैजिस्ट्रेट कुमारी चावी गोयल की अदालत में ट्रैफिक चालान के केसों का निपटान आपसी समझौते से किया जाएगा। इसी प्रकार जुटी जुडिशल मैजिस्ट्रेट विशेष गर्ग की अदालत में एन आई एक्ट के केसों और पीएम जेजेबी महेंद्र सिंह की अदालत में सभी केसों का निपटारा लोगों की आपसी सहमति से किया जाएगा।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव कुनाल गर्ग ने  जानकारी देते हुए आगे  बताया कि हरियाणा राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण पंचकूला के निर्देशानुसार व जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण वाईएस राठौड़ की अध्यक्षता में 14 मई  को राष्ट्रीय लोक अदालत में मोटर दुर्घटना मुआवजा, चैक बाऊस, दीवानी मामले, बिजली के मामले व अन्य मामलो का मोके पर ही निपटारा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि लोक अदालत के माध्यम से विचाराधीन विवादों का निपटारा जल्द कराया जा सकता है। लोक अदालत के माध्यम से सुलझाए गए मामलों में आगे कोई अपील/पुनरीक्षण दायर नहीं की जा सकती।

राष्ट्रीय लोक अदालत में केसों का निपटान आपसी सहमति से करवाया जाता है। जिससे  समय व धन की बचत होती है। गर्ग ने बताया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण फरीदाबाद ने एक हेल्पलाइन नम्बर चलाया हुआ है। जिस पर आमजन किसी भी प्रकार की कानूनी जानकारी प्राप्त कर सकते है। इसके अलावा न्यायालय परिसर में स्थित जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यलय में मिल सकते हैं। 

9वीं बार वकीलों को मुफ्त क़ानूनी किताबें बाँटेंगे बार एसोसिएशन के पूर्व प्रधान एल. एन. पाराशर

advocate-ln-parashar-distribute-free-legal-books-to-lawyers

बार एसोसिएशन के पूर्व प्रधान एवं न्याय सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एडवोकेट एल एन पाराशर 4 अप्रैल को नौवीं बार फरीदाबाद कोर्ट परिसर में युवा वकीलों को मुफ्त कानूनी किताबें बांटेंगे। एडवोकेट पराशर ने बताया कि 'वह इस बार भी कानूनी किताबें युवा वकीलों को मुफ्त बाटेंगे जो 500 सेट बांटे जाएंगे, जरूरत पड़ने पर सेट की संख्या बढ़ाई भी जा सकती है, उन्होंने कहा, कोई भी युवा वकील किताबों से वंचित ना रह पाएगा।

किताबों का सेट इस प्रकार होगा, इसमें लगभग 6 किताबें होंगी जिसमें अपराध कानून संहिता, द्विभाषी संस्करण, राज्य संशोधन सहित, दंड प्रक्रिया संहिता 1973, भारतीय दंड संहिता 1807, भारतीय साक्ष्य अधिनियम 1872 नया संस्करण 2022 का एवं एनडीपीएस एक्ट, आईटी एक्ट, लिमिटेशन एक्ट एवं ट्रांसफर एवं प्रॉपर्टी एक्ट, यह किताबें युवा वकीलों को दी जायेंगी।

उन्होंने यह भी कहा कि वह यह किताबें लगातार तीन साल में पहले भी 8 बार दें चुके है अब इस बार पिछले समय जो दुर्लभ किताबें युवा वकीलों को नहीं मिल पाई थी वह इस बार दी जाएंगे, उन्होंने यह भी कहा कि 'वह यह किताबें इसलिए बांटते हैं ताकि युवा वकील निर्भय होकर पूरी तैयारी के साथ कोर्ट में अपना पक्ष रख सकें।

वरिष्ठ अधिवक्ता एल. एन पाराशर ने बताया कि जब उन्होंने वकालत शुरु की थी तो उनके साथ प्रैक्टिस कर रहे कुछ युवा वकीलों को इस तरह की समस्याएं आई थीं,  जिसको लेकर के अब वह चाहते हैं कि युवा वकीलों को किसी भी किसी प्रकार से किताबों के लिए परेशान ना होना पड़े। इसलिए समय-समय पर वह इन्हें बांटते रहते हैं, उन्होंने कहा कि उनके सभी सहयोगी जिनमें प्रमुख रूप से संजीव तंवर, एडवोकेट हितेश पराशर नवीन भाटी , अनिल अधाना ,विक्की ,संजीव अभिनीत अधाना एवं कुलदीप नागर, सुमित् , सोमदत्त शर्मा, नवाब सिंह मान मुख्य रुप से हमेशा मौजूद रहते हैं।

'राष्ट्रीय लोक अदालत' के लिए फरीदाबाद में बनाई गई जजों की 14 बैंच: सीजेएम मंगलेश कुमार चौबे

फरीदाबाद, 07 दिसम्बर। जिला एवं सत्र न्यायाधीश कम् चेयरमैन जिला विधिक सेवा प्राधिकरण यशवीर सिंह राठौर के दिशा निर्देशानुसार 11 दिसंबर को जिला न्यायालय सेक्टर 12 फरीदाबाद में नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा। जिसके लिए 14 जजों बेंच बनाए गए हैं। यह जानकारी मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मंगलेश कुमार चौबे ने दी।

उन्होंने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि जजों की 14 बैंचों में राजेश शर्मा  अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश, नरेंद्र सुरा क्षेत्र न्यायाधीश, कुमुद गूगनानी प्रिंसिपल जज फैमिली कोर्ट, राजेश कुमार ऑफिसर लेबर कोर्ट इंडस्ट्रियल ट्रिब्यूनल, संदीप चौहान मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी, गगनदीप गोयल जुडिशल मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी, अनुराधा जुडिशल मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी, रूपम जुडिशल मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी, आकृति वर्मा जुडिशल मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी, गौरव खटाना जुडिशल मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी, अस्मिता देशवाल जुडिशल मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी, रिशु जुडिशल मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी, डॉ प्रियंका जैन जुडिशल मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी, विद्या प्रकाश पाठक चेयरमैन परमानेंट लोक अदालत की होंगी।

मुख्य न्याय दंडाधिकारी एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने आमजन से अपील की है कि वे अपने विवादों को ज्यादा से ज्यादा राष्ट्रीय लोक अदालत में रखें। यदि किसी व्यक्ति को इससे संबंधित किसी भी प्रकार की कोई सहायता की जरूरत है तो वह जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के ऑफिस से सहायता ले सकता है।

उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में फैसला होने पर पैसे व समय की बचत होती है आपस में भाईचारा बना रहता है तथा विवाद का हमेशा हमेशा के लिए निपटारा हो जाता है। जिसकी  सुप्रीम कोर्ट तक कोई अपील नहीं होती।

फरीदाबाद में अगले महीनें होगा 'राष्ट्रीय लोक अदालत' का आयोजन, CJM मंगलेश चौबे ने दी जानकारी


फरीदाबाद, 17 नवंबर। सीजेएम कम जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव मंगलेश कुमार चौबे ने बताया कि स्थानीय न्यायिक परिसर में आगामी 11 दिसंबर को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में लोगों की आपसी सहमति से केसों का निपटारा किया जाता है। इससे समय और धन दोनों की बचत होती है।

उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालतों के आयोजन से लोगों में आपस में भाईचारा भी बढता है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन हरियाणा राज्य सेवा प्राधिकरण द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार सभी जिला के न्यायिक परिसर में किया जाता है। जिला न्यायालय परिसर में भी आगामी 11 दिसंबर को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा और इस राष्ट्रीय लोक अदालत में लोगों की आपसी सहमति से केसों का निपटारा किया जाएगा।

फरीदाबाद: न्यायाधीश मंगलेश कुमार चौबे ने मेगा क़ानूनी जागरूकता शिविर में की शिरकत


फरीदाबाद, 13 नवंबर: जिला एवं सत्र न्यायाधीश कम चेयरमैन जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के चेयरमैन न्यायाधीश वाईएस राठौर के दिशा-निर्देश अनुसार स्वतंत्रता के 75वें वर्ष के उपलक्ष्य में आजादी का अमृत महोत्सव मनाते हुए आज शनिवार 13 नवंबर को स्थानीय सेक्टर- 16 ए स्थित सेंट पीटर्स स्कूल में मेगा जागरूकता कैंप का आयोजन किया गया।

सीजेएम एवं सचिव डालसा कम मेगा जागरूकता शिविर के नोडल अधिकारी न्यायाधीश मंगलेश कुमार चौबे के मार्गदर्शन में यह मेगा जागरूकता कैंप आयोजित किया गया। इसमें हिंदुस्तान स्काउट्स एंड गाइड के स्टेट  सचिव नवीन जयहिंद व जिला सचिव अजय शर्मा, हिंदुस्तान स्काउट्स एंड गाइड्स के सौजन्य से सेंट पीटर्स स्कूल सेक्टर 16 ए में आयोजित किया गया।

मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी व सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मंगलेश कुमार चौबे ने डालसा द्वारा चलाई जा रही विभिन्न स्कीमों के बारे में उपस्थित लोगों के बच्चों को अवगत करवाया। न्यायाधीश मंगलेश कुमार चौबे मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी व नवीन जयहिंद ने निबंध प्रतियोगिता, ड्राइंग कंपटीशन के सफल विजेताओं को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। साथ ही साथ पैनल एडवोकेट को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

न्यायाधीश मंगलेश कुमार चौबे ने हिंदुस्तान स्काउट्स एंड गाइड्स के उत्साह और कार्य को देखते हुए उनका सम्मान बढ़ाया और  उन्हें प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। हिंदुस्तान स्काउट्स एंड गाइड्स के सचिव ने वादा किया कि हम जिला विधिक सेवा प्राधिकरण फरीदाबाद के साथ हमेशा कंधे से कंधा मिलाकर काम करने के लिए तत्पर रहेंगे। विधायक नरेंद्र गुप्ता ने इस सफल आयोजन में स्कूल प्रशासन व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण फरीदाबाद की प्रशंसा की।

स्कूल की प्रिंसिपल सिस्टर निर्मल मेरी व मैनेजर सिस्टर डेजी रोज के मार्गदर्शन में स्कूल के बच्चों ने बैंड बाजे के साथ मुख्य अतिथि न्यायाधीश मंगलेश कुमार चौबे सीजेएम का स्वागत किया।

स्कूल की प्रिंसिपल सिस्टर निर्मल मेरी ने आए हुए सभी अतिथियों का धन्यवाद करते हुए कहा कि आज स्कूल प्रशासन अतिथियों का सम्मान सत्कार करके अपने आप को बहुत गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। नुक्कड़ नाटक व हरियाणवी नृत्य के माध्यम से उपस्थित अतिथियों का मनोरंजन किया। नुक्कड़ नाटक के माध्यम से कन्या भ्रूण हत्या व कोरोना के बचाव का सफल संदेश भी दिया।

इसी मौके पर कल बाल दिवस होने के कारण आज ही स्कूली बच्चों द्वारा बाल दिवस भी मनाया गया। जिसमें पैनल एडवोकेट नीना शर्मा, आरसी गोला, जीत कुमार रावत ,वाई डी शर्मा,सुनील दत्त, लाल सिंह परसवाल, दीपशिखा भारद्वाज ,ज्योति बत्रा, उमा चौहान ,संगीता भाटी ने उपस्थित रहकर बच्चों को उनके कानूनी अधिकारों के बारे में अवगत करवाया।

DLSA ने लगाया क़ानूनी जागरूकता कैम्प, CJM मंगलेश चौबे ने दी कानूनी पहलुओं बारे में जानकारी


फरीदाबाद, 11 नवम्बर: जिला एवं सत्र न्यायाधीश कम् जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के चेयरमैन वाईएस राठौर के दिशा-निर्देश अनुसार आज वीरवार को स्थानीय सेक्टर-15 के पुराने एडीसी कार्यालय में मेगा जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। सीजेएम कम् मेगा जागरूकता शिविर के नोडल अधिकारी एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव मंगलेश कुमार चौबे के मार्गदर्शन में यह है मेगा जागरूकता कैंप आयोजित किया गया। इसमें सीडब्ल्यूसी के चैयरमैन श्रीपाल, चाइल्ड प्रोटेक्शन की जिला समन्वयक सुनीता बैंसला, जिला समाज कल्याण अधिकारी सुशीला देवी, एलडीएम सुजान सिंह, पैनल अधिवक्ता रविन्द्र गुप्ता, पैनल अधिवक्ता ओपी सैणी, शिवकुमार, संगीता शर्मा, रविन्द्र गौतम, रामबीर तंवर, अनिल गुप्ता, गगन कुमार एवं अन्य लोगों ने अपना अपना योगदान दिया।

इस जागरूकता कैंप में जिला महिला एवं बाल विकास विभाग, जिला अग्रणी बैंक, केनरा बैंक, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, स्वास्थ्य विभाग, एडीसी कार्यालय, समाज कल्याण, जिला बाल सुरक्षा इकाई, हेफड, आयुष विभाग, अन्तोदय भवन, सरल केंद्र तथा महिला पुलिस सैल सहित अनेक विभागों ने अलग-अलग स्टालें लगा कर उन विभागों द्वारा जन कल्याणकारी योजनाओं बारे साहित कानूनी पहलुओं बारे भी विद्यार्थियों व आमजन को जागरूक किया गया।

सीजीएम मंगलेश कुमार चौबे ने बताया कि यह जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा दूसरा मेगा कानूनी जागरूकता कैंप लगाया गया है। डालसा का यह कानूनी जागरूकता कैम्प आमजन को जागरूक करने में मील का पत्थर साबित होगा।

मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मंगलेश कुमार चौबे ने बताया कि सरकार द्वारा देश के 75 वे स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में "आजादी का अमृत महोत्सव" नेशनल लीगल सर्विस अथॉरिटी नई दिल्ली के आदेश अनुसार पूरे भारतवर्ष में 2 अक्टूबर 2021 से 14 नवंबर 2021 तक मनाया जा रहा है। इसी कड़ी में यह मेगा कानूनी जागरूकता कैम्प आयोजित किया गया है।

मंगलेश कुमार चौबे ने बताया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण फरीदाबाद का मकसद सभी लोगों को कानूनी तौर पर जागरूक कर समाज की मुख्यधारा में जोड़ने का है। डालसा द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के तहत लगभग दो लाख लोगों को कानूनी अधिकारों और कर्तव्यों के बारे जागरूक किया जा चुका है।

उन्होंने कहा कि यह जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा आयोजित यह मेघा जागरूकता कैंप आमजन को विभिन्न सरकारी विभागों से मिलने वाली जन कल्याणकारी योजनाओं के सही क्रियान्वयन बारे कानूनी पहलुओं पर विस्तार पूर्वक जानकारी देने के लिए आयोजित किया गया है। विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गई स्थानों पर लोगों को उनके विभाग द्वारा चलाई गई विभिन्न जान कल जनकल्याणकारी योजनाओं के कानूनी पहलुओं बारे भी वहां जानकारियां दी गई।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पैनल अधिवक्ताओं तथा पूरी टीम के बेहतर तालमेल के साथ विभिन्न विभागों के अधिकारी व कर्मचारियों द्वारा आयोजित यह मेघा जागरूकता कैंप आमजन को जागरूक करने में कारगर सिद्ध होगा। लोगों को कानूनी पहलुओं बारे विस्तार पूर्वक यह जानकारी दी गई है कि किस प्रकार जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा लोगों को निशुल्क में कानूनी सहायता तथा गरीब परिवारों को स्वयं का न्यायालय में केस लड़ने के लिए केस की पैरवी के लिए मुफ्त में अधिवक्ता मुहैया करवाया जाता है। इसके अलावा अलावा विभिन्न विभागों द्वारा जारी की गई  जन कल्याणकारी योजना और परियोजनाओं के सही क्रियान्वयन तथा अन्य कानूनी पहलुओं बारे भी पैनल अधिवक्ताओं द्वारा जानकारी दी गई।

एलडीएम सुजान सिंह ने बताया कि केनरा बैंक,जिला अग्रणी बैंक कार्यालय, फरीदाबाद ने जिला एवं सत्र न्यायाधीश वाई.एस. राठौर एवं मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी मंगलेश कुमार चौबे एवं उनकी समस्त जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, फरीदाबाद की टीम के तत्वावधान में आज यह जागरूकता स्टाल लगाई गई है। केनरा बैंक ने स्वतंत्रता के 75 वर्ष के उपलक्ष्य में आयोजित मेगा कैंप "आजादी का अमृत महोत्सव" में पूरे जोश और उत्साह के साथ भाग लिया।

लीड बैंक क्षेत्रीय कार्यालय केनरा बैंक, फरीदाबाद, रिटेल एसेट हब फरीदाबाद, आरएसईटीआई और एफएलसी फरीदाबाद के स्टाफ सदस्यों ने केनरा बैंक की विभिन्न योजनाओं के बारे में आगंतुकों को समझाया और केनरा बैंक के साथ विभिन्न ऋण सुविधाओं के बारे में जागरूकता पैदा की।

केनरा बैंक ने अर्थव्यवस्था के तीन अलग-अलग क्षेत्रों के तहत 108 लाभार्थियों को 8.75 करोड़ रुपये की मंजूरी प्रदान की गई। कृषि, एमएसएमई और खुदरा आवास के विभिन्न खंड (प्रधान मंत्री आवास योजना के तहत और भारत सरकार की प्रमुख योजना 2022 तक सभी के लिए आवास)।  भारत सरकार के आत्मानिर्भर भारत मिशन की शिक्षा ऋण योजनाएँ और PMSvanidhi (प्रधान मंत्री स्ट्रीट वेंडर आत्मानिर्भर निधि) योजना है।

उन्होंने पीएमएस निधि की विभिन्न योजनाओं, 2022 तक सभी के लिए आवास, शिक्षा ऋण योजनाओं और एमएसएमई योजनाओं के विभिन्न बैनर, पैम्फलेट प्रदर्शित किए।  तीन साल के भीतर किसानों की आय दोगुनी करने के लिए कृषि योजनाएं शामिल रही।

जिला समाज कल्याण अधिकारी सुशीला देवी ने बताया कि सरकार द्वारा दिव्यांग जन,विधवा, वृद्धावस्था पैंशन  सहित अन्य 572 सुविधाओं के लिए आनँ लाइन सेवाएं शुरू की गई है। लोगों को अब सरकारी कार्यालयों के चक्कर नहीं काटने पड़ रहे हैं। घर बैठे आनँ लाइन अप्लाई कर सकते हैं।

सोमवार को 8वीं बार फरीदाबाद की अदालत में निःशुल्क कानूनी पुस्तकें बांटेंगे एडवोकेट एलएन पाराशर


फरीदाबाद, 7 नवंबर: शहर की अदालत में 3000 से ज्यादा वकील है जिनमे दो हजार से ज्यादा युवा वकील हैं और मैं अधिकतर युवा वकीलों मदद करने का प्रयास करता हूँ। ये कहना है बार एसोशिएशन के पूर्व प्रधान एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एडवोकेट एल एन पाराशर का जो सोमवार दोपहर अपने चैंबर में आठवीं बार कानूनी पुस्तकों का वितरण करेंगे।

चार तरह की किताबें निःशुल्क बांटी जाएंगी।

एडवोकेट पाराशर ने बताया कि इस बार एक दो नहीं चार तरह की पुस्तकें वितरित की जाएंगी। उन्होंने बताया कि पहली किताब क्रिमिनल मैनुअल मेजर एक्ट की होंगे जो अभी नई आई है और दूसरी किताब सुप्रीम लीगल रिफ्रेंस 2022 और तीसरी सुप्रीम कोर्ट डाइजेस्ट आन इंडियन पैनल कोड और साथ में 2022 की एक डायरी वितरित की जाएगी। 

युवा वकीलों के लिए रामबाण साबित होंगी ये किताबें।

उन्होंने सभी वकीलों से अपील की है कि दोपहर एक बजे उनके चैंबर 382 में पहुंचकर ये किताबें निःशुल्क ले जाएँ। उन्होंने कहा कि महामारी के कारण वो कुछ समय तक वकीलों की मदद नहीं कर सके लेकिन अब वकीलों की हर तरह के मदद करते रहेंगे। उन्होंने बताया कि ये किताबें युवा वकीलों के लिए रामबाण साबित होंगी और क्रिमिनल केस लड़ने में उनकी मदद करेंगी। वो बोल्ड होकर अपना पक्ष रख सकेंगे। उन्होंने कहा कि जानकारी के अभाव में अधिकतर युवा वकील बड़े केस नहीं लड़ पाते। ये किताबें उनके इस कमी को पूरा करेंगी। 

फरीदाबाद में सैकड़ों वकीलों के पास नहीं है चेंबर।

एडवोकेट पाराशर ने कहा कि फरीदाबाद की अदालत में अब भी सैकड़ों वकीलों के पास चैंबर नहीं है। वो इधर उधर भटकते रहते हैं। इसके लिए उन्होंने सीएम मनोहर लाल और जिला अधिकारी जितेंद्र यादव को पत्र लिखा है और मांग की है कि अदालत परिसर में खाली जगह उपलब्ध है और यहां वकीलों को बैठने के लिए सीट का निर्माण करवाया जाए।


सबको मिले न्याय व सम्मान, यही है 'जिला विधिक सेवा प्राधिकरण फरीदाबाद का अभियान': CJM मंगलेश चौबे

फरीदाबाद, 30 अक्टूबर: जिला विधिक सेवा प्राधिकरण फरीदाबाद के चेयरमैन एवं जिला व सत्र न्यायाधीश यशवीर सिंह राठौर के आदेशानुसार और मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मंगलेश कुमार चौबे की देखरेख में गत सायं एक कार्यक्रम बीएस अनंगपुरिया लॉ कॉलेज में ओरियंटेशन प्रोग्राम वड्रंकन ड्राइविंग को लेकर आयोजित किया गया।

जिसमें सीजेएम मंगलेश कुमार चौबे मुख्य  मुख्य अतिथि रहे तथा श्रीमती अस्मिता देशवाल ज्यूडिशल मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी भी साथ रही। इस कार्यक्रम में ज्यूडिशल मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी श्रीमती अस्मिता देशवाल ने विद्यार्थियों को ड्रंकन ड्राइविंग के बारे में अवगत करवाया। उसके बारे में कानूनों की पूरी जानकारी दी गई और अपील भी की कि वे कभी भी ड्रंकन ड्राइविंग नहीं करनी चाहिए। इस अवसर पर मुख्य अतिथि मंगलेश कुमार चौबे ने जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के बारे विस्तार पूर्वक अवगत कराया।

उन्होंने बताया कि किस प्रकार एक व्यक्ति जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से सहायता प्राप्त कर सकता है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण का मुख्य उद्देश्य गरीब लोगों की तथा सताए हुए लोगों की मदद करना और उन्हें कानून के बारे में जागरूकता करना है। इसके अलावा उन्होंने बताया कि गत 2 अक्टूबर से लेकर आगामी 14 नवंबर तक स्वतंत्रता के 75वें दिवस के उपलक्ष्य में आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। यह कार्यक्रम भी आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत किया गया है। सीजेएम मंगलेश कुमार चौबे कालेज में प्लांटेशन ड्राइव चलाया।  जिसमें लगभग 30 पौधे नीम, पीपल, बरगद, अमरूद के लगाए गए।

कॉलेज के डायरेक्टर रूप कुमार ने नए विद्यार्थियों को बताया कि एक वकील के लिए क्या क्या विशेषताओं को ध्यान में रखना चाहिए तथा अपना लक्ष्य को प्राप्त करने  के लिए यह जरूरी है। अपना आचरण भी उसी दिशा में हो तभी आप अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं।

रविंद्र गुप्ता पैनल एडवोकेट ने बताया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण फरीदाबाद द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के तहत जिला फरीदाबाद के प्रत्येक व्यक्ति को कानूनी जानकारी देना है और कानूनी अधिकार और कर्तव्य पर प्रिंट मैट्रियल वितरित किया जा रहा है। ताकि हमारे जिला का कोई भी व्यक्ति कानून की जानकारी के अभाव में अपने न्याय के अधिकार से वंचित ना रह सके। उन्होंने कहा कि सबको मिले न्याय व सम्मान यही है जिला विधिक सेवा प्राधिकरण फरीदाबाद का अभियान।

इस अवसर पर कॉलेज के वाइस प्रिंसिपल करण गॉड,रिटायर्ड अतिरिक्त न्यायाधीश जयदेव पाराशर, पैनल एडवोकेट रविंद्र गुप्ता, एडवोकेट अनिल गुप्ता व कॉलेज के सभी डिपार्टमेंट के हेड उपस्थित रहे।

'आजादी के अमृत महोत्सव' पर फरीदाबाद में कानूनी अधिकारों के बारें में जागरूक कर रहा डालसा


फरीदाबाद, 29 अक्टूबर: सीजेएम मंगलेश कुमार चौबे ने बताया कि डालसा द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव पर कानूनी अधिकारों और कर्तव्यों के बारे में जागरूक किया जा रहा है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण फरीदाबाद के चेयरमैन एवं जिला व सत्र न्यायाधीश यशवीर सिंह राठौर के आदेशानुसार एवं  मंगलेश कुमार चौबे मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की देखरेख में 15 लीगल लिटरेसी कार्यक्रम आयोजित किए गए। जिनमें दो घर घर जाकर जागरूकता कार्यक्रम गांव मोहताबाद गोठड़ा व बसलेवा में आयोजित किया गया। 

इसके अतिरिक्त महिला सशक्तिकरण पर ब्रेक थ्रू एनजीओ द्वारा डबुआ कालोनी में आयोजित किया गया। एक कार्यक्रम रोड सेफ्टी ओमनी फाउंडेशन द्वारा सेक्टर-4 चौक पर रोड सेफ्टी पर आयोजित किया गया। एक कार्यक्रम आशा वर्कर के लिए ट्रेनिंग प्रोग्राम बीके हॉस्पिटल में आयोजित किया गया। इसके अलावा लोगों को लीगल लिटरेसी बुक्स बांटकर लोगों को जागरूक किया गया। इसके अलावा एक कार्यक्रम महिलाओं को लीगल लिटरेसी की बुक्स बांटकर व जागरूकता शिविर लगाकर जागरूक किया गया। एक कार्यक्रम अनोर्गनाइज्ड वर्कर को लेकर गांव दौलताबाद में राष्ट्रीय श्रमिक शिक्षा एवं विकास बोर्ड की सहायता से आयोजित किया गया।

आपको बता दें, राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के एग्जीक्यूटिव चेयरमैन एवं न्यायमूर्ति पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट चंडीगढ़ अगस्तीन जॉर्ज मशी के दिशा निर्देशानुसार हरियाणा राज्य के प्रत्येक जिला व सब डिविजन लेवल पर 75वें स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में आजादी का अमृत महोत्सव गत दो अक्टूबर 2021 से लेकर आगामी 14 नवंबर 2021 तक मनाया जा रहा है। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत पैनल एडवोकेट, पैरा लीगल वालंटियर, स्टूडेंट लीगल लिटरेसी क्लब, एनजीओ अन्य संस्थाएं भाग ले रही है। जिसमें पैनल एडवोकेट रविंद्र गुप्ता ने बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन एंड अदर कंस्ट्रक्शन हरियाणा वर्कर्स वेलफेयर बोर्ड के बारे में पूर्ण रूप से जानकारी दी। इस अवसर पर राष्ट्रीय श्रमिक शिक्षा एवं विकास बोर्ड की रीजनल डायरेक्टर श्रीमती सीमा द्विवेदी मिश्रा ने असंगठित वर्करों को बताया कि किस प्रकार इन योजनाओं का फायदा उठा सकते हैं।

रविंद्र गुप्ता पैनल एडवोकेट ने बताया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण फरीदाबाद द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के तहत जिला फरीदाबाद के प्रत्येक व्यक्ति को कानूनी जानकारी वे कानूनी मैट्रियल वितरित किया जा रहा है। ताकि हमारे जिले का कोई भी व्यक्ति कानून की जानकारी के अभाव में अपने न्याय के अधिकार से वंचित ना रह सके।

अधिवक्ता परिषद की मीटिंग में किया गया पूर्व विंग कमांडर एडवोकेट सतिंदर सिंह दुग्गल का अभिनंदन

ex-wing-commander-advocate-satinder-singh-duggal-news

Faridabad News 21 August 2021: पूर्व विंग कमांडर एडवोकेट सत्येंद्र सिंह दुग्गल ने जानकारी देते हुए बताया कि दिनांक 21/8/21 को अधिवक्ता परिषद, ज़िला फ़रीदाबाद, प्रांत हरियाणा, में अधिवक्ताओं द्वारा Distt Bar Association Hall में Study circle के training program में मेरा अभिनंदन किया गया जिसके लिए मै सभी उपस्थित अधिवक्ताओं का आभारी हूँ , कृतज्ञ हूँ. 

उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में आदरणीय श्री गंगाशंकर मिश्र जी, प्रांत सम्पर्क प्रमुख, आर॰एस॰एस॰ हरियाणा भी उपस्थित रहे.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सत्येंद्र सिंह दुग्गल एयर फोर्स में पूर्व विंग कमांडर अधिकारी रहे हैं और वर्तमान में वह फरीदाबाद जेल कोर्ट में वकालत कर रहे हैं और वरिष्ठ नागरिकों एवं पूर्व सैनिकों का केस मुफ्त में लड़ते हैं और जरूरतमंद की मदद के लिए हमेशा आगे रहते हैं.

आपकी जानकारी के लिए यह भी बता दें कि वकील सतिंदर सिंह दुग्गल नहरपार विकास मोर्चा और Grefa कनफेडरेशन आफ आरडब्ल्यूएस संस्थाओं के ट्रस्टी भी हैं और समाज सेवा में हमेशा आगे रहते हैं.

लॉयर्स चैंबर्स बिल्डिंग में स्वतंत्रता दिवस की 75 वीं वर्षगांठ के अवसर पर किया गया ध्वजारोहण

flag-hoisting-in-lawyers-chamber-building-sector-12-court

Faridabad News 15 August 2021: जिला बार एसोसिएशन की तरफ से आज लॉयर्स चैंबर्स बिल्डिंग  में स्वतंत्रता दिवस की 75 वीं वर्षगांठ के अवसर पर ध्वजारोहण का कार्यक्रम आयोजित किया गया.

बार एसोसिएशन के महासचिव नरेंद्र शर्मा ने बार के पूर्व अध्यक्ष एल एन पाराशर, वरिष्ठ अधिवक्ता के पी तेवतिया, पूर्व महासचिव सतवीर शर्मा, प्रेम दत्त शर्मा, लाल सिंह, विजय वत्स, संजीव अत्री, डीडी नगर, ब्रह्मदत्त शर्मा, महेंद्र वशिष्ठ, मुकेश वर्मा, अशोक गौतम, निब्रास अहमद, संदीप पाराशर, अरविंद छाबड़ी, मनवीर भडाणा, विजय कुमार, सरूप सिंह आदि के साथ मिलकर ध्वजारोहण किया.

इस अवसर पर सभी लोगों ने एक दूसरे को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दीं और एक दूसरे का मुंह भी मीठा करवाया, इस अवसर पर देशभक्ति के नारे भी लगाए गए.

एडवोकेट राजेश खटाना की बड़ी उपलब्धि, पंजाब एंड हरियाणा बार काउंसिल के कॉपरेटिव सदस्य नियुक्त

advocate-rajesh-khatana-faridabad-cooperative-member-bar-council
Advocate Rajesh Khatana of Faridabad appointed as Cooperative Member of Punjab and Haryana Bar Council on 10 June 2021.

फरीदाबाद: पंजाब एंड हरियाणा बार काउंसिल के चेयरमैन मनिंदर जीत यादव ने लॉ भवन चंडीगढ़ में Advocate Rajesh Khatana पंजाब एंड हरियाणा बार काउंसिल के कॉपरेटिव सदस्य नियुक्त किया गया। 

इस नियुक्ति पर Advocate Rajesh Khatana ने बार काउंसिल के सभी सदस्यों व एडवोकेट सलीम अहमद का आभार जताया। 

इस अवसर पर Advocate Rajesh Khatana ने कहाकि आज मै जिस भी स्थान पर हु इस नियुक्ति का सारा श्रेय साथी वकीलों को जाता है। उन्होंने कहाकि उन्हें जो पद सौंपा गया है वह उसे पूरी जिम्मेवारी सौंपी गई है उसे बखूबी निभाएंगे। जैसा भी कार्य बार काउंसिल सौंपेगी वह उसे ईमानदारी के साथ पूरा करेंगे। बार काउंसिल के सभी कल्याणकारी योजनाओं को सभी वकीलों तक पहुंचने का काम करेंगे तांकि सभी वकीलों को ज्यादा से ज्यादा लाभ मिल सके.

बता दें Advocate Rajesh Khatana एनएसयूआई फरीदाबाद के जिलाध्यक्ष, लीगल विभाग हरियाणा युवा कांग्रेस के इंचार्ज, सदस्य चाइल्ड लेबर वेलफेयर बोर्ड रोजगार श्रम मत्रालय भारत सरकार ,सदस्य टेलीफोन अडवाइजरी कमेटी भारत सरकार,ग्रीवेंस कमेटी हरियाणा सरकार के सदस्य रहे चुके हैं और वर्तमान में हरियाणा में युवा कांग्रेस के प्रदेश सचिव के पद है। और उन्होंने बिजली बोर्ड नगर निगम हुड्डा पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के पेनल पर काम किया हुआ है। साथ ही वह जिला अदालत में वकालत के साथ गरीब लोगो की मदद के लिए तैयार रहते है। इस मौके एडवोकेट ब्रह्म प्रकाश, एडवोकेट रोहित बोकन, धर्मवीर खटाना मौजूद थे।

Advocate LN Parashar को समय पर सूचना ना देना MCF को पड़ा मंहगा, 20 हजार रुपये का लगा जुर्माना

advocate-ln-parashar-faridabad-latest-news-8-june-2021
Advocate LN Parashar says SPIO put fine on Faridabad Nagar Nigam (MCF) for not giving Information on fixed time.

Faridabad News, 8 June: सूचना के अधिकार अधिनियम 2005 के तहत जानकारी न देने पर फरीदाबाद नगर निगम पर राज्य सूचना आयोग ने 20 हज़ार का जुर्माना लगाया। यह जानकारी बार एसोशिएशन के पूर्व प्रधान एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष Advocate LN Parashar ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए दी। 

Advocate LN Parashar ने बताया की 16 अगस्त 2018 को भूमि की चकबंदी के  संबंध मे नगर निगम से जानकारी मांगी थी। लेकिन नगर निगम उन्हें जानकारी देने की बजाए लगातार टरकाता रहा। जिससे परेशान होकर उन्होंने इसकी अपील राज्य सूचना आयोग से की। जिस पर राज्य लोक सूचना अधिकारी ने कार्रवाई करते हुए नगर निगम पर 20 हजार का जुर्माना लगाया। 

Advocate LN Parashar ने बताया कि सरकारी विभाग में पारदर्शिता लाने के लिए सन् 2005 में सूचना का अधिकार आम जनता को दिया गया था। लेकिन आज भी सरकारी विभाग मे बैठे कुछ आधिकारिक सूचनाओं को जनता से छुपाना चाहते हैं। जिसके कारण आम आदमी तक सूचना नही पहुंचा पाती। इस सूचना के लिए उन्हें काफी लंबा संघर्ष करना पड़ा। फिर भी अधिकारियों ने उन्हें जानकारी नही दी। जिसके कारण उन्हें राज्य सूचना आयोग में अपील करनी पड़ी। आयोग के निर्देश पर भी जब निगम ने जानकारी नहीं दी तो आयोग ने सख्त कदम उठाते हुए फरीदाबाद नगर निगम पर 20 हजार का जुर्माना लगाया। ये जुर्माना अधिकारियों के वेतन से काटा जाएगा।

Advocate LN Parashar ने कहा कि नगर निगम के कारण फरीदाबाद शहर विकास में पिछड़ता जा  रहा है। तमाम बड़े घोटालों की ख़बरें नगर निगम से ही आतीं हैं और अरावली पर भूमाफियाओं ने जंगल नष्ट कर बड़े-बड़े महल नगर निगम की मेहरबानी से ही बना लिए। उन्होंने कहा नगर  निगम का जोर गरीबों पर ही चलता है। बड़े लोगों के गलत  कामों में निगम अधिकारियों की मिली भगत होती है। 

Creative Lawyers Front & DLSA ने किया ब्लड डोनेशन कैम्प का आयोजन, वकीलों में दिखा गजब का उत्साह

dlsa-creative-lawyers-front-faridabad-blood-donation-camp

फरीदाबाद, 28 सितम्बर: क्रिएटिव लायर्स फ्रंट व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के संयुक्त तत्वावधान में सैक्टर 12 स्थित  लायर्स चैंबर परिसर में एक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। 

शिविर में विशेष अतिथि के रूप में जिला न्यायाधीश श्री दीपक गुप्ता व मुख्य अतिथि के रूप श्री मंगलेश कुमार चौबे (मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट व सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण) उपस्थित रहे।  

शिविर में 4 न्यायाधीशों सहित अधिवक्ताओं द्वारा 91 यूनिट रक्त दान किया गया। फ्रंट के संस्थापक अधिवक्ता मनोज शर्मा ने कहा कि रक्त अमूल्य है, एक व्यक्ति द्वारा किया गया रक्तदान तीन लोगों का जीवन बचाने के काम आता है। रक्त किसी फैक्ट्री में नहीं बनता अतः रक्त को लड़ाई झगड़े में बर्बाद ना करके नियमित अंतराल पर दान करते रहना चाहिए। 

शिविर संयोजक अधिवक्ता दीपशिखा ने बताया कि शिविर में महिला अधिवक्ताओं ने भी बढ चढकर भाग लिया। 

इस अवसर पर अधिवक्ता मनोज शर्मा, दीपशिखा, अवधेश शर्मा, राजू त्यागी, योगेश भारद्वाज, अरविंद छावरी, हेमराज कपासिया, संगीता भाटी, संदीप पाराशर, सतवीर शर्मा, विजय भारद्वाज, नरेन्द्र पाराशर (महासचिव- जिला बार एसोसिएशन), संजीव चौधरी (प्रधान-जिला बार एसोसिएशन) उपस्थित रहे।

जिला न्यायालय परिसर में रक्तदान शिविर का आयोजन, वकीलों, पुलिसकर्मियों ने किया रक्तदान

blood-donation-camp-in-sector-12-court-lawyer

फरीदाबाद, 25 सितम्बर: जिला न्यायालय परिसर में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण,जिला बार एसोसिएशन, जिला रेडक्रॉस सोसायटी के तत्वाधान में में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया जिसमें 62 रक्तवीर ने रकतदान कर मानवता का संदेश दिए। आज के कार्यक्रम का शुभारंभ जिला विधिक सेवा प्राधिकरण फरीदाबाद के सचिव व सीजेएम मगेशलेश कुमार चौबे, जिला बार  एसोसिएशन के प्रधान संजीव चौधरी, सचिव नरेंद्र पाराशर, रेडक्रॉस सचिव विकास कुमार, ब्लड कोऑर्डिनेटर विमल खंडेलवाल ने लोगों का उत्साह वर्धन  करके किया, माननीय सीजीएम  मंगलेश कुमार चौबे ने इस नेक कार्य मे जिला बार एसोसिएशन, रेडकॉस सोसाइटी के तत्वाधान में सफल आयोजन के लिए  बहुत-बहुत बधाई शुभकामनाएं दी और अन्य सामाजिक संस्थाओं से भी आग्रह  किया की  इस पुनीत कार्य में बढ़-चढ़कर हिस्सा लें.

blood-donation-camp

जिला बार के प्रधान संजीव चौधरी ने कहा कि यह बहुत पुनीत कार्य है, रक्तदान महादान बताया गया इससे बड़ा कोई श्रेष्ठदान नहीं श्रेष्ठदान नहीं श्रेष्ठदान नहीं होता। मैं सभी रक्तदाता हूं को हूं को को नमन करता हूं.

सचिव नरेंद्र पाराशर पूरी टीम का उत्साह वर्धन किया,कार्यक्रम के संयोजक संजय गुप्ता एडवोकेट अर्चना गोयल ने बताया कि वह इसी प्रकार के आयोजन समय-समय पर जिला बार एसोसिएशन जिला रेडक्रॉस सोसायटी के  साथ मिलकर भविष्य में भी करते रहेंगे.

रेडकॉस के सचिव विकास कुमार ,ब्लड कोऑर्डिनेटर विमल खंडेलवाल ने बताया कि कोरोना वैश्विक महामारी के दौरान दिन रात रक्तदान शिविर का आयोजन किया जा रहा है, ब्लड बैंकों में रक्त का अभाव नहीं रहने दिया जा रहा है, जिसके लिए सभी सामाजिक संस्थाओं, राजनीतिक संगठनों का दिल से आभार है.

आज के सफल कार्यक्रम का आयोजन के लिए कार्यक्रम के संयोजक अधिवक्ता संजय गुप्ता,सह सयोजक अर्चना गोयल, बी सी गुप्ता ऐडवोकेट, मीनाक्षी आँचल ऐडवोकेट, संदीप पराशर  ऐडवोकेट ,सतवीर शर्मा ऐडवोकेट,लकी सिंगला ऐडवोकेट,रामवीर तवर ऐडवोकेट, राजेन्दर गौतम ऐडवोकेट,रविन्दर गुप्ता ऐडवोकेट,आशा अरोरा  ऐडवोकेट,अशीष ,प्रमोद मनोचा,परशु रमन,ओ पी सैनी ऐडवोकेट,शिव कुमार ऐडवोकेट विशेष रूप से मौजूद रहे। 

इस अवसर पर जिला रेड क्रॉस सोसाइटी द्वारा माननीय न्यायाधीश मंगलेश कुमार चौबे संजीव चौधरी नरेंद्र  पाराशर को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया.

देखिये MCF क्षेत्र के वार्ड - 23, सूर्या विहार पार्ट-2 का हाल, डेढ़ साल से खुदी है सड़क

 

फरीदाबाद, 11 सितम्बर:  फरीदाबाद नगर निगम ने 26 गाँवों को अपने दायरे में लेने का फैसला किया है लेकिन कई गाँवों में MCF का विरोध हो रहा है. कुछ लोग कह रहे हैं कि अभी नगर निगम ने अपने क्षेत्र का विकास नहीं किया है, हर तरफ गन्दगी, सीवर समस्या, गंदे पानी की समस्या और टूटी सड़कों की समस्या है.

अगर  गौर किया जाए तो ये लोग सच बोल रहे हैं, फोटो में दिख रहा एरिया MCF क्षेत्र में आता है, वार्ड - 23, सूर्या विहार पार्ट - 2 का हाल आप खुद देख सकते हैं, यहाँ के लोगों ने बताया कि करीब डेढ़ साल पहले सीवर के लिए यह सड़क खोदी गयी थी जिसे आज तक बनाया नहीं गया है, क्षेत्र के लोगों की जिंदगी नरक बन गयी है.

यही हाल कई अन्य क्षेत्रों का भी है. पर्वतिया कॉलोनी, नंगला, ओल्ड फरीदाबाद सहित कई क्षेत्रों में ऐसे ही हालात देखने को मिल रहे हैं. इन क्षेत्रों में भी सड़कें खोद दी गई हैं लेकिन कई महीनें बीत जाने के बाद भी सड़कों को फिर से नहीं बनाया गया है और ना ही सीवर सिस्टम दुरुस्त हो पाए जिसकी वजह से जगह जगह जलभराव की समस्या देखने को मिल रही है.

LN पाराशर ने की इलाका मजिस्ट्रेट के पास शिकायत, भ्रष्ट तहसीलदारों, भू-माफियाओं पर दर्ज करो FIR

advocate-ln-parashar-file-complaint-against-corrupt-tahsildar-faridabad

फरीदाबाद: शहर के भ्रष्ट अधिकारियों ने शहर को बरबाद करने में अपनी तरफ से कोई कमी नहीं छोड़ी है और कई विभागों में जमकर भ्रष्टाचार जारी है। ये कहना है बार एसोशिएशन के पूर्व प्रधान एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एलएन पाराशर का जिन्होंने कहा कि मैंने कई अधिकारियों की शिकायत सबूत के साथ सरकार से की और सरकार ने इन भ्रष्ट अधिकारियों पर कोई कार्यवाही नहीं की जिसके बाद हाल में मैंने कई अधिकारियों पर एफआईआर दर्ज करवाई थी लेकिन उस मामले में भी अधिकारियों को बचाया जा रहा है। पाराशर ने कहा कि फरीदाबाद की तहसीलों पर सब तहसीलों में अब भी भ्रष्टाचार नहीं रुका जिसके बाद मैंने  अब फरीदाबाद की अदालत में तहसील के कुछ भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ याचिका दायर की है।
याचिका में क्या लिखा गया है पढ़ें,

न्यायालय श्रीमान् इलाका मजिस्ट्रेट , फरीदाबाद ।
एल.एन.पाराशर , एडवोकेट पूर्व प्रधान जिला बार एसोसिएषन, अध्यक्ष न्याय सुधार संघर्श समिति, चैम्बर नं0 382, लायर्स चैम्बर बिल्डिंग, सैक्टर-12, फरीदाबाद ।
---मुस्तगीस
बनाम

1-श्री गगन दीप सिंह पुत्र सरदार मनजीत सिंह, निवासी मकान नं0 जे-192, विकासपुरी, नई दिल्ली ।   
2-प्रियंका पत्नी श्री कुनाल किषन, निवासी गाॅंव चन्दनपुरा, पोस्ट आफिस जयमलपुर, जिला मुंगर ।
3-तहसीलदार फरीदाबाद, सैक्टर-12, जिला फरीदाबाद । 
4-रजिस्ट्री क्र्लक, सब रजिस्ट्रार तहसील कार्यालय, सैक्टर-12,
  फरीदाबाद ।
5-व अन्य स्टाॅफ सब रजिस्ट्रार तहसील कार्यालय, सैक्टर-12,
  फरीदाबाद ।
6-अन्य मुल्जिमान
------मुलजिमान/दोशीयान
इस्तगासा जेरे धारा 420/467/468/471/409/120बी,217,218,
219 भा0द0सं0

थाना: सैण्ट्रल, फरीदाबाद।
श्रीमान जी,
मुस्तगीस निम्नलिखित निवेदन करता है कि:-
1- यह कि मुस्तगीस पेषे से वकील है और उपरोक्त पते पर बतौर वकील प्रैक्टिस करता है व न्यायिक सुधार संघर्श समिति का अध्यक्ष है व फरीदाबाद में हो रहे घोटाले व सरकारी विभागो में हो रही अनियमितताओं के खिलाफ आवाज उठाता आ रहा है व फरीदाबाद की जनता के लिए समाज कल्याण के कार्य निषुल्क जनता की भलाई के लिए करता चला आ रहा है ।
2- यह कि प्रार्थी काफी समय से फरीदाबाद में हो रहे भ्रश्टाचार व सरकारी विभागों में हो रही अनियमितताओं के खिलाफ आवाज उठाई है व बिल्ड़रों व सरकारी विभागो के गैरकानूनी कारनामो को उजागर भी किया है ।
3-यह कि मुस्तगीस को पता चला कि मुल्जिमान नं0 1 व 2 ने आॅनलाईन 150000/-रूपये का स्टाम्प पेपर लेकर जिसका जी.आर.एन. 18985188, सर्टीफिकेट नं0 म्0च्2016म्300 दिनांक 16-05-2016 जो बी.पी.टी.पी. पार्कलैंडस प्राइड लिमिटेड, व राजकुमार निवासी 1465 ब्लाक-ई, डबुआ कालोनी, एन.आई.टी. फरीदाबाद किसी अन्य व्यक्तियों के नाम पर जारी किया गया था पर जाली व फर्जी तरीके से उसी सर्टीफिकेट नंबर म्0च्2016म्300 पर 1,50,000/-रूपये के स्टाम्प डियूटी दिनांक 16-05-2016 की दिखाकर एक फर्जी रजिस्ट्री संख्या 1898 दिनांक 16-05-2016 जो कि रिहायषी प्लाॅंट नं0 1314(सी.पी), रकबा 176 वर्गगज जिसका कुल कवर्ड ऐरिया लगभग 625 वर्गफुट सैक्टर-49, सैनिक कालोनी, फरीदाबाद में है मुल्जिमान नं0 3 के कार्यालय से फोटो एवं मोहर लगाकर तथा मुल्जिमान नं0 3 से साजबाज होकर फर्जी रजिस्ट्री तहसील कार्यालय, फरीदाबाद से करा ली । जबकि उस समय सैनिक काॅलोनी की रजिस्ट्री विभाग द्वारा बन्द थी । जो बाद में पता चला कि यह रजिस्ट्री इस स्टाम्प पेपर जिसका जी.आर.एन. 18985188, सर्टीफिकेट नं0 म्0च्2016म्300 दिनांक 16-05-2016 वो तहसील कार्यालय सैक्टर-12, फरीदाबाद में पंजीकृत ही नहीं है व इसके बाद मुस्तगीस को पता चला कि यह स्टाम्प पेपर 150000/-रूपये का दिनांक 16-05-2016 को सटीफिकेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेट नं0 म्0च्2016म्300 तो बी.पी.टी.पी. पार्कलैंडस प्राइड लिमिटेड, व राजकुमार निवासी 1465 ब्लाक-ई, डबुआ कालोनी, एन.आई.टी. फरीदाबाद किसी अन्य व्यक्तियों के नाम पर जारी किया गया जिसका दुरूपयोग करके व सोची समझी साजिष के तहत जाली व फर्जी रजिस्ट्री 150000/-रू0 के स्टाम्प पेपर पर सरकारी राजस्व की चोरी कर 150,000/-रूपये के स्टाम्प पेपर की दिखाकर तैयार करके मुल्जिमान नं0 3 के साथ साजबाज होकर, सुनियोजित तरीके से व सोची समझी रणनीति के तहत पंजीकृत करायी । मुल्जिमान नं0 1 व 2 व सरकारी विभाग के अधिकारियों के साथ साजबाज होकर व उनके पद का दुरूपयोग करके व अपना राजनेताओ से अपने आपको उनका करीबी बताकर अपने हक व फायदे में कार्य करा लेते हैं जिससे सरकार को करोड़ो रूपये की इंकम टैक्स चोरी व स्टाम्प डियूटी चोरी व जी.एस.टी.चोरी की है जिससे कि सरकारी राजस्व को क्षति पहुॅंचाई   है ।

4- यह कि उपरोक्त मल्जिमानो ने आपस में साजबाज होकर व सोची समझी रणनिति के तहत किसी अन्य व्यक्ति को जारी 1,50,000/-रूपये का स्टाम्प पेपर पर मु0 1,50,000/-रूपये का स्टाम्प पेपर दिखाकर सरकारी राजस्व की चोरी करके अपनी फर्जी रजिस्ट्री तैयार करवा कर उसको दोशी नं0 3 ता 7 के साथ साजबाज होकर व उनके पद का दुरूप्योग करके फर्जी कागजात तैयार करके रजिस्ट्री पंजीकृत करवा ली व स्टाम्प पेपर एवं जी.एस.टी. एवं इंकम टैक्स की चोरी करके, सरकारी राजस्व को लाखों रूपये का नुकसान पहंुॅचाया है ।
5- यह कि मुस्तगीस ने इस बाबत दरखास्त पुलिस आयुक्त महोदय, फरीदाबाद एवं अन्य आला अधिकारियों को भी दी थी । यह कि मुल्जिमानों के आला अधिकारियों व राजनेताओ से भी संबंध हैं जिसका फायदा उठाकर वह सरकारी विभागो के अधिकारियों पर नाजायज दबाव बनाकर व उन्हें मोटी रकम देकर अपने अनुसार कार्य करवा रहे हैं ।
6- यह कि दरखास्त की कापी जो मुस्तगीस ने आला अधिकरियों को दी थी, दरखास्त की कापी व स्टाम्प पेपर व रजिस्ट्री की कापी इस्तगासा के साथ लफ हजा है । दरखास्त पर कार्यवाही ना होने पर इस्तगासा पेष अदालत है।
       
अतः श्रीमान जी से प्रार्थना है कि मुल्जिमान के खिलाफ सख्त से सख्त कानूनी कार्यवाही की जावे व मुल्जिमान के खिलाफ जेर धारा 420/467/468/471/409/120बी, 217,218,219 भा0द0सं0 में मुकदमा दर्ज किया जाये । जनाब की अति कृपा होगी ।

दिनांक:      मुस्तगीस

एल.एन.पराषर, एडवोकेट पूर्व प्रधान जिला बार एसोसिएषन, अध्यक्ष न्याय सुधार संघर्श समिति, चैम्बर नं0 382, लायर्स चैम्बर बिल्डिंग, सैक्टर-12, फरीदाबाद ।
द्वारा अधिवक्ता:-

हितेष पराषर, संजीव तंवर
एड़वोकेटस, फरीदाबाद ।

वकील LN पाराशर ने 300 युवा वकीलों को बांटी क्रॉस एग्जामिनेशन की किताबें, खुश हुए वकील

advocate-ln-parashar-distribute-cross-examination-books-to-lawyers

फरीदाबाद: बार एसोशिएशन के पूर्व प्रधान एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के प्रधान एडवोकेट एलएन पाराशर ने शुक्रवार 6वीं बार शहर के वालों को 300 से ज्यादा कानूनी किताबें बाँट एक रिकार्ड बनाया क्योंकि फरीदाबाद ही नहीं हरियाणा या देश की किसी भी अदालत में अब तक किसी वकील ने जूनियर वकीलों की इतनी मदद नहीं की है। वकील पाराशर लगभग सवा साल में 6 बार कानूनी किताबें बाँट चुके हैं और निःशुल्क कोचिंग के माध्यम से अधिक से अधिक युवा वकीलों को जज बनाने के लिए प्रयासरत है। 

इस मौके पर वकील पाराशर ने कहा कि मैं एक गांव से ताल्लुक रखता हूँ और लगभग 30 साल पहले जब मैंने फरीदाबाद की अदालत में प्रैक्टिस करना शुरू किया तो देखा कि युवा वकीलों की उपेक्षा की जाती है और कोई भी उनकी मदद नहीं करता जिस कारण तमाम युवा वकील वकालत तक छोड़ देते हैं। उन्होंने कहा कि तमाम युवा वकील ऐसे परिवार से ताल्लुक रखते हैं जिनके परिजन उन्हें पढ़ाने में अपना सब कुछ दांव पर लगा देते हैं और अधिकतर युवा वकील लगभग पांच साल तक उतना नहीं कमा पाते जिनमे में उनका या उनके परिवार का गुजारा होता है। वकील पाराशर ने कहा कि मैंने कई बार हरियाणा सरकार से मांग की कि युवा वकीलों को सम्मान भत्ता दिया जाए लेकिन सरकार ने अब तक युवा वकीलों की परेशानी को नहीं समझा इसलिए मैं समय-समय पर युवा वकीलों की मदद का प्रयास करता रहता हूँ। 

वकील पाराशर ने बताया कि शुक्रवार को बांटी गई किताब का नाम क्रास एक्जामिनेशन आफ विटनेस, सिविल क्रिमिनल एंड मेडिकल एक्जामिनेशन है। उन्होंने बताया कि ये किताब बहुत ख़ास है क्यू कि इस किताब में 11 000 प्रश्न दीवानी, फौजदारी के साथ साथ डाक्टर  से जुड़े हैं जो गवाहों को क्रास करने में युवा वकीलों के लिए काम आएंगे। ये प्रश्न युवा वकीलों के गवाही करवाने में बहुत ही अहम् भूमिका निभाएंगे और युवा वकील उत्साहित होकर अपने केस में गवाही करवा सकेंगे। और उन्हें कोर्ट में घबराहट का  सामना नहीं करना पड़ेगा। 

उन्होंने कहा कि आएगी भी मैं युवा वकीलों की मदद करता रहूंगा और अब भी मेरी हरियाणा सरकार से मांग है कि सरकार युवा वकीलों का ध्यान दे और इन्हे सम्मान भत्ता दिया जाये। इस मौके पर  एडवोकेट कंवर सिंह तंवर, एडवोकेट हितेश पाराशर, एडवोकेट विश्वेन्द्र अत्री, एडवोकेट लोकेश पराशर, एडवोकेट सचिन पाराशर, एडवोकेट एनएस मान, एडवोकेट कंवर संजीव ठाकुर , एडवोकेट विकास शर्मा, एडवोकेट दीपिका धर्मा, एडवोकेट ब्रिज मोहन, एडवोकेट कुलदीप नागर, एडवोकेट बीडी कौशिक, निशांत नागर सुमित  नागर आदि मौजूद थे। 

तहसीलों में बहुत बड़ा फर्जीवाड़ा, बिना तहसीलदार के साइन के हो जाती हैं रजिस्ट्रियां: LN पाराशर

advocate-ln-parashar-exposed-corruption-in-tahsil-faridabad

फरीदाबाद: कई तरह के माफिया शहर को दीमग की तरह चाट रहे हैं और दिन-प्रतिदिन फरीदाबाद पीछे की तरफ जा  रहा है जबकि कई शहर फरीदाबाद से बहुत पीछे थे लेकिन वर्तमान में वो शहर फरीदाबाद से बहुत आगे हैं। शहर में सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार फरीदाबाद जिले की तहसीलों में हो रहा है। ये कहना है बार एसोशिएशन के पूर्व प्रधान एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एडवोकेट एलएन पाराशर का जिन्होंने एक और खुलासा करते हुए कहा है कि फरीदाबाद के भू माफिया फरीदाबाद की तहसीलों को हैक कर रक्खे हैं और जो माफिया चाहते हैं तहसीलों में वही होता है। 

पाराशर ने कहा कि कुछ महीने पहले मैंने खुलासा किया था कि फरीदाबाद की तहसीलों में फर्जी जीपीए से रजिस्ट्रियां हो रही हैं। एक-एक स्टैम्प से दो-दो बार रजिस्ट्रियां हो रहीं हैं। 50 रूपये का स्टाम्प पेपर खरीद 3 लाख 32 हजार का बना लिया जाता है और उससे रजिस्ट्री करवा ली जाती है। बिना तहसीलदार के हस्ताक्षर के रजिस्ट्री हो जाती है। पाराशर ने कहा कि इसी कड़ी में मुझे एक और जानकारी मिली है और उस जानकारी के मुताबिक़ शहर की तहसीलों में माफिया जो चाहे वो करते रहते हैं इसका उदाहरण ये है कि अगर कोई रजिस्ट्री करवाता है तो एक रजिस्ट्री उसे मिलती है और एक रिकार्ड रूम मे रखी जाती है। पाराशर ने कहा कि मुझे गड़बड़झाले की सूचना मिली तो मैंने रिकार्ड रूम से कई रजिस्ट्रियां निकलवाई। 

 पाराशर ने कहा कि रजिस्ट्री नंबर 4223 तारीख  जो 5/6/2015 को हुई थी और इस रजिस्ट्री में भी तहसीलदार के हस्ताक्षर नहीं हैं। पाराशर ने कहा कि रिकार्ड रूम में बिना तहसीलदार के हस्ताक्षर के ये रजिस्ट्री किसने रखी और कैसे रखी ये एक बड़ा सवाल है। पाराशर ने कहा कि रिकार्ड रूम में बिना तहसीलदार के हस्ताक्षर के ये रजिस्ट्री क्यू रखी गई?

पाराशर ने कहा कि ये तहसीलदार का एक और घोटाला साबित हो सकता है। उन्होंने कहा कि हाल में मैंने खुलासा किया था बिना तहसीलदार के हस्ताक्षर के रजिस्ट्री होती है। मैंने उस समय जिस रजिस्ट्री की बात की थी ये उससे अलग रजिस्ट्री है। किसी माधुरी जायसवाल को की गई है।

उन्होंने कहा कि अगर जांच करवाई जाए तो रिकार्ड रूम में हजारों ऐसी रजिस्ट्रियां मिलेंगी जिनमे स्टाम्प घोटाला हुआ है या जिनमे तहसीलदार के हस्ताक्षर नहीं हैं। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद के तहसीलदार दोनों हांथों से हरियाणा सरकार को चूना लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार ने इन भ्रष्टाचारियों पर जल्द कार्यवाही न की तो ये भ्रष्ट फरीदाबाद को बेंचकर डकार जाएंगे। 

LN पाराशर ने रजिस्ट्री में किया फर्जीवाड़े का खुलासा, 50 रू का स्टाम्प 3 लाख 32 हजार का बना लिया

advocate-ln-parashar-expose-fraud-in-registry-2-july-2019-news

फरीदाबाद: शहर की तहसीलों में अब भी काले कारनामें जारी हैं और मामला दर्ज होने के बाद भी तहसीलदार नहीं सुधर रहे हैं। ये कहना है बार एसोशिएशन के पूर्व प्रधान एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एडवोकेट एलएन पाराशर का जिन्होंने एक और खुलासा करते हुए बताया कि 50 रूपये के स्टाम्प को खरीदकर 3 लाख 32 हजार 500 रूपये  का बनाकर रजिस्ट्री करवाई गई है। ये रजिस्ट्री सेक्टर 12 फरीदाबाद तहसील में 4/8/2016 को करवाई गई थी और सरकार को लाखों का चूना लगाया गया था।

registry-scam-in-faridabad

वकील पाराशर ने कहा कि हाल में मैंने कई तहसीलदारों पर मामले दर्ज करवाए थे जो एक एक-स्टाम्प पेपर से दो-दो बार रजिस्ट्री कर रहे थे। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद की तहसीलें घोटालों का अड्डा बन गईं हैं और तहसील गलत तरीके से रजिस्ट्री कर मोटा माल कमा रहे हैं और सरकार को करोड़ों का चूना लगा रहे हैं। वकील पाराशर ने कहा कि कुछ भू माफिया इन तहसीलदारों से मिले हुए हैं और वो जैसा चाहते हैं, तहसीलदार वैसा ही करते हैं।

वकील पाराशर ने कहा कि मैं लगभग एक साल से तहसीलदारों के भ्रष्टाचार की आवाज उठा रहा हूँ लेकिन जिला प्रशासन अब भी आंख बंद करके बैठा है। उन्होंने कहा कि हाल मुझे जानकारी मिली है कि तहसीलदारों के गड़बड़झाले की जांच एसडीएम से करवाई जा रही है लेकिन मुझे नहीं लगता कि किसी भ्रष्ट को कसूरवार ठहराया जायेगा क्यू कि माफिया और भ्रष्ट तहसीलदार किसी की भी जेब में नोटों की गड्डियां ठोंक सकते हैं। 

पाराशर ने कहा कि अगर हरियाणा सरकार फरीदाबाद-पलवल, नूह, गुरुग्राम जैसे जिलों के तहसीलदारों की जांच करवाए तो यहाँ तेलगी से भी बड़ा स्टाम्प घोटाला सामने आएगा।

registry-scam-in-faridabad-news

उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार बड़े-बड़े दावे करती है कि भ्रष्टाचार कम हो रहा है लेकिन हकीकत में ये और बढ़ रहा है वरना 50 रूपये के स्टाम्प पेपर को 3 लाख 32 हजार 500 रूपये का न बनाया जाता। उन्होंने कहा कि ये वही तहसीलदार हैं जो एक-एक स्टाम्प पेपर से दो-दो रजिस्ट्री करते थे। 

पाराशर ने कहा कि इस मामले में भी मैं तहसीलदार और माफियाओं पर केस दर्ज करवाऊंगा क्यू कि ये सरकार को करोड़ों का चूना लगा चुके हैं।