Followers

Showing posts with label Crime. Show all posts

क्लीनिक पर इलाज कराने आयी थी 21 वर्षीय युवती, डॉ की खराब हुई नीयत, पुलिस ने पकड़कर भेजा जेल

faridabad-police-arrested-dr-shanu-gandhi-colony-rape-attempt

फरीदाबाद: इलाज के नाम पर 21 वर्षीय युवती के साथ दुष्कर्म का प्रयास करने वाले आरोपी डॉक्टर को एनआईटी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी का नाम डॉक्टर शानू है जो गांधी कॉलोनी में पिछले करीब 10 साल से अपना क्लीनिक चलाता है. युवती की शिकायत पर त्वरित कार्रवाई करते हुए डॉक्टर को काबू करके जेल भेज दिया गया है.

तबीयत खराब होने पर युवती गांधी कॉलोनी में स्थित डॉक्टर के क्लिनिक पर गई थी. डॉक्टर ने युवती को बताया कि उसे टाइफाइड है और उसे 5 दिन लगातार क्लीनिक आना पड़ेगा। अगले दिन युवती डॉक्टर के पास गई तो उसने युवती के साथ छेड़छाड़ करने की कोशिश की.

युवती ने इसका विरोध किया और सारी बातें जाकर अपने परिजनों को बता दी जिसके पश्चात पुलिस में शिकायत देने पर आरोपी डॉक्टर के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके कार्रवाई शुरू की गई. पुलिस ने शिकायत पर त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी डॉक्टर को काबू कर लिया। आरोपी डा० को अदालत में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। 

लड़की संस्कृति का जबरन धर्म परिवर्तन कराने वाले पति जावेद और ससुर लियाकत अली पर मुकदमा दर्ज

fir-against-husband-Javed-who-forcibly-converted-sanskriti

फरीदाबाद के एसजीएम नगर में 22 वर्षीय लड़की का गैरकानूनी तरीके से धर्म परिवर्तन कराने वाले नामजद 9 आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है, पिता की शिकायत पर पुलिस ने लड़की संस्कृति के पति जावेद, देवर फिरोज खान, ससुर लियाकत अली, सास, गवाह इरशाद, गवाह पायल, लड़की स्वयं, अब्दुल सजान लिखा कराने वाला मौलवी और नोटरी ईश्वर प्रसाद के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. 

लड़की एचडीएफसी बैंक में कार्यरत है। जो 28 अक्टूबर को अपने घर से अपने ऑफिस गई थी। जो ऑफिस ना जाकर जावेद के साथ चली गई थी। जिसने जावेद के साथ निकाह कर लिया था। लड़की ने अदालत के माध्यम से पुलिस प्रोटक्शन भी ले रखी थी। लड़की संस्कृति, और जावेद के साथ उसके परिवार ने हरियाणा विधि विरुद्ध धर्म परिवर्तन निवारण अधिनियम 2022 के अंतगर्त धारा 12(1),12(5) का उल्लंघन किया है। जिसमें 2 लाख का जुर्माना तथा 5 वर्ष तक की सजा का प्रावधान है। आरोपी जावेद फरीदाबाद के एसजीएम नगर के रहने वाले हैं। लड़की आरोपी को पिछले 1 वर्ष से जानती है। लड़की के पिता की शिकायत आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले में तफ्तीश जारी है, पुलिस ने कहा, आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

फरीदाबाद: मास्टर चाबी से बाइक चुराने वाले 3 चोर गिरफ्तार, चोरी की 2 बाइक और 1 स्कूटी बरामद

 crime-branch-65-arrested-3-bike-chor


फरीदाबाद- डीसीपी क्राइम मुकेश कुमार मल्होत्रा के दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच 65 प्रभारी ब्रह्मप्रकाश की टीम ने वाहन चोरी के मामलों में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में महावीर उर्फ़ मन्नू, पवन तथा सचिन का नाम शामिल है। 

आरोपी महावीर फरीदाबाद के झाड़सेतली, आरोपी पवन पलवल के गांव दुधौला तथा आरोपी सचिन पलवल के भगोला गांव के निवासी हैं। आरोपी बहुत ही शातिर किस्म के चोर हैं जो मास्टर की लगाकर वाहन चोरी की वारदातों को अंजाम देते हैं। क्राइम ब्रांच की टीम ने गुप्त सूत्रों की सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों के कब्जे से दो मोटरसाइकिल तथा एक स्कूटी बरामद की गई है। 

पुलिस पूछताछ में सामने आया कि आरोपी इससे पहले दो दो बार जेल जा चुके हैं और लगातार चोरी की वारदातों में संलिप्त रहते हैं। आरोपी अपने साथ एक मास्टर चाबी रखते हैं और गलियों में घूमते रहते हैं और जहां भी उन्हें कोई मोटरसाइकिल लावारिस खड़ी दिखाई देता हैं तो उसमें चाबी लगाकर देखते हैं और जिसका ताला खुल जाता है तो आरोपी उसे लेकर फरार हो जाते हैं। पुलिस पूछताछ पूरी होने के पश्चात आरोपियों को अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है।

फरीदाबाद: महिला के साथ दुष्कर्म कर वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल करने वाला आरोपी गिरफ्तार

faridabad-police-arrested-1-rape-accused

फरीदाबाद- डीसीपी सेंट्रल मुकेश कुमार मल्होत्रा के दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए महिला थाना सेंट्रल प्रभारी इंस्पेक्टर गीता की टीम ने दुष्कर्म तथा आईटी एक्ट के मुकदमें में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम हरीश है जो फरीदाबाद के पन्हेड़ा कला गांव का रहने वाला है। 

आरोपी के खिलाफ 18 अक्टूबर 2022 को महिला थाना सेंट्रल में दुष्कर्म तथा आईटी एक्ट की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था जिसमें आरोपी ने एक महिला के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देने के पश्चात उसकी फोटो और वीडियो बना ली तथा उसके आधार पर महिला को ब्लैकमेल करके बार-बार उसके साथ दुष्कर्म करता रहा तथा बाद में उसकी वीडियो भी वायरल कर दी। महिला की शिकायत के आधार पर आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म तथा आईटी एक्ट की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके मामले की जांच शुरू की गई। 

महिला थाना की टीम ने मामले में कार्रवाई करते हुए आरोपी के घर पर रेड डाली और आरोपी को काबू कर लिया। आरोपी को अदालत में पेश करके 1 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया जिसमें पुलिस पूछताछ में सामने आया कि पीड़ित महिला का उसके पति के साथ किसी बात को लेकर विवाद चल रहा था और वह उससे अलग खेड़ीपुल एरिया में रह रही थी। आरोपी का महिला के पास आना जाना था। 4 महीने पहले जुलाई 2022 में आरोपी महिला के किराए के कमरे पर गया और उसे बहला-फुसलाकर उसके साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया और उसकी फोटो तथा वीडियो बना ली। इसके पश्चात आरोपी महिला को ब्लैकमेल करता रहा तथा वीडियो वायरल करने की धमकी देकर उसके साथ बार-बार दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। महिला ने आखिरकार तंग आकर उसका विरोध करना शुरू किया तो उसने महिला के वीडियो वायरल कर दी। पुलिस द्वारा आरोपी के कब्जे से वारदात में उपयोग मोबाइल फोन बरामद किया गया है। रिमांड पूरा होने के पश्चात आरोपी को अदालत में दोबारा पेश करके जेल भेज दिया गया है।

फरीदाबाद: क्राइम ब्रांच के हत्थे चढ़ा कुख्यात आरोपी, दर्ज हैं 5 गंभीर मुकदमें

cia-30-arrested-1-accused-with-katta

फरीदाबाद- डीसीपी क्राइम मुकेश मल्होत्रा के द्वारा अपराधिक गतिविधियों में संलिप्त आरोपियो की धरपकड़ के दिए गए दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 प्रभारी सेठी मलिक की टीम ने देसी कट्टे सहित आरोपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी का नाम मोहित है। आरोपी एनआईटी का रहने वाला है। 

क्राइम ब्रांच टीम ने आरोपी को अपने सूत्रों से प्राप्त सूचना से एत्मादपुर के पुल के पास से देसी कट्टे सहित काबू किया है। आरोपी के खिलाफ थाना सेक्टर-31 में अवैध हथियार रखने की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपी से पूछताछ में सामने आया कि आरोपी देसी कट्टे को अम्बाला रेलवे स्टेशन किसी अनजान व्यक्ति से 3500/-रु में अपने शौक के लिए खरीद कर लाया था। 

आरोपी पर पूर्व में हत्या के प्रयास, स्नैचिंग, छेडछाड और अवैध हथियार के 5 मुकदमें दर्ज है। जिसमें हत्या के प्रयास का थाना सेक्टर-31 में,स्नैचिंग का थना कोतवाली में, छेडछाड का महिला थाना एनआईटी में तथा अवैध हथियार के थाना सारन और दिल्ली में दर्ज है। आरोपी अदालद से जमानत पर था। आरोपी को पूछताछ के बाद अदालत में पेश कर जेल भेजा गया है।

महिला ने पलवल में फर्जी डिग्री से बनवाये DL और वीजा, FIR दर्ज, पुलिस से गिरफ्तारी की मांग

palwal-police-fir-358-against-shefali-for-fake-degree-dl-viza
 

पलवल : पलवल में एक गड़बड़झाला सामने आया है, एक महिला ने फर्जी डिग्री से ड्राइविंग लइसेंस भी बनवा लिया और जाली दस्तावेजों से ऑस्ट्रेलिया का वीजा बनवाकर विदेश भी घूम रही है, जब महिला के कारनामे का पता चला तो पलवल सदर थाना पुलिस ने महिला शेफाली और अन्य आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है लेकिन अभी तक गिरफ्तारी नहीं हुई है। 

मुक़दमे की डिटेल - FIR No - 358, U/s - 120B, 420, 467, 468, 471, Date 16-11-2022

आरोपियों के नाम - 

1. शैफाली पुत्री विनोद थरेजा 

2. श्रीमति ज्योति पत्नि विनोद थरेजा, निवासीगण मकान नं० ए- 14/4, न्यू कालौनी, पलवल

शिकायत की डिटेल:

शिकायतकर्ता गोविन्द राम पुत्र स्व० श्री शीशराम ने अपनी शिकायत में लिखा है - श्रीमान जी, शैफाली पुत्री विनोद थरेजा निवासी मकान नं० ए-14/4, न्यू कालौनी, पलवल जोकि मेरे छोटे भाई की घरवाली थी। जो अब उनका तलाख हो चुका है। और आस्टैलिया में रहती है। शैफाली ने फर्जी डिग्री बनवाकर और उसके आधार पर डैकयो इंडिया लि० कम्पनी व गोईंग बनानाज लि० कम्पनी में नौकरी की थी। इसके अतिरिक्त शैफाली ने अपनी फर्जी डिग्री का इस्तेमाल करके अपना वीजा पाने के लिए भी किया था। जिसमें शैफाली का आवेदन आई०डी० संख्या 1125605269, फाईल संख्या बी०सी०सी० 2017/4263247 दिनांक 13.11.2017 व आई०डी० संख्या 270ई23329 दिनांक 14.04.2019 है। श्रीमान शैफाली ने जाली शैक्षणिक दस्तावेज रखने / बनवाने, शैफाली द्वारा झूठ बोलकर धोखेबाजी से शादी करने, शैफाली व इसके परिवार द्वारा अपराधिक षड्यंत्र रचने, धोखाधड़ी करने आदि के आरोपो से आप अवगत हो । मेरे छोटे भाई के द्वारा दी गई दरखास्त पर पूर्व समय मे आगामी कार्यवाही अमल में लाते हुऐ एक सिपाही को दिनांक एक नोटिस जोकि उन्ही के कार्यालय से जारी है को इनरोलमेंट नंबर 111ABSPCM000001859 की Verification करने के लिए रजिस्ट्रार श्रीधर यूनिवर्सिटी पिलानी राजस्थान के लिए रवाना किया था और इस संबंध मे श्रीधर यूनिवर्सिटी पिलानी राजस्थान ने जवाब देते हुए स्पष्ट कहा कि 'शैफाली का जो एनरोलमेंट नंबर दर्शाया गया है वह हमारी यूनिवर्सिटी से जारी नहीं है, सैफाली हमारी शिष्या नहीं है, सम्बंधित शैक्षणिक दस्तावेज असली / वास्तविक नहीं हैं और ना ही उसने हमारे यूनिवर्सिटी से शिक्षा ग्रहण की है। श्रीधर यूनिवर्सिटी पिलानी राजस्थान ने तमाम बिंदुओं का जवाब देते हुए अपने कार्यालय से पत्र जारी किया था। जो यह सूचना मैने आपके कार्यालय की आर०टी०आई० शाखा से प्राप्त की हुई है। श्रीमान एक-एक सबूत एक ही बात उस पहलू पर यह दर्शाती है कि धोखाधड़ी और जालसाजी का कितना बड़ा खेल इस दुनिया में खेला जाता है। शैफाली ने लाईसैंसिंग अथोरिटी, पलवल से अपना ड्राईविंग लाईसैंस धोखाधडी व जालसाजी करके बनवाने व एक अन्य मामले मे भी दो फर्जी हल्फनामो बनवाने के संबंध में मुकदमे पलवल जिले मे ही दर्ज है। जिनमें अभी भी सैफाली की गिरफ्तारी बकाया है। श्रीमान जी, मैं आपसे हाथ जोड़कर विनती करता हूँ कि कृपया करके सिर्फ और सिर्फ एक बार मेरी इस अर्जी को अपने तरीके से जांच करते हुए फैसला लें। आपका फैसला मेरे लिए भगवान का फैसला होगा। मेरे पास जो भी तमाम कागजात है वो मैं आपको इस दरखास्त के साथ संलग्न कर रहा हूं। उपरोक्त दशाये मामले से शिक्षा का स्तर भी प्रभावित हुआ है। एक निष्पक्ष कार्यवाही के लिए, मैं आपका सदैव आभारी रहूँगा। 

पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा

सदर थाना पुलिस ने गोविंदराम की शिकायत पर धारा 420, 467, 468, 471, 120B IPC के तहत मुकदमा नंबर 358 दर्ज किया है हालाँकि अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है। आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद ही पता चलेगा कि फर्जी डिग्री कहाँ से बनवाई, उसके आधार पर फर्जी वीजा कैसे हासिल किया और इस अपराध में अन्य कौन कौन से लोग शामिल हैं। 

सेक्टर-7 पार्क में महिला का मर्डर करने वाले को नेपाल से पकड़ लाई फरीदाबाद पुलिस, जानिए पूरा मामला

faridabad-police-arrested-sector-7-murder-case-accused

फरीदाबादः- 21 नवम्बर: 8 नवम्बर की शाम को करीब 8 बजे पुलिस को सूचना मिली कि सैक्टर 7 के गुरूद्वारे के पीछे पार्क के पास एक औरत की लाश पडी हुई है। सूचना मिलते ही तुरन्त मौके पर डी.सी.पी. बल्लभगढ, डी.सी.पी क्राइम, ए.सी.पी क्राइम, क्राइम ब्रांच की टीमें, एफ.एस.एल की टीम व थाना प्रबंधक सैक्टर 7 घटनास्थल पर पहुंचे। घटनास्थल का निरीक्षण किया गया और पब्लिक मैन विशाल की शिकायत पर थाना सैक्टर 8 मे हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया। 

पुलिस आयुक्त विकास अरोडा के आदेश पर केस की गंभीरता को देखते हुए डी.सी.पी क्राईम मुकेश महलो़त्रा के निर्देश पर ए.सी.पी क्राईम सुरेन्द्र श्योराण के मार्ग दर्शन मे क्राईम ब्रांच की 4 टीम सी.आई.ए (सैक्टर 85 व 30 तथा सैन्ट्रल व एन.आई.टी.) की टीमो द्वारा आरोपी की धर-पकड के लिए विभिन्न पहलुओ से जांच को आगे बढाया गया। घटनास्थल के आस-पास के कई किलो मीटर तक के सी.सी.टी.वी कैमरे की फुटेज खंगाले गये। आस-पास के लोगो से पूछताछ की गई। मुखबरो को सक्रिय किया गया।

गिरफ्तार किये गये आरोपी की पहचान मनोज निवासी जिला सैमका, नेपाल हाल अपोजिट स्टेडियम सैक्टर 12 फरीदाबाद के रूप मे हुई है। आरोपी ने प्रारम्भिक पूछताछ मे बतलाया कि वह लेबर का काम करता है और दिनांक 07.11.2022 की शाम को वह लेबर चौक सैक्टर 17 फरीदाबाद से काम करके सैक्टर 7 फरीदाबाद की तरफ जा रहा था। उसे एस.आर.एस मॉल के पास बने एक पार्क के पास सडक किनारे एक औरत बैठी दिखाई दी, षराब के नशे की वजह से उस औरत को देखकर उसकी नियत खराब हो गयी। बात चीत करने के मकसद से उसके पास गया। बात ही बातो मे पता चला गचा उस औरत का उसके पति के साथ मन मुटाव होने के कारण वह यहां आकर बैठी है। आरोपी ने महिला को विष्वास मे लेने के लिए सहानुभूति जताते हुए मीठी मीठी बाते करने लगा और कहा कि मै अविवाहित हूं। तेरे से शादी कर लूंगा और अच्छे से रख लूंगा। मै लेबर का काम करता हूं। लेकिन मै खाना बनाना भी जानता हूं। मै तुझे खुश रखूंगा। तेरे को कोई परेशानी नही होने दूंगा। पति से नाराज महिला आरोपी के झांसे मे आ गयी। 

आरोपी महिला को सैक्टर 7 गुरूद्वारे के पीछे सुनसान जगह पर ले गया तथा उसके साथ शारीरिक संबंध बनाने की इच्छा जताई। महिला ने जब इसका विरोध किया तो  आरोपी ने महिला के साथ जबरदस्ती अप्राकृतिक संबंध बना डाले। जब महिला जोर से चिल्लाई तो आरोपी को लगा कि कोई शोर सुन कर आ ना जाये इसलिए महिला का सिर दीवार मे दे मारा तथा चुन्नी से महिला का गला घोट दिया। महिला के चिल्लाने से आरोपी इस कदर नाराज हुआ कि पार्क मे पडे पाईप को महिला के गुदा द्वार मे डाल दिया और मौके से फरार हो गया। आरोपी को आज अदालत से पुलिस रिमाण्ड पर लिया जायेगा और गहनता से पूछताछ की जायेगी।

4 साल से फरार चल रहे कुख्यात आरोपी को फरीदाबाद पुलिस ने धर दबोचा

faridabad-police-arrested-1-person-accused-in-murder-case

फरीदाबाद- डीसीपी क्राइम मुकेश मल्होत्रा के द्वारा अपराधियों की धरपकड़ के लिए गए दिशा निर्देश पर कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच ऊंचा गांव प्रभारी जगबीर सिंह की टीम ने हत्या के मामले में 4 साल से फरार चल रहे आरोपी को गिरफ्तार किया है, पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी मनोज  उर्फ धोलू बल्लभगढ़ की नीमका गांव का रहने वाला है। 

आरोपी ने वर्ष 2016 में हत्या की वारदात को अंजाम दिया था तथा वर्ष 2018 में लड़ाई झगड़े की वारदात को अंजाम दिया था। आरोपी दोनों ही मुकदमों में भगोड़ा घोषित किया जा चुका है। आरोपी को क्राइम टीम ने सूत्रों से प्राप्त सूचना से बल्लभगढ़ के अंबेडकर चौक से गिरफ्तार किया है। आरोपी को पूछताछ के बाद अदालत में पेश कर जेल भेजा गया है।

शराब कारोबारी के घर से 55 लाख चुराने वाले 4 आरोपी गिरफ्तार, पूरा मामला जानकर रह जाएंगे हैरान

4-accused-arrested-for-stealing-55-lakhs-from-liquor-barons-house

फरीदाबाद- डीसीपी एनआईटी नरेंद्र कादयान के दिशानिर्देश तथा एसीपी एनआईटी विष्णु प्रसाद के मार्गदर्शन में कार्रवाई करते हुए एनआईटी थाना प्रभारी इंस्पेक्टर सुनीता व उनकी टीम ने शराब कारोबारी के घर से 55 लाख रुपए की चोरी के मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए मामले में शामिल चार आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। इस मामले में अभी अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी बकाया है जिन्हें जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में सागर, रफीक, कशिश तथा संजौली का नाम शामिल है। आरोपी सागर तथा कशिश इस वारदात के मुख्य आरोपी हैं। सभी आरोपी फरीदाबाद के एनआईटी एरिया के रहने वाले हैं। चोरी की यह वारदात आज से 3 महीने पहले अगस्त 2022 में घटित हुई थी परंतु इसकी सूचना पीड़ित कारोबारी मनोज को 12 नवंबर को हुई जब उसने अपने घर के अलमारी को चेक किया तो उसे अलमारी में रखे हुए 55 लाख रुपए गायब मिले। 

व्यापारी ने इसकी शिकायत पुलिस थाना एनआईटी में दी जिसमें उसने बताया कि वह भगत कॉलोनीe रहता है और शराब ठेकेदारी का काम करता है। उसने किस्त भरने के लिए अपने मकान की अलमारी में पैसे रखे थे और जब उसने सुबह चेक किया तो उसे वह पैसे गायब मिले। शिकायत के आधार पर कार्रवाई करते हुए थाने में मुकदमा दर्ज करके मामले की जांच के लिए पुलिस टीम गठित की गई। 

पुलिस ने मामले में सीसीटीवी फुटेज खंगाले व आसपास के लोगों से पूछताछ की तथा गुप्त सूत्रों की सूचना के आधार पर पुलिस ने इस मामले में त्वरित कार्यवाही करते हुए मामले में शामिल मुख्य आरोपी सागर तथा कशिश को 13 नवंबर को नीलम चौक से गिरफ्तार कर लिया। इसके पश्चात आरोपियों की निशानदेही पर आरोपिता संजौली तथा आरोपी तांत्रिक रफीक को गिरफ्तार किया गया। आरोपी सागर तथा तांत्रिक रफीक को अदालत में पेश करके पुलिस रिमांड पर लिया गया जिसमें पुलिस रिमांड के दौरान आरोपी ने चौंकाने वाले खुलासे किए। 

पुलिस जांच के दौरान सामने आया कि आरोपियों ने चोरी की वारदात को 3 महीने पहले ही अंजाम दे दिया था। दरअसल आरोपी सागर इससे पहले शराब कारोबारी के पास ठेके पर काम करता था। शराब व्यापारी मनोज का एक भाई नितिन है और उन दोनों के मकान भगत कॉलोनी में ही स्थित है। पिछले वर्ष 2021 में व्यापारी के भाई नितिन को पैरालिसिस हो गया जिसके पश्चात व्यापारी ने सागर को उसकी देखभाल करने के लिए उसके पास छोड़ दिया। सागर का व्यापारी के भाई के घर आना जाना रहता था इसलिए इसी दौरान उसकी मुलाकात व्यापारी के भाई की लड़की कशिश से हुई और दोनों की दोस्ती हो गई। 

आरोपी सागर को सट्टा खेलने का शौक था और सट्टे के चक्कर में उसके सिर काफी कर्जा हो रखा था तो सागर काफी उदास रहने लगा। एक दिन वर्ष 2021 में ही कशिश ने जब उससे पूछा तो उसने बताया कि उसके सिर काफी कर्जा है तो कशिश ने अपने घर से जेवरात लाकर आरोपी सागर को दे दिए जिसने मुथूट फाइनेंस कंपनी से उन जेवरात पर 15 लाख रुपए का लोन ले लिया। इसके पश्चात भी आरोपी सट्टा खेलता रहा और उसने बताया कि उसके सिर अभी भी काफी कर्जा है। कशिश आरोपी सागर को पता था कि व्यापारी के पास काफी पैसा है और कशिश को यह मालूम था कि वह पैसा कहां रखा है। 

अगस्त 2022 में शराब व्यापारी हिमाचल के चंबा में स्थित अपनी रिश्तेदारी में गया था और उसकी मां अपने नए मकान में चली गई तो उनका पुराने मकान उस समय कोई नहीं था। आरोपी सागर और कशिश ने सोचा कि इस समय मकान में कोई नहीं है और चोरी करने का यही सही समय है। दोनों आरोपियों ने अपने पड़ोस में रहने वाली संजौली को चोरी के दौरान बाहर निगरानी रखने के लिए अपनी योजना में शामिल कर लिया और इसके पश्चात आरोपियों ने एक चाबी बनाने वाले को बुलाया और उससे मकान की नकली चाबी बनवा ली। 

आरोपी सागर और कशिश ने पैसों से भरा बैग अलमारी से निकाला और उसमें से 50 हज़ार रुपए संजौली को देखकर बाकी के पैसे आरोपी सागर अपने घर पर ले गया। इन पैसों में से 8 लाख रुपए कशिश ने ले लिए जिसमें से 3 लाख रुपए उसने मकान की रिपेयरिंग पर खर्च कर दिए। इसके पश्चात बाकी बचे पैसों में से आरोपी सागर ने 8 लाख रुपए अपने मकान की रिपेयरिंग पर लगा दिए 4.50 लाख रुपए की एक बरेजा गाड़ी ले ली तथा वर्ष 2021 में आभूषणों पर लिए गए को चुकाने के लिए 23 लाख रुपए भरे और जो गहने वापस प्राप्त हुए उनपर एक और लोन ले लिया। गहनों के मामले में आरोपी सागर पर एक और मुकदमा दर्ज किया गया है जिसकी अभी जांच की जा रही है। इसके अलावा आरोपी ने 5 लाख रुपए अपने मामा किशन तथा 5 लाख रुपए मौसी के लड़के नोनी को दे दिए जो सट्टा खिलवाने का काम करता है। आरोपी ने 2 लाख रुपए अपनी बहन काजल को दिए जो दिल्ली में रहती है। इसके पश्चात आरोपी ने 2 लाख रुपए एनआईटी एरिया में रहने वाले  तांत्रिक रफीक को दिए जिससे आरोपी सट्टे का नंबर लेता था। आरोपी तांत्रिक ने वह पैसे अपने मामा खुर्शीद को दे दिए जो हथीन में रहता है। 

तांत्रिक से पूछताछ में सामने आया कि तांत्रिक का कशिश के घर आना जाना था और वहीं से इसकी मुलाकात सागर के साथ हुई। सागर के माध्यम से तांत्रिक की मुलाकात सागर के मौसेरे भाई नोनी के साथ हुई थी जो सट्टा लगवाने का काम करता है। तांत्रिक के कहने पर आरोपी सागर ने एक बार नोनी के पास ढाई लाख रुपए का सट्टा लगाया था जिसमें सागर वह सट्टा जीत गया और उसे 10 लाख रुपए मिले थे। इसके पश्चात सागर को तांत्रिक पर पूरा भरोसा हो गया और उसने सागर से नोनी के माध्यम से बार-बार सट्टा लगवाया जिसमें वह हारता गया और उसके सिर पर कर्ज होता गया। कर्ज उतारने के लिए सागर ने कशिश के साथ मिलकर चोरी की वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया और जिन आरोपियों को सागर ने पैसे दिए थे उनकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है जिन्हें जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। आरोपियों के कब्जे से चोरी किए गए 13 लाख रुपए दो मोबाइल फोन तथा एक ब्रेजा गाड़ी बरामद की गई है। पुलिस पूछताछ पूरी होने के पश्चात सभी आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। आरोपी सागर जेवरात के एक अन्य मामले में पुलिस रिमांड पर चल रहा है जिसे पूछताछ पूरी होने के पश्चात अदालत में पेश  कर जेल भेजा जाएगा।

फरीदाबाद: पप्पू कश्यप का मर्डर करने वाले 2 आरोपी गिरफ्तार, 3 अभी भी फरार

faridabad-police-arrested-2-accused-in-pappu-kashyap-murder-case

फरीदाबाद: 4 दिन पहले फरीदाबाद की इंदिरा कॉलोनी में ईट पत्थर से चोट मारकर की गई 49 वर्षीय पप्पू सिंह की हत्या के मामले में डीसीपी क्राइम मुकेश कुमार मल्होत्रा व एसीपी क्राइम सुरेंद्र श्योराण के दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच डीएलएफ प्रभारी राजीव कुमार की टीम ने मामले में शामिल दो अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इस मामले में पुलिस द्वारा मामले के मुख्य आरोपी फिरोज को पहले ही जेल भेजा जा चुका है वहीं इस मामले में तीन अन्य आरोपियों सूरज, सुनील उर्फ धोड़े और गोलू की गिरफ्तारी बकाया है जिन्हें जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में रोहित उर्फ बल्ला (27) तथा बंटी (26) का नाम शामिल है। आरोपी रोहित पलवल जिले के हसनपुर एरिया का रहने वाला है वहीं आरोपी बंटी यूपी के फिरोजाबाद का निवासी है। आरोपी रोहित गैस कटिंग तथा आरोपी बंटी गुडईयर कंपनी में सफाई का काम करता है। दिनांक 9 नवंबर की रात आरोपियों ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर इंदिरा कॉलोनी के रहने वाले 49 वर्षीय पप्पू सिंह की ईट पत्थर से चोट मारकर हत्या कर दी थी। इस मामले में पुलिस द्वारा सेक्टर 8 थाने में आरोपियों के खिलाफ हत्या की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके आरोपियों की तलाश शुरू की गई। इस मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने वारदात के मुख्य आरोपी फिरोज को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया। मामले में आगे की कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच डीएलएफ ने कल आरोपी रोहित और बंटी को गिरफ्तार कर लिया। 

पुलिस जांच में सामने आया कि वारदात की रात आरोपियों ने मृतक पप्पू सिंह के नाबालिग बेटे विष्णु के साथ बैठकर शराब पी थी और रात करीब 11:45 बजे जब विष्णु और आरोपी फिरोज पप्पू सिंह के घर के बाहर पहुंचे तो पप्पू सिंह ने आरोपी फिरोज से कहा कि वह उनके बेटे को बिगाड़ रहा है और फिरोज को विष्णु से दूर रहने के लिए कहा जिससे फिरोज को गुस्सा आ गया और उसने पप्पू को गाली देना शुरू कर दिया। इसके पश्चात गाली देते देते वह चला गया और अपने दोस्तों को बुलाकर लाया जिन्होंने पप्पू को पकड़कर घर के बाहर खींच लिया और धक्का देकर उसे गली में गिरा दिया जिसके बाद उन्होंने ईट पत्थर से चोटें मारी जिसकी वजह से पप्पू बेहोश हो गया। पप्पू के परिजनों द्वारा पप्पू को छुड़ाने पर आरोपियों ने उनके साथ भी मारपीट की और परिजनों द्वारा शोर मचाने पर आरोपी मौके से फरार हो गए। पप्पू के परिजनों ने उसे बीके अस्पताल में भर्ती करवाया जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। मामले में गहनता से पूछताछ करने के लिए आरोपी को अदालत में पेश करके 1 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा और फरार चल रहे इनके 3 अन्य साथियों के बारे में जानकारी प्राप्त करके उनकी धरपकड़ की जाएगी।

नशा तस्कर भूरेलाल को फरीदाबाद पुलिस ने किया गिरफ्तार, एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज

drug-smuggler-bhure-lal-arrested-by-faridabad-police

फरीदाबाद: डीसीपी क्राइम मुकेश कुमार मल्होत्रा तथा एसीपी क्राइम सुरेंद्र श्योराण के दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच बॉर्डर ने नशा तस्करी के मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम भूरेलाल है जो यूपी के एटा का रहने वाला है और फिलहाल नई दिल्ली के फतेहपुर बेरी एरिया में किराए पर रह रहा था। 

क्राइम ब्रांच की टीम ने गुप्त सूत्रों की सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए सराय थाना एरिया में सेक्टर 35 श्मशान घाट के पास से आरोपी को अवैध नशे सहित काबू किया। तलाशी लेने पर आरोपी के कब्जे से 13 ग्राम एमडीएमए/मौली क्रिस्टल तथा 150 ग्राम गांजा बरामद किया। आरोपी से जब इसके बारे में पूछताछ की गई तो वह कोई भी संतोषजनक जवाब नहीं दे पाया जिसके पश्चात आरोपी को थाने लाकर उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज करके आरोपी को अदालत में पेश करके 1 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। 

पुलिस पूछताछ में सामने आया कि आरोपी गाड़ी चलाता है और यह नशा फरीदाबाद पहुंचाने के लिए दिल्ली के एक व्यक्ति ने उसे पैसे दिए थे जिसकी अभी जांच की जा रही है। पुलिस पूछताछ पूरी होने के पश्चात आरोपी को अदालत में दोबारा पेश करके जेल भेजा जाएगा और इसे यह नशा नशा सप्लाई करने वाले आरोपी की जानकारी प्राप्त करके उसे जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

19 वर्षीय युवती की हत्या करने वाले आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार, वजह जान रह जाएंगे हैरान

faridabad-police-arrested-murder-accused

फरीदाबाद: डीसीपी एनआईटी नरेंद्र कादयान के दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए थाना मुजेसर प्रभारी इंस्पेक्टर कबूल व पुलिस चौकी संजय कॉलोनी प्रभारी कृष्ण गोपाल की टीम ने एक दिन पहले मुजेसर एरिया में रोशनी नाम की युवती की हत्या के मामले में फरार चल रहे आरोपी महेंद्र को गिरफ्तार किया है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी महेंद्र फरीदाबाद के सेक्टर 23ए का रहने वाला है। पुलिस ने आरोपी महेंद्र को गुप्त सूत्रों की सूचना के आधार पर बल्लभगढ़ बस स्टैंड से गिरफ्तार किया है। आरोपी के खिलाफ 10 नवंबर को मुजेसर थाना में हत्या की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था जिसमें आरोपी ने अपनी दोस्त 19 वर्षीय रोशनी की हत्या कर दी थी। 

युवती के भाई किशन के अनुसार वह कल सुबह 9 नवंबर को वह सुबह घर से ड्यूटी करने के लिए निकली थी परंतु शाम को घर वापिस नहीं आई। 10 नवंबर की सुबह किसी अनजान व्यक्ति ने फोन करके किशन को बताया कि उसकी बहन रोशनी संजय कॉलोनी में सोहना मोड़ पर गंभीर हालत में पड़ी हुई है जिस पर किशन अपने परिजनों के साथ रोशनी को तलाशते हुए गया। वहां पहुंचते ही रोशनी ने बताया कि महेंद्र ने उसे चोट मारी है। किशन रोशनी को इलाज के लिए बीके अस्पताल ले गया लेकिन डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक के भाई की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके उसकी तलाश शुरू की गई जिसे 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार किया गया है। 

आरोपी ने बताया कि दिनांक 9/10 नवंबर की रात को वह रोशनी को अपने किराए के कमरे पर ले गया था जहां पर उसने रोशनी के साथ मारपीट करी और फिर उसने रोशनी तथा अपना मोबाइल फोन तोड़ दिया था ताकि वह किसी से बातचीत न कर सके और इसकी सूचना किसी के पास न पहुंचे। इसके पश्चात आरोपी ने युवती को संजय कॉलोनी में स्थित फ्रेंड्स कंपलेक्स वाली गली में ले जाकर पत्थर से कई बार रोशनी पर वार किए और चोट मारकर उसे बुरी तरह घायल कर दिया। पुलिस जांच में सामने आया कि आरोपी की मुलाकात रोशनी के साथ 3 साल पहले प्राइवेट कंपनी में हुई थी जिसके पश्चात वह दोनों आपस में बातचीत करने लगे और उन्हें एक दूसरे से प्यार हो गया।

आरोपी ने रोशनी द्वारा किसी अन्य व्यक्ति के साथ बातचीत करने तथा प्रेम प्रसंग के चलते युवती की हत्या की थी। आरोपी पहले से शादीशुदा है जिसके दो बच्चे हैं। आरोपी की पत्नी ने यूपी के हाथरस में तलाक का केस डाला हुआ है। आरोपी को शक हुआ कि रोशनी किसी अन्य लड़के से बातचीत करती है जिसके कारण गुस्से में आकर उसने पीट-पीटकर हत्या कर दी। पुलिस द्वारा आरोपी के किराए के कमरे से मृतक युवती का टूटा हुआ मोबाइल फोन तथा ईट का टुकड़ा बरामद किया गया है जिससे आरोपी ने युवती को चोट पहुंचाई थी। पुलिस द्वारा आरोपी को अदालत में पेश करके पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा और उसके कब्जे से युवती के कागजात, वारदात में उपयोग पत्थर तथा आरोपी के कपड़े बरामद किया जाएंगे।

फरीदाबाद में एक और मर्डर, फिरोज ने साथियों संग मिलकर पप्पू कश्यप की कर दी ह'त्या

pappu-kashyap-murder-in-faridabad-sector-7-indira-nagar
मृतक मृतक पप्पू कश्यप की फ़ाइल फोटो

फरीदाबाद: दो दिन पहले सेक्टर-7 में पार्क के पास एक महिला का क्षत-विक्षत अवस्था में शव मिला था, पुलिस ने मर्डर की आशंका जताते हुए हत्या का मुकदमा दर्ज किया है, अब सेक्टर-7 इंदिरा नगर में मामूली झगड़े में एक व्यक्ति की ह्त्या कर दी गई. आरोप है कि फिरोज ने अपने साथियों संग मिलकर पप्पू कश्यप की पत्थर मारकर ह्त्या कर दी. यह घटना बीती रात लगभग 11-12 बजे की है. मृतक पप्पू कश्यप अपना परिवार चलाने के लिए चाय बेंचते थे. 

आपको बता दें कि आरोपी फिरोज और मृतक का घर आमने-सामने है, फिरोज के घरवाले घर में ताला लगाकर फरार हैं, मृतक पप्पू कश्यप की पत्नी सीमा ने फरीदाबाद न्यूज़ से बात करते हुए घटना की पूरी जानकारी दी. मृतक की पत्नी के मुताबिक़, 'उसके बड़े बेटे को फिरोज दारु पिला रहा था, जब उन्होंने मना किया तो फिरोज भड़क गया और कहासुनी होने लगी, कहासुनी से बात खूनी संघर्ष तक पहुँच गई. 

मृतक के परिवार वालों ने कहा कि फिरोज ने अपने कई साथियों को बुला लिया और पत्थरबाजी करने लगा, इसी दौरान पत्थर पप्पू के सर में लग गया, उन्हें आनन्-फानन में ईलाज के लिए बीके अस्पताल ले जाया गया, जहाँ उनकी मौत हो गई, मृतक पप्पू की पत्नी और छोटे बेटे को भी चोट आई है, मृतक पप्पू के बेटे ने बताया कि इस घटना में फिरोज के साथ सूरज, गोरु, बंटी और ढोडे भी शामिल थे, फ़िलहाल फरीदाबाद न्यूज़ को सूत्रों के हवाले से जानकारी मिली है कि पुलिस ने मुख्य आरोपी फिरोज को गिरफ्तार कर लिया है और अन्य आरोपियों की तलाश जारी है. नीचे देखें वीडियो।

7 साल से फरार चल रहे ईनामी भैंस चोर रक्कू और आरिफ को फरीदाबाद पुलिस ने किया गिरफ्तार

crime-branch-arrested-2-accused

फरीदाबाद- डीसीपी क्राइम मुकेश मल्होत्रा के द्वारा शहर में अपराधिक मामलों में संलिप्त आरोपियों की धरपकड़ के दिए गए दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच सेक्टर 56 प्रभारी राकेश कुमार की टीम ने भैंस चोरी के मामले में 7 वर्ष से फरार चल रहे दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों में मोहम्मद आरिफ और रुक्कु उर्फ रूकमुदीन का नाम शामिल है। दोनों आरोपी नूंह जिले के बीबीपुर गांव के रहने वाले हैं। 

क्राइम ब्रांच टीम ने दोनों आरोपियों को अपने सूत्रों से प्राप्त सूचना से फरीदाबाद के सेक्टर 24 एरिया से थाना मुजेसर के भैंस चोरी के मुकदमे में गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने वर्ष 2015 में थाना मुजेसर के एरिया में अपने साथियों के साथ मिलकर एक मकान से भैंस चोरी करने की वारदात को अंजाम दिया था। वारदात को अंजाम देते समय भैंस मालिक जाग गया था जिसको लाठी-डंडे से डरा धमका कर भैंस चोरी कर ली थी। 

मामले में 4 आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार कर भैंस और वारदात में प्रयोग पिकअप गाड़ी बरामद की जा चुकी है। क्राइम ब्रांच टीम आरोपियों को तलाश कर रही थी। आरोपियों को राजस्थान के अलवर जिले के कई गांव में और नूहं जिले के कई गांव में लगातार रेड की गई थी। आरोपी रुक्कु उर्फ रूकमुदीन पर थाना डबुआ में एक्सीडेंट कर हत्या की कोशिश और अवैध हथियार का मामला दर्ज है। दोनों आरोपियों को पूछताछ के बाद अदालत में पेश कर जेल भेजा गया है।

फरीदाबाद: सट्टेबाजी में हारे पैसे तो धमकी देकर व्यापारी से मांगी रंगदारी, 3 आरोपी गिरफ्तार

crime-branch-sector-30-arrested-3-accused-in-extortion-case

फरीदाबाद: डीसीपी क्राइम मुकेश कुमार मल्होत्रा के दिशा निर्देश पर और एसीपी क्राइम सुरेंद्र स्योराण के मार्गदर्शन में कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच 30 प्रभारी इंस्पेक्टर सेठी मलिक की टीम ने व्यापारी से रंगदारी मांगने के मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। एसीपी क्राइम सुरेंद्र श्योराण ने प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में हारून, नीतीश तथा नीतीश के चाचा राकेश का नाम शामिल है। 

आरोपी नीतीश तथा राकेश बल्लभगढ़ के रहने वाले हैं वहीं आरोपी हारून दिल्ली के मुस्तफाबाद का निवासी है। 2 दिन पहले पुलिस थाना एनआईटी में सेक्टर 21 एरिया के रहने वाले व्यापारी राकेश ने शिकायत दी थी जिसमें उन्होंने बताया कि वह शादी के लिए फार्म हाउस किराए पर देते हैं। 2 दिन पहले उन्हें किसी अनजान नंबर से फोन आया था जिसमें आरोपी ने उनसे 20 लाख रुपए की रंगदारी मांगी थी और पैसे नहीं देने की सूरत में उनके और उनके परिवार को जान से मारने की धमकी दी। 

पीड़ित ने इसकी सूचना पुलिस को दी जिसके पश्चात थाने में मामला दर्ज करके आरोपियों की तलाश शुरू की। क्राइम ब्रांच की टीम ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए तकनीकी सहायता के आधार पर आरोपियों को मात्र 48 घंटे के अंदर काबू कर लिया। प्राथमिक पूछताछ में सामने आया कि आरोपी हारून तथा आरोपी नीतीश कुछ समय पहले जेल में बंद थे। आरोपी हारून अवैध हथियार तथा आरोपी नीतीश लड़ाई झगड़े के मामले में बंद था। वहां दोनों की दोस्ती हो गई और तीन चार महीने पहले दोनों आरोपी जेल से बाहर आ गए। आरोपी नीतीश का चाचा आरोपी राकेश जो सट्टाखाई का काम करता है जिसे पिछले दिनों सट्टेबाजी में लाखों रुपए का नुकसान हुआ था। 

आरोपियों को पैसों की जरूरत थी इसलिए उन्होंने रंगदारी मांगने का योजना बनाई। आरोपी राकेश को पता था कि व्यापारी के पास अच्छा खासा पैसा है और वह आसानी से पैसे दे देगा। राकेश ने यह बात अपने भतीजे आरोपी नीतीश को बताई और नीतीश ने इसकी जानकारी अपने साथी आरोपी हारून को दी। आरोपी राकेश ने कहा कि वह इसी एरिया के रहने वाले हैं इसलिए उनकी आवाज पहचान में आ सकती है तो उन्होंने हारून से व्यापारी को फोन करवाया। पुलिस द्वारा आरोपियों से पूछताछ जारी है। मामले में गहनता से पूछताछ करने के लिए आरोपियों को अदालत में पेश करके पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा और इसमें शामिल अन्य किसी आरोपी के बारे में जानकारी हासिल करके कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

फरीदाबाद: अपने चचा की ह्त्या करने वाले आबिद और साजिद गिरफ्तार

crime-branch-arrested-2-accused-in-murder-case

फरीदाबाद: डीसीपी क्राइम मुकेश कुमार मल्होत्रा के दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच 65 प्रभारी ब्रह्म प्रकाश की टीम ने एक सप्ताह पहले के हत्या के मुकदमे में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में आबिद उर्फ बंटी तथा साजिद का नाम शामिल है जो पलवल जिले के खल्लुका गांव के रहने वाले हैं। 

दोनों आरोपी सगे भाई हैं और ट्रांसपोर्ट नगर में ड्राइवरी की नौकरी करते हैं। 28 अक्टूबर को पुलिस थाना सेक्टर 58 में मुकदमा दर्ज किया गया था जिसमें आरोपियों ने ट्रांसपोर्ट नगर में अपने चाचा कामिल की सिर में रोड मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया था। वारदात को अंजाम देने के पश्चात आरोपी मौके से फरार हो गए। 

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का मुआयना किया तथा घायल कामिल को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई। मृतक के परिजनों की शिकायत के आधार पर आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके आरोपियों की तलाश शुरू की गई। क्राइम ब्रांच ने इस मामले में आगे की कार्रवाई करते हुए दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों के कब्जे से लाठी डंडा तथा लोहे की रॉड बरामद की जा चुकी है। प्राथमिक पूछताछ में सामने आया कि आरोपी पक्ष का पीड़ित पक्ष के साथ गांव में जमीन को लेकर विवाद चल रहा था जिसमें दोनों पक्षों के बीच कई बार गाली गलौज हुई थी। 

28 अक्टूबर को आरोपियों के पलवल स्थित गांव में आरोपियों के छोटे भाई ने मृतक के छोटे भाई के साथ इसी रंजिश के चलते मारपीट की थी। गांव में हुई मारपीट के पश्चात दोनों पक्षों ने फोन करके इसकी जानकारी ट्रांसपोर्ट नगर में रह रहे चाचा भतीजों को दी जिसके पश्चात इनका यहां पर विवाद हुआ और आरोपियों ने लाठी-डंडे और लोहे की रॉड से सिर में चोट मारकर अपने चाचा कामिल की हत्या कर दी। मामले में गहनता से पूछताछ करने के लिए आरोपियों को अदालत में पेश करके पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा।

किराएदार ने मकान मालिक के घर में घुसकर चुराए लाखों रूपये, फरीदाबाद पुलिस ने किया गिरफ्तार

faridabad-police-arrested-1-accused

फरीदाबाद: डीसीपी एनआईटी नरेंद्र कादियान के दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए एनआईटी थाना प्रभारी इंस्पेक्टर सुनीता व उनकी टीम ने 3.70 लाख रुपए की चोरी के मामले में आरोपी किराएदार को गिरफ्तार किया है। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम प्रिंस (22) है जो फरीदाबाद रेलवे स्टेशन के पास स्थित गांधी कॉलोनी में किराए के मकान में रह रहा था। 

आरोपी ने 4 दिन पहले अपने मकान मालिक के घर से 3.70 लाख रुपए चोरी किए। पुलिस को दी अपनी शिकायत में मकान मालिक सन्नी ने बताया कि गांधी कॉलोनी में उनका तीन मंजिला मकान है जिसमें सबसे नीचे वह खुद रहते हैं और ऊपर की दो मंजिल उन्होंने किराए पर दे रखी है। उन्होंने मकान खरीदने के लिए अपने घर की अलमारी में 3.70 लाख रुपए रखे थे। उन्होंने बताया कि उनकी वहीं पास में ही एक परचून की दुकान है जिस पर वह और उसके पिताजी रहते हैं। घर पर उनकी मां रहती है जो 4 दिन पहले शाम को दूध लेने गई थी और जब वापस आई तो उन्हें घर में से पैसे गायब थे।

उन्होंने अपने किराएदार प्रिंस पर शक जताया जिसके पश्चात पुलिस ने चोरी की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके मामले की जांच शुरू की। इस मामले में आगे कार्रवाई करते हुए पुलिस ने आरोपी प्रिंस को फरीदाबाद रेलवे स्टेशन से काबू कर लिया। पुलिस जांच में सामने आया कि आरोपी ने ही पैसे चोरी किए थे।पुलिस पूछताछ में सामने आया कि आरोपी पिछले 5 साल से उस मकान में किराए पर रह रहा था। 

आरोपी एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता है। आरोपी का मकान मालिक के पास आना जाना था इसलिए उसे पता था कि वह चाबी कहां पर रखते हैं। आरोपी को जब पता चला कि इनके पास अच्छे खासे पैसे हैं तो उसने पैसों के लालच में आकर अपने ही मकान मालिक के घर चोरी कर ली। आरोपी ने बताया कि पैसे चोरी करके उसने पुराने स्पीकर के डब्बे के अंदर रख दिए और ऊपर से पेच कस दिए। आरोपी की निशानदेही पर उसके कब्जे से 3.60 लाख रुपए बरामद किए गए। पुलिस पूछताछ पूरी होने के पश्चात आरोपी को अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है।

मोहित यादव ह्त्या मामलें में क्राइम ब्रांच DLF ने एक और आरोपी को किया गिरफ्तार

crime-branch-dlf-arrested-1-more-accused-in-mohit-murder-case

फरीदाबाद: डीसीपी क्राइम मुकेश कुमार मल्होत्रा के दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच डीएलएफ ने 26 अक्टूबर को लाठी-डंडों से चोट मारकर की गई मोहित की हत्या के मामले में दूसरे आरोपी को गिरफ्तार किया है, पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम मुकेश है जो फरीदाबाद के रिवाजपुर का रहने वाला है। 

26 अक्टूबर को मृतक मोहित की पत्नी द्वारा भूपानी थाने में शिकायत दी जिसमें उसने बताया कि 25/26 अक्टूबर की रात आरोपी व उसके 10-11 अन्य साथियों ने कुल्हाड़ी लाठी व डंडों से चोट मारकर मोहित तथा मोहित के साथी नवीन को गंभीर रूप से घायल कर दिया। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर मोहित और नवीन को अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टर ने मोहित को मृत घोषित कर दिया। पुलिस द्वारा मोहित के शव का पोस्टमार्टम करवा कर उनके परिजनों के हवाले किया गया। मोहित की पत्नी की शिकायत के आधार पर आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके उनकी तलाश शुरू की गई। 

इस मामले में कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच डीएलएफ ने वारदात की मुख्य आरोपी करण को 26 अक्टूबर को ही गिरफ्तार कर लिया था। इसके पश्चात कल आरोपी करण के पिता आरोपी मुकेश को भी फरीदाबाद से गिरफ्तार किया गया। पुलिस पूछताछ में सामने आया कि दोनों पक्षों की किसी बात को लेकर रंजिश थी जिसके चलते आरोपियों ने मोहित की हत्या कर दी। आरोपी मुकेश की उम्र 47 वर्ष है और वह यामाहा कंपनी में गाड़ी चलाता है। मृतक मोहित (30) गांव देहा का रहने वाला है। 

मोहित के खिलाफ भी थाना भूपानी में  लड़ाई झगड़े ,स्नैचिंग इत्यादि के पांच मुकदमे दर्ज हैं इसके अलावा थाना खेड़ी पुल में भी हत्या, स्नैचिंग, लड़ाई झगड़ा और अवैध हथियार सहित 4 मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस पूछताछ पूरी होने के पश्चात आरोपी को अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है तथा वारदात में शामिल आरोपी के अन्य साथियों की तलाश की जा रही है जिन्हें जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।


ई-रिक्शा चलाने वाले ने चुरा ली कार, फरीदाबाद पुलिस ने किया गिरफ्तार

crime-branch-uncha-gaon-arrested-1-accused

फरीदाबाद: डीसीपी क्राइम मुकेश कुमार मल्होत्रा के दिशा निर्देश कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच ऊंचागांव प्रभारी जगबीर सिंह की टीम ने चोरी के मुकदमे में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम करण है जो दिल्ली के पहलादपुर का रहने वाला है। 

आरोपी ई रिक्शा चलाता है। दिनांक 20 अक्टूबर को पुलिस थाना सेक्टर 31 में चोरी की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था जिसमें आरोपी ने 17 अक्टूबर की रात सेक्टर 29 एरिया में स्थित एक मकान के बाहर खड़ी सैंटरो गाड़ी चोरी की थी। शिकायत के आधार पर चोरी का मुकदमा दर्ज करके पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू की। 

क्राइम ब्रांच की टीम ने इस मामले में आगे कार्रवाई करते हुए गुप्त सूत्रों की सूचना के आधार पर आरोपी को चोरी की गाड़ी सहित सेक्टर 8 पुल से काबू कर लिया। आरोपी के कब्जे से चोरी की गाड़ी बरामद करके पूछताछ शुरू की गई। पुलिस पूछताछ में सामने आया कि आरोपी ई रिक्शा चलाता है और 17 अक्टूबर की रात वह चोरी के इरादे से फरीदाबाद आया था। उसके पास एक गाड़ी की चाबी थी जिसे उसने सैंटरो गाड़ी में लगाकर देखा तो वह काम कर गई और आरोपी गाड़ी को चोरी करके फरार हो गया। पुलिस पूछताछ पूरी होने के पश्चात आरोपी को अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है।


फरीदाबाद: चाकुओं से गोदकर की गई गौरव भड़ाना की ह'त्या

gaurav-bhadana-murder-in-anangpur-faridabad

अनंगपुर गाँव में चाक़ू से हमला करके गौरव भड़ाना नाम के युवक की ह्त्या कर दी गई, इस मामलें में पुलिस ने मुकदमा दर्ज करके आरोपी की तलाश शुरू कर दी है, पुलिस के मुताबिक़, मृतक के चचेरे भाई आरोपी अंकित व इसके साथियों ने पुरानी रंजिश के चलते दिया हत्या की वारदात को अंजाम दिया। मृतक गौरव के भाई सोनू की शिकायत के आधार पर हत्या की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.

पुलिस के मुताबिक़, रात को आरोपी अंकित ने फोन करके सोनू व उसके परिजनों को गालियां दी थी, परिजनों ने उस वक्त जैसे तैसे दोनों को शांत करवाया। आज सुबह सोनू तथा गौरव नया ऑटो खरीदने के लिए घर से निकले और अनंगपुर बस स्टैंड पर रुके थे, मौके पर अंकित तथा उसके दो तीन अन्य साथी पहुंचे, आरोपी अंकित ने चाकू से गौरव की छाती पर कई वार किए और सोनू के साथ मारपीट की, भीड़ को देखकर आरोपी मौके से फरार हो गए, इलाज के लिए गौरव को एशियन अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां डॉक्टर ने गौरव को मृत घोषित कर दिया।

पुलिस द्वारा मृतक का पोस्टमार्टम करवा कर शव को परिजनों के हवाले किया गया है। पुलिस ने कहा, वारदात में शामिल आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।