Followers

Showing posts with label Crime. Show all posts

कालेधन को सफ़ेद करने के मामले में जेल में बंद केजरीवाल के मंत्री की बीवी को भी मिला ED का समन

delhi-minister-satyendra-jain-wife-poonam-jain-get-ed-summon
 

Delhi News: Money Laundering Case यानी काले धन को सफ़ेद करने के मामले में अरविन्द केजरीवाल के विश्वस्त आदमी और स्वास्थय मंत्री सत्येंद्र जैन करीब डेढ़ महींने से तिहाड़ जेल में बंद हैं, कुछ दिनों पहले दिल्ली विधानसभा में भाषण के दौरान मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने उनकी तुलना भगत सिंह से की थी। 

इस मामले में अब ED ने मंत्री सत्येंद्र जैन की पत्नी पूनम जैन को भी पूछताछ के लिए समन जारी किया है, ED के समन के मुताबिक़ पूनम जैन को 14 जुलाई को ED के दफ्तर में पहुंचकर जांच में शामिल होना है। 


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सत्येंद्र जैन के खिलाफ जांच कई वर्षों से चल रही है लेकिन उनकी गिरफ्तारी करीब डेढ़ महीनें पहले हुई थी, उन्हें भी पहले जांच में शामिल होने के लिए समन मिला था जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया, केजरीवाल और मनीष सिसोदिया पहले कह रहे थे कि सत्येंद्र जैन दो चार दिन में बाहर आ जाएंगे लेकिन जब उनकी डेढ़ महीनें में भी कोर्ट से जमानत नही हुई तो अब केजरीवाल उन्हें भगत सिंह बताने लगे हैं। 

फार्मेसी काउंसिल घूसखोरी कांड में BOSS की गिरफ्तारी के लिए दौड़-भाग जारी, HM से मिले शिकायतकर्ता

haryana-pharmacy-council-bribe-case-update

चंडीगढ़:  हरियाणा फार्मेसी काउंसिल में घूसखोरी कांड में दो मुख्य आरोपी अभी भी फरार हैं और विजिलेंस की गिरफ्तार से बाहर हैं जिसमें BOSS भी शामिल हैं। BOSS की गिरफ्तारी मुश्किल लग रही है क्योंकि उन्हें दो विभागों का चेयरमैन ऐसे ही नहीं बनाया गया है, उनकी पहुँच बहुत ऊपर तक है। काउंसिल के पूर्व सदस्य इस मामले में BOSS की गिरफ्तारी के लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री अनिल विज से भी मिल चुके हैं। 

सामने आयी एक चिट्ठी - हुए कई खुलासे

हरियाणा राज्य फार्मेसी काउंसिल के सदस्यों की एक चिट्ठी सामने आई है, जिसमें उन्होंने लगभग तीन महीने पहले साफ कर दिया था कि काउंसिल में रजिस्ट्रेशन के लिए 50 से 80 हजार रिश्वत वसूली जा रही है। सदस्यों की चिट्ठी को स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने रद्दी की टोकरी में फैंक दिया था। मामले में एक जांच करवाकर कोई कार्रवाई नहीं की। 

कौंसिल के सदस्य रविंद्र चौपड़ा, पूर्व रजिस्ट्रार एवं सदस्य अरुण पराशर, सुरिंद्र सालवान, पंचकूला सेक्टर 10 निवासी भाजपा नेता बीबी सिंगल, पूर्व प्रधान कृष्ण चंद गोयल की हस्ताक्षरयुक्त यह चिट्ठी काउंसिल की पूरी कलई खोल रही है। इस चिट्ठी में सीधे तौर पर रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट्स पर हस्ताक्षर करने वाले BOSS की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए गए थे। 

चिट्ठी में कहा गया था BOSS ने पूरे काउंसिल कार्यालय को अपने कब्जे में ले रखा है। कोई भी कर्मचारी उनकी इजाजत के बिना एक भी फाइल प्रोसेस नहीं करता। काउंसिल में आने वाली डाक, डायरी से लेकर नई रजिस्ट्रेशन एवं रिन्यूवल का पूरा काम BOSS ने दो महिला कर्मचारियों को सौंप दिया है, जोकि काउंसिल के किसी भी सदस्य की बात नहीं सुनती और जब भी उनसे किसी फाइल के बारे में पूछा जाता है, तो एक ही जबाव मिलती है कि BOSS से बात करो। इन सदस्यों ने स्वास्थ्य एवं गृहमंत्री अनिल विज से भी मुलाकात की थी। हरियाणा के फार्मासिस्ट प्रदेश सरकार से मांग कर रहे हैं कि फार्मेसी काउंसिल को भ्रष्टाचार का अड्डा बनाने वाले BOSS और उनके साथियों को तुरंत प्रभाव से उनके पद एवं सदस्यता से बर्खास्त करके 6 साल तक उनके दोबारा चुनाव लडऩे पर भी रोक लगाई जाए।

BOSS और उनके साथी ही करते थे बैंक आपरेट

काउंसिल के सदस्यों अरुण पराशर, बीबी सिंगल, केसी गोयल, रविंद्र चौपड़ा, सुरिंद्र सालवान ने बताया कि BOSS को हरियाणा राज्य फार्मेसी परिषद के सदस्य के रूप में नामित होने के बाद 17 मार्च 2020 के बाद अध्यक्ष के रूप में अधिसूचित नहीं किया गया था। राज्य सरकार के अनुसार BOSS को 17 मार्च 2020 के बाद से अध्यक्ष, हरियाणा राज्य फार्मेसी परिषद के रूप में अधिसूचित नहीं किया गया है, इसलिए तब से अध्यक्ष के रूप में अवैध तौर पर काबिज हैं। 

2019 से 2020 तक बड़ी अनियमितताएं बरती

वर्ष 2019 से 2020 तक, लगभग 18 महीनों तक, उन छात्रों का कोई पंजीकरण नहीं हुआ, जो हरियाणा राज्य के बाहर से बारहवीं/फार्मेसी उत्तीर्ण हैं। आवेदकों के कई अभ्यावेदन के बावजूद 2019 से नए पंजीकरण के लिए कई आवेदन लंबित हैं, इस मामले पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। कई बार आवेदकों को बिना कोई कारण बताए आवेदन प्राप्त करना बंद कर दिया जाता है, जिससे उन्हें परेशान किया जाता है और इस प्रकार नौकरियों के लिए कीमती समय और अवसरों को खो दिया जाता हैै। BOSS अपनी मर्जी से कार्यालय चला रहे हैं। कई सीएम विंडोज़ पर शिकायतें दर्ज की गई हैं, लेकिन कोई जबाव नहीं दिया।  

खूब भ्रष्टाचार किया गया

अरुण पराशर, बीबी सिंगल, सुरेंद्र सालवान, केसी गोयल ने अपने ब्यानों में बताया है कि हरियाणा में राज्य फार्मेसी काउंसिल में पंजीकृत होने के लिए 50 हजार से 80 हजार रुपये रिश्वत के रूप में देने पड़ते हैं, खासकर उन छात्रों को जिन्होंने हरियाणा राज्य के बाहर से बारहवीं/ फार्मेसी पास की है। 20 मार्च 2022 को हरियाणा सेवा का अधिकार आयोग ने भ्रष्ट आचरण की ओर इशारा करते हुए फार्मेसी काउंसिल के कामकाज पर अपनी नाराजगी दर्ज करते हुए एक आदेश पारित किया था। रिकॉर्ड सीधे करने के लिए या कभी-कभी अदालतों के हस्तक्षेप पर छात्रों का नया पंजीकरण किया जाता है, लेकिन भेजा नहीं जाता है, केवल चयनित आवेदकों को पंजीकरण प्रमाण पत्र प्रदान किया जाता है, बाकी को कार्यालय में रखा जाता है।

आपको बता दें कि BOSS फरार रहकर अपने बचाव का उपाय ढूंढ रहे हैं और कुछ मीडिया चैनलों के जरिये खुद को पाक साफ़ साबित करने का प्रयास कर रहे हैं, बॉस की तरफ से जब भी कोई बयान या स्पस्टीकरण आएगा हम आपको जरूर बताएंगे।

पकड़ा गया दीन मुहम्मद, नकली दरोगा बनकर करता था चोरी-डकैती, ड्रग-तस्करी, नकली नोट जैसे अपराध

avt-hathin-palwal-police-arrested-fake-police-sub-inspector-criminal-deen-muhammad

Palwal News: पलवल पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है, नकली दरोगा बनकर चोरी डकैती, ड्रग तस्करी जैसे दर्जनों अपराधों को अंजाम देने वाले दीन मुहम्मद नामक आरोपी को पकड़ा गया है और आरोपी को रिमांड में लेकर अन्य वारदातों का खुलासा किया जाएगा। 

AVT हथीन प्रभारी उपनिरीक्षक सत्यवान ने प्रेस वार्ता में जानकारी देते हुए बताया कि श्री राजेश दुग्गल आईपीएस पुलिस अधीक्षक पलवल की अगुवाई में उनकी टीम लगातार अपराधियों पर अंकुश लगाने में सफल चली हुई है। इसी कड़ी में गत दिनांक 3 जुलाई 2022 को स्टाफ में तैनात सहायक उपनिरीक्षक सतपाल सिंह की टीम के साथ पड़ताल जुराइम गस्त बुराका रोड़ नहर पुल हथीन मोजूद थे जहां उन्हें विश्वसनीय सूत्रों से सूचना प्राप्त हुई कि एक युवक जिसके पास काफी नकली नोट है जो उतर प्रदेस पुलिस का नकली परीचय पत्र वा वर्दी रखता ह ताकि नकली नोट आसानी से चलाये जा सके लोग उस पर सक ना करें जो अब नकली नोटों सहित वा वर्दी सहित नोटों को चलाने के लिये मोटरसाइकिल न० HR 14 Q 3873 पर गाव बुराका की तरफ जाएगा सूचना के आधार पर तुरंत नाका बन्दी शरू की गई जो कुछ देर बाद एक व्यक्ति सफेद रंग की टीसर्ट वा वर्दी वाले लाल रंग के जुते पहने हुये वा मोटरसाइकिल न० HR 14 Q 3873 पर हथीन शहर की तरफ से आता दिखाई दिया जिसने सामने खड़ी पुलिस पार्टी को देख कर अपनी मोटरसाइकिल को एक दम वापिस मोड़ने लगा जिस को बमुश्किल काबू किया गया।

*आरोपी की पहचान दीन मोहम्मद उर्फ दीनू पुत्र सोदान वासी बैसी जिला नुह हाल जलेबखां कालोनी हथीन जिला पलवल के रूप में हुई*

आरोपी से बरामद थेला रंग सफेद की मन तलासी मे एक खाखी रंग की वर्दी पेंट सर्ट वा लाल रंग की बेल्ट मिली बेल्ट पर राजस्थान पुलिस का बेज लगा हुआ जो सर्ट के दोनों सोलडरो पर तीन-3 स्टार वा निचे कंधे पर राजस्थान पुलिस का बेज लगा वा बाएँ कंधा पर उतरप्रदेस पुलिस का लोगो लगा हुआ मिला वा आरोपी से बरामद  काले रंग का पर्स में चार नोट 500 के 16 नोट 200 के 6 नोट 100 के 7 नोट 50 के कुल 6150 रुपए नकली नोट बरामद हुए वा एक उतर प्रदेस पुलिस का नकली परीचय जिसके उपर रामअवतार यादव सिविल इंस्पेक्टर लिखा हुआ वा दूसरी तरफ रामेस्वर यादव फेसलाबाद जिला बुलंद शहर लिखा हुआ जिस पर वर्दी में एक फोटो आरोपी दिन महोम्द का लगा हुआ मिला। इसके अलावा आरोपी  मोटरसाइकिल के कोई दस्तावेज पेस नही कर सका। मोटरसाइकिल न० HR 14Q 3873 मार्का हीरो, नकली रुपयों वा नकली परीचय पत्र, आधार कार्ड, वर्दी,जूतों,बेल्ट,जुराब को कब्जे में लेकर आरोपी के खिलाफ संबंधित धाराओं के तहत थाना हथीन में मामला मुकदमा न० 256 दिनांक 03/07/2022 जुर्म  170/420/467/468/471/489B IPC थाना हाथिन जिला पलवल पंजीबद्ध किया गया।

आगे जानकारी देते हुए प्रभारी AVT ने बताया कि आरोपी  के विरुद्ध लूट डकैती मादक पदार्थ तस्करी अवैध हथियार रखना चोरी आदि 1 दर्जन से अधिक संगीन मामले होने बारे हारियाणा, उतर प्रदेश,राजस्थान वा देहली का अपराधिक रिकार्ड है, जिनका विवरण इस प्रकार है-

(1) मु० 509 /17 जुर्म 420/504/506IPC थाना कोसी कला जिला मथुरा(PO)

(2)मु० 538 /17 जुर्म NDPS ACT थाना कोसी कला जिला मथुरा

(3)मु० 539 /17 जुर्म Ar Act थाना कोसी कला जिला मथुरा

(4)मु० 285 /17 जुर्म 323/420/506IPC थाना छाता जिला मथुरा

(5)मु० 83/99 जुर्म 394/411/34 IPC थाना कोसी टपुकड़ा राजस्थान(PO)

(6)मु० 132 /14 जुर्म 468/411/IPC&A Act थाना सपैशल सैल देहली

(7)मु० 275 /93 जुर्म 392/IPC &A Act थाना शहर बलबगढ फरीदाबाद (PO)

(8)मु० 422/93 जुर्म 395/307 186/353 IPC & A Act थाना शहर बलबगढ फरीदाबाद (PO)

(9) मु० 423 /93 जुर्म A Act थाना शहर बलबगढ फरीदाबाद (PO)

(10)मु० 40 /14 जुर्म 379/IPC  थाना महरोली देहली 

(11)मु ० 170 /97 जुर्म  &A Act थाना सदर गुडगाँव 

(12)मु० 341 /97 जुर्म  A Act थाना शहर बलबगढ फरीदाबाद।

वाइस चेयरमैन तो पकडे गए, क्या चेयरमैन धनेश अधलखा भी होंगे गिरफ्तार, जानिये क्या लिखा है FIR में

fir-against-dhanesh-adhlakha-haryana-state-pharmacy-council-chairman
 

फरीदाबाद, 3 जुलाई: हरियाणा स्टेट फॉर्मेसी कॉउंसिल के चेयरमैन धनेश अधलखा, वाइस चेयरमैन सोहन लाल कैंसल, रजिस्ट्रार राजकुमार वर्मा और इनके कथित दलाल सुभाष चंद्र अरोड़ा के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है और वाइस चेयरमैन सोहन लाल कैंसल की गिरफ्तारी भी हो गयी है। अब फरीदाबाद के पार्षद और चेयरमैन धनेश अधलखा पर भी गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है। 

हर कोई जानना चाहता है  कि धनेश अधलखा और अन्य तीनों पर मुकदमा क्यों दर्ज हुआ है। हम आपको FIR की कॉपी दिखा रहे हैं जिसमें आप पूरा मामला पढ़ सकते हैं - 




FIR में लिखा है कि फार्मासिस्टों का लाइसेंस करने के नाम पर सुभाष कुमार अरोड़ा लोगों से 65000 रुपये से लेकर 1 लाख रुपये तक लेता था और ऐसा करके सर्टिफिकेट पर चेयरमैन धनेश अधलखा, वाइस चेयरमैन सोहनलाल कंसल और रजिस्ट्रार राजकुमार वर्मा का सिग्नेचर करवा कर देता था, FIR में दो लोगों से रिश्वत लेने का जिक्र है। इनके खिलाफ काफी दिनों से जांच चल रही थी और मुख्यमंत्री के संज्ञान ने भी ये मामला लाया गया था जिसके बाद अब कार्यवाही हो रही है। इस मामले में आगे जो भी होगा पाठकों को अपडेट किया जाएगा। इस मामले में अभी तक पार्षद धनेश अधलखा और अन्य आरोपियों की तरफ से कोई बयान या सफाई नहीं आयी है। इनके स्पष्टीकरण का भी इन्तजार है। 

बीटेक करने के बाद नौकरी की तलाश में आये युवक ने उठाया गलत कदम, क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार

crime-branch-arrested-b-tech-smack-smuggler

फरीदाबाद: डीसीपी क्राइम नरेंद्र कादयान द्वारा नशा तस्करी पर अंकुश लगाने के लिए इसमें संलिप्त आरोपियों की धरपकड़ के दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच डीएलएफ की टीम ने एक स्मैक तस्कर को गिरफ्तार किया है। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम अनुज है जो बिहार के मधुबनी जिले के क्योरा गांव का रहने वाला है। 

क्राइम ब्रांच की टीम ने गुप्त सूत्रों की सूचना के आधार पर आरोपी को पुलिस थाना सराय एरिया से स्मैक सहित काबू किया। तलाशी लेने पर आरोपी के कब्जे से 230 ग्राम स्मैक बरामद की गई। आरोपी को काबू करके थाने लाया गया जहां उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके पूछताछ शुरू की। पुलिस पूछताछ में 25 वर्षीय आरोपी ने बताया कि वह वर्ष 2014 से 2017 तक गुरुग्राम में अपनी बीटेक की पढ़ाई की थी। 

तीन-चार दिन पहले आरोपी नौकरी की तलाश में गुड़गांव आया था। आरोपी ने बताया कि यह स्मैक उसे किसी व्यक्ति ने दी थी और उसे फरीदाबाद में सप्लाई करने के लिए भेजा था। आरोपी को अदालत में पेश करके रिमांड पर लिया जाएगा और उसे स्मैक सप्लाई करने वाले आरोपी के बारे में गहनता से पूछताछ करके उसकी धरपकड़ की जाएगी। 


चोरों से सोने का 1 मंगलसूत्र, 1 चेन, 2 अंगूठी, एक लॉकेट व चांदी की 4 जोड़ी पाजेब तथा कैश बरामद

crime-branch-nit-arrested-2-chor-recovered-jewellery
 

फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त विकास कुमार अरोड़ा के दिशानिर्देश के तहत कार्यवाही करते हुए थाना क्राइम ब्रांच एनआईटी प्रभारी नरेंद्र की टीम ने आरोपियों द्वारा पड़ोसी के घर में सेंधमारी करके कीमती आभूषण तथा नकदी चोरी करने के मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में रवि उर्फ काजू तथा चमन का नाम शामिल है। आरोपी फरीदाबाद की डबुआ कॉलोनी के रहने वाले हैं। आरोपियों के खिलाफ पुलिस थाना डबुआ में चोरी की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था जिसमें आरोपियों ने अपने ही पड़ोसी कर में आभूषणों की चोरी की थी। 

क्राइम ब्रांच की टीम ने गुप्त सूत्रों की सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए दोनों आरोपियों को डबुआ कॉलोनी से काबू कर लिया। पुलिस पूछताछ में सामने आया कि आरोपी नशा करने के आदी हैं। नशे के अलावा जुआ खेलने, अय्याशी करने व उधार के पैसे चुकाने के लिए आरोपियों ने चोरी की वारदात को अंजाम दिया था। 

आरोपियों ने बताया कि जब उनके पड़ोसी घर पर ताला लगाकर 2 दिन के लिए बाहर गए थे तो मौका देखकर आरोपियों ने घर से जेवरात व नकदी चोरी कर ली। आरोपियों के कब्जे से चोरी किए गए सभी आभूषण बरामद किए गए हैं। 

आरोपियों ने बताया कि चोरी किए गए ₹18000 उन्होंने अय्याशी में उड़ा दिए थे। इसके अलावा आरोपियों ने 15 दिन पहले पुलिस थाना मुजेसर एरिया में एक चाय की दुकान का शटर तोड़कर उसमें से ₹15000 चोरी किए थे जिनमें से 4500 रुपए बरामद किए गए हैं। पूछताछ पूरी होने के पश्चात दोनों आरोपियों को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया है।

चालान के नाम पर पैसे ऐंठने वाले नकली पुलिसवाले को पकड़वाने वाली महिला को SHO नवीन ने दिया ईनाम

faridabad-sector-8-police-thana-sho-naveen-arrested-fake-police

फरीदाबाद, 22 मार्च: पुलिस आयुक्त विकास कुमार अरोड़ा के दिशानिर्देश के तहत कार्यवाही करते हुए थाना सेक्टर 8 प्रभारी नवीन कुमार तथा पुलिस चौकी 11 प्रभारी प्रदीप मोर की टीम ने आरोपी द्वारा नकली पुलिसवाला बनकर लोगों से पैसे ठगने के मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम करण है जो फरीदाबाद की हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी का रहने वाला है। आरोपी के खिलाफ अवैध वसूली की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है जिसमें आरोपी ने नकली पुलिसवाला बनकर स्कूटी चालक से ₹2000 ठगे थे। 

पुलिस को दी अपनी शिकायत में पीड़िता मगन ने बताया कि वह अपने पति सतीश के साथ स्कूटी पर सवार होकर सेक्टर 11 से होते हुए सूरजकुंड जा रहे थे। सेक्टर 11 कट के पास पहुंचते ही आरोपी पल्सर मोटरसाइकिल पर सवार होकर वाईएमसीए चौक की तरफ से आया और उसने स्कूटी के आगे अपनी मोटरसाइकिल लगाकर स्कूटी को रुकवा लिया। 

आरोपी ने पुलिसवाला होने की धौंस दिखाई और स्कूटी के कागज दिखाने के लिए उनपर दबाव बनाया। जैसे ही सतीश ने स्कूटी के कागज दिखाने के लिए अपना पर्स निकाला तो आरोपी ने पर्स में से ₹2000 ले लिए और कहने लगा कि तुम्हारे स्कूटी के कागज पूरे नहीं है और उनसे ओर पैसों की डिमांड करने लगा। 

जब पीड़ित ने कहा कि हमारे पास और पैसे नहीं है तो आरोपी ने कहा कि बाकी के पैसे आप फोनपे कर दो तो उन्होंने फोनपे करने से इनकार कर दिया और जब उन्होंने आरोपी से उसका पुलिस का आई कार्ड दिखाने के लिए कहा तो उसने मना कर दिया और उन्हें जान से मारने की धमकी देकर मोटरसाइकिल लेकर वहां से फरार हो गया। 

पीड़ितों को जब आरोपी के नकली पुलिसवाला होने का शक हुआ तो पीड़ित महिला ने आरोपी के मोटरसाइकिल का नंबर नोट कर लिया और उन्होंने पुलिस चौकी सेक्टर 11 में इसकी शिकायत दी जिसके आधार पर आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके आरोपी की तलाश की गई। 

इस मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस टीम ने आरोपी के मोटरसाइकिल के नंबर की डिटेल निकलवा कर उसके घर का पता किया और उसे गिरफ्तार कर लिया और उसके कब्जे से एक मोटरसाइकिल पल्सर मोटरसाइकिल तथा 610 रुपए बरामद किए। पूछताछ में सामने आया कि आरोपी नशा करने का आदी है और नशे के चलते ही वह इस प्रकार की वारदातों को अंजाम देता है। 2 महीने पहले ही पुलिस चौकी सेक्टर 11 में ही आरोपी के खिलाफ चोरी की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था जो विचाराधीन है जिसमे आरोपी ने एक स्कूटी चोरी की थी। पूछताछ पूरी होने के पश्चात आरोपी को अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है।

थाना प्रभारी सेक्टर 8 प्रभारी ने पीड़ित महिला मगन द्वारा आरोपी की सूचना पुलिस तक पहुंचाने के लिए उनकी हौसला अफजाई करते हुए पुलिस को तुरंत सूचना देने के लिए, महिला को एक डायरी तथा 500 रुपए बतौर इनाम भेंट किए। जिसकी वजह से आरोपी को भी तुरंत काबू कर लिया गया ।

फरीदाबाद पुलिस की अपील है कि इस तरह के ठगों से सावधान रहें और किसी भी प्रकार की चोरी, लूट या ठगी के मामले में तुरंत पुलिस को सूचित करें ताकि पुलिस द्वारा अपराधिक गतिविधियों में शामिल आरोपियों को जल्द पकड़ा जा सके। 

मकान का नक्शा पास करने को अवैध कमाई का हथियार बनाने वाले MCF के भ्रष्ट अफसरों पर कसा शिकंजा

faridabad-police-lodge-fir-against-mcf-corrupt-officers

फरीदाबाद, 21 मार्च: मकान के नक्शा बनाने और उसे पास कराने के नाम पर रिश्वत माग बारे, माननीय हाई कोर्ट के माध्यम से एक शिकायत एसीपी एनआईटी श्री विष्णु प्रसाद के पास प्राप्त हुई जिसकी जांच कर एसीपी साहब ने रिपोर्ट को डीसीपी एनआईटी श्री नितीश अग्रवाल के पास भेजा। डीसीपी एनआईटी ने रिपोर्ट पर करप्शन की धारों में मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए थे।

शिकायतकर्ता नवनीत सेठी जोकि फरीदाबाद के सेक्टर 21d के इंदिरा एनक्लेव में रहते हैं। जो बिल्डर का काम करता है। नवनीत अपने पार्टनर विष्णु प्रसाद जोशी के साथ मिलकर फ्लैट बनाने का काम करता है। जिसने फरीदाबाद के सेक्टर 21d में दो फ्लैट बनाने का काम किया था। जिसके दौरान एमसीएफ में तैनात जेई सुमेर सिंह, बेलदार अमरपाल से वर्ष 2019 में मुलाकात हुई। 

शिकायतकर्ता ने सुमेर सिंह से बिल्डिंग के नक्शा पास कराने का प्रोसीजर पूछा तो सुमेर सिंह ने उससे कहा कि उसके अंकल जी एमसीएफ में जेईई हैं उनसे वह नक्शा पास करा देगा, बिल्डिंग में किसी अधिकारी को जाने नहीं देगा और पानी,सीवर के कनेक्शन भी कटने नहीं देगा। उसने मुझसे ₹200000 लिए जिसमें सरकारी फीस भी शामिल है। ₹200000 शिकायतकर्ता ने टुकड़ों में दिए थे। 

जेई सुमेर सिंह के साथ अमरपाल ने आश्वासन दिया कि वह उसको नक्शा बनवाकर पास करा देगा। नक्शा पास नही होने पर नवनीत सेठी ने शिकायत सिविल कोर्ट में डाली थी जिसकी जांच के आदेश पारित किए गए। शिकायतकर्ता से आरोपियों ने 2021 के मध्य में ₹50000 फाइल का स्टेटस जाने के लिए अमरपाल ने लिए और उसमें से कुछ पैसे मेरे सामने ज्वाइंट कमिश्नर साहब के महिला पीए प्रवीण कालरा को दिए। इसके साथ सुमेर सिंह जी एसडीओ बने और उनकी बदली इंफोर्समेंट डिपार्टमेंट में हो गई। इसके साथ और अन्य लोग भी शामिल है जिसमें अमित कौशल, पदम भूषण, बीके कर्दम, धर्मवीर और अंशु भी शामिल हैं।

शिकायत 16 मार्च को प्राप्त हुई जिस पर थाना एनआईटी में मुकदमा दर्ज कर मुकदमे की तफ्तीश पुलिस चौकी सेक्टर 21 प्रभारी सब इंस्पेक्टर ओम प्रकाश को दी गई है। जिसकी तफ्तीश जारी है।

5 आरोपियों के कब्जे से एक थार गाड़ी, एक देसी पिस्टल, एक फरसा तथा एक हथोड़ा बरामद, जानिये मामला

crime-branch-nit-faridabad-arrested-5-accused-news

Faridabad News, 21 March 2022: डीसीपी क्राइम नरेन्द्र कादियान के दिशानिर्देश के तहत कार्यवाही करते हुए क्राइम ब्रांच एनआईटी प्रभारी नरेंद्र कुमार की टीम ने 5 दिन पहले फरीदाबाद के गांव प्याला में दो पक्षों के बीच हुए लड़ाई झगड़े में हत्या के इरादे से फायर करने के मामले में क्राइम ब्रांच एनआईटी ने 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

आपसी रंजिश का है मामला

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में अशोक, भानु, विशाल, अभिषेक तथा विशाल रावत का नाम शामिल है। आरोपी भानु तथा विशाल आरोपी अशोक के बेटे हैं। मामला आपसी रंजिश का है जिसमें एक पक्ष आरोपी अशोक तथा दूसरा पक्ष पीड़ित ओमकार का है।

आरोपी पक्ष में अशोक, विशाल, भानु, अभिषेक, विशाल, दीपक, दिनेश, संदीप उर्फ पडडा, बल्लू उर्फ बलराम तथा सागर का नाम शामिल है वहीं पीड़ित पक्ष में ओंमकार, प्रताप तथा उनके भतीजे महेश, उमाशंकर व टेकचंद का नाम शामिल है।

आपसी रंजिश का कारण अवैध नशा तस्करी है जिसमें दोनों पक्ष शराब और गांजे का की तस्करी करते हैं। आरोपी अशोक पुराना तस्कर है जिसमें जिसके खिलाफ शराब तथा गांजा तस्करी के कई मुकदमे दर्ज हैं। दोनों पक्ष आपस में चाचा-ताऊ व भाई है।

पीड़ित पक्ष ने क्या शिकायत दी, 

आरोपी अशोक पक्ष के खिलाफ पीड़ित ओमकार पक्ष के महेश ने पुलिस थाना सेक्टर 58 में दी अपनी शिकायत में बताया कि 15 मार्च करीब 11 बजे उसका भाई उमाशंकर तथा चाचा ओंमकार खेत में काम करने गए हुए थे कि उमाशंकर जब वापस लौट रहा था तो आरोपी भानु तथा अभिषेक ने रास्ते में रोककर उसके साथ मारपीट की। मारपीट के पश्चात आरोपी फरार हो गए। उमाशंकर अपने परिवार के साथ घर आया ही था कि थोड़ी देर बाद आरोपी अशोक व दीपक ने पीड़ित के घर पर जाकर दोबारा मारपीट की। ज्यादा चोट लगने के कारण पीड़ित पक्ष के टेकचंद को अस्पताल ले जाया गया कि तभी पीछे से दो गाड़ियों में सवार होकर भानु अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर पीड़ित के चाचा प्रताप के घर पहुंचा और उन्होंने उसके चाचा ओमकार पर पिस्टल से गोलिया चलाई। 

इस मारपीट में आरोपी अशोक के सिर में भी फरसा लगा जिससे वह भी घायल हो गया। मारपीट करने के पश्चात आरोपी बल्लू, सागर, भानु तथा संदीप ने अपने हाथ में ली लिए देसी कट्टे से पीड़ित पक्ष पर करीब 8-10 फायर किए जिसमें वह बाल बाल बच गए। इस मारपीट के दौरान पीड़ित पक्ष को काफी चोटें पहुंची जिसके पश्चात पीड़ित की शिकायत के आधार पर पुलिस थाना सेक्टर 58 में हत्या का प्रयास, मारपीट, अवैध हथियार की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके आरोपियों की तलाश शुरू की गई। इस मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस थाना सेक्टर 58 की टीम ने आरोपी दिनेश को दिनांक 16 मार्च को गिरफ्तार कर लिया।

मामले की गहनता को देखते हुए पुलिस उपायुक्त अपराध नरेंद्र कादयान व  सहायक पुलिस उपायुक्त अपराध सुरेंद्र सिंह ने आरोपीयों को जल्द से जल्द पकड़ने के विशेष दिशा-निर्देश दिए जिसपर प्रभारी अपराध शाखा NIT नरेंद्र कुमार की अगुवाई में टीम का गठन किया गया जिसमे सब इंस्पेक्टर असरुद्दीन,हवलदार सुमित तथा संजय, सिपाही संदीप, नरेश तथा विकास का नाम शामिल है। आगे की कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच एनआईटी ने दिनांक 17 मार्च को आरोपी भानु, विशाल, अभिषेक, विशाल रावत को आहलापुर फ्लाईओवर से काबू कर लिया। 

आरोपियों को अदालत में पेश करके 3 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया जिसमें रिमांड के दौरान दिनांक 19 मार्च को मुख्य आरोपी अशोक को भी गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपियों के कब्जे से वारदात में प्रयोग थार गाड़ी, हथोड़ा, लाठी-डंडे तथा आरोपी भानु के कब्जे से एक देसी पिस्टल बरामद किया गया है। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि मारपीट के लिए उन्होंने पलवल से अपने दोस्त संदीप, बल्लू तथा सागर को बुलाया था। इस वारदात में तीन देसी पिस्टल तथा एक देसी कट्टे का प्रयोग किया गया था जिसमें एक देसी पिस्टल आरोपी भानु, एक–एक बल्लू व संदीप तथा एक देसी कट्टा सागर द्वारा लाया गया था। पूछताछ पूरी होने के पश्चात आरोपियों को अदालत में दोबारा पेश करके जेल भेज दिया गया है वहीं इस मामले में फरार चल रहे चार आरोपी बल्लू, संदीप, सागर तथा दीपक को गिरफ्तार करके उनके कब्जे से दो देसी पिस्टल, एक देशी कट्टा तथा वारदात में प्रयोग i20 कार को बरामद किया जाएगा।

ससुर ने पुत्रबधु के साथ की अश्लील हरकत, पति ने उसे बचाने के बजाय मार दी गोली, दोनों गिरफ्तार

  news-palwal-chandhat-thana-police-arrested-wife-murder-accused-pati 

पलवल, 6 मार्च। गोली मारकर नवविवाहिता पत्नी की हत्या करने वाले आरोपी पति व उसके आरोपी पिता को चांदहट थाना पुलिस ने 24 घंटों के अंदर गिरफ्तार कर लिया। 

थाना चांदहट प्रभारी निरीक्षक रामचंद्र जाखड़ ने जानकारी देते हुए बताया कि राजेश दुग्गल आईपीएस पुलिस अधीक्षक पलवल के कुशल मार्गदर्शन में हत्या में शामिल दो आरोपियों को 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। 

उन्हें मुखबिर खास द्वारा सूचना प्राप्त हुई कि अपनी पुत्रवधू के साथ अश्लील हरकत करने व हत्या करने में शामिल आरोपी गांव में मौजूद है, जोकि कहीं बाहर जाने की फिराक में है। सूचना मिलते ही उप निरीक्षक तेजपाल के नेतृत्व में टीम गठित कर मौके पर दबिश दी गई और आरोपी को काबू कर लिया गया। 

पूछताछ में आरोपी ने अपना नाम मोहन सिंह निवासी सिगोली थाना नौझील जिला मथुरा (यूपी) बताया। उसके चिकित्सकों से परामर्श के बाद आरोपी पति को भी निजी अस्पताल से काबू किया गया। जिसका नाम ग्रिटिंग है। ग्रिटिंग ने अपनी नवविाहिता पत्नी रजनी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। 

आरोपियों के खिलाफ मृतका रजनी के पिता डूंगर सिंह निवासी चौकड़ा जिला मथुरा (यूपी) की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया था। पुलिस ने आरोपियों को रविवार को अदालत में पेश कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

चड्ढी पहनकर आया व्यक्ति और उठा ली दूध की कई थैलियां, एक थैली बिखेरकर भागा, CCTV में कैद

faridabad-navada-tigaon-road-ram-laksham-dairy-milk-chori
 
Faridabad News: एक CCTV वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें एक व्यक्ति सिर्फ चड्ढी पहनकर एक डेरी पर आता है और दूध की कई थैलियां लेकर चला जाता है, दूध चुराने के प्रयास में एक थैली नीचे गिरकर बिखर भी जाती है। 

वीडियो देखकर ऐसा लग रहा है कि व्यक्ति अधिक से अधिक थैलियां लेकर भागना चाहता था. व्यक्ति ने सिर्फ चड्ढी पहन रखी है इसलिए कुछ लोग वीडियो के नीचे कमेंट में उसे गरीब चोर बता रहे हैं हालाँकि अगर वह गरीब होता और उसे दूध की जरूरत होती तो एक दो थैली में भी उसका काम चल सकता था लेकिन वह चार पांच बड़ी थैलियां लेकर वहां से गया था। 

यह वीडियो नवादा तिगांव रोड, राम लक्षम डेरी का है, सुबह सुबह गाडी से दूध के सप्लाई की गयी थी और ट्रे बाहर ही रखी गयी थी, चड्ढी पहने व्यक्ति तो शायद पता नहीं था कि वहां पर CCTV लगा हुआ है। हम नीचे वीडियो का लिंक दे रहे है। 

प्रेमी के साथ मिलकर ससुर को गोली से उड़ाने वाली पुत्रवधू गिरफ्तार

faridabad-ballabhgarh-women-arrested-in-sasur-murder-case

Faridabad News: 6 दिन पहले बल्लभगढ़ न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में गोली मारकर भरत सिंह नामक युवक की हत्या के मामले में क्राइम ब्रांच डीएलएफ ने कार्रवाई करते हुए इस मामले में आरोपित पुत्रवधू को गुप्त सूत्रों की सूचना के आधार पर बदरपुर बॉर्डर एरिया से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। आरोपी महिला को अदालत में पेश करके 1 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया था।

गिरफ्तार की गई आरोपित महिला का नाम गीता है जो मृतक भरत सिंह की पुत्रवधू है। आरोपित महिला के खिलाफ थाना सिटी बल्लभगढ़ में हत्या की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था जिसमें आरोपित महिला ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने ससुर भरत सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी थी। हत्या के पीछे का कारण प्रॉपर्टी विवाद था। मृतक भरत सिंह आरोपित महिला गीता के पति विनोद का सौतेला बाप था। भरत सिंह का बेटा सूरज पिछले साल ट्रेन दुर्घटना में जान कहां बैठा था उसके पश्चात उनकी पुत्रवधू सूरज की पत्नी अपने मायके चली गई इधर विनोद की पत्नी गीता ससुर पर सारी प्रॉपर्टी अपने नाम करने के लिए दबाव डाल रही थी ।

सारी जायदाद महिला के ससुर भरत सिंह के नाम है। गीता अपने ससुर भरत सिंह पर प्रॉपर्टी अपने नाम करवाने पर  दबाव बना रही थी परंतु मृतक भरत सिहं द्वारा बार-बार इंकार करने पर पुत्रवधू ने अपने ससुर हो जान से मारने की योजना बनाई।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि इस मामले में आरोपी महिला के साथ उसका प्रेमी दलीप उर्फ सैंडी उर्फ कालिया भी शामिल है जो गुरुग्राम का रहने वाला है और गीता को करीब 6–7 साल से जानता था और उसके खिलाफ हत्या की धाराओं के तहत पहले भी कई मुकदमे दर्ज है और वह जेल में भी सजा काट चुका है। गीता ने ही उसकी जमानत करवाई थी। आरोपित गीता ने कट्टा लाने के लिए अपने प्रेमी को 4000 रुपए दिए और उसी ने गीता को 2 कारतूस, देसी कट्टा तथा नींद की गोलियां लाकर दी थी। वारदात की रात आरोपित पुत्रवधू ने अपने सास-ससुर दोनों के खाने में नींद की गोलियां दे दी थी। बाद में उस उसने अपने प्रेमी को अपने घर पर बुलाया प्रेमी सैंडी ने गोली मारकर भरत सिंह की हत्या की थी। वारदात को अंजाम देने के पश्चात आरोपित गीता और उसका प्रेमी मौके से फरार हो गए और पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए बदरपुर बॉर्डर एरिया में किराए के कमरे में रहने लगे। 

पुलिस आयुक्त विकास कुमार अरोड़ा ने इस मामले में आरोपियों की धरपकड़ के लिए निर्देश दिए जिसके तहत डीसीपी क्राइम के मार्गदर्शन में कार्य करते हुए डीएलएफ क्राइम ब्रांच प्रभारी अनिल कुमार टीम गठित की गई जिसमें अनुसंधान अधिकारी एएसआई विजय टीम ने कार्रवाई करते हुए आरोपित महिला को गिरफ्तार कर लिया। महिला के कब्जे से एक जिंदा कारतूस बरामद किया गया है। गीता ने बताया कि वारदात में प्रयोग किया गया कट्टा उसके साथी के पास है। पूछताछ होने के पश्चात आरोपी महिला को अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है वही उसके साथी की धरपकड़ के लिए क्राइम ब्रांच द्वारा लगातार रेड की जा रही है जिसे जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा। 

तिगांव में कपिल अधाना की गोलीमारकर हत्या में शामिल दो आरोपी गिरफ्तार, जानिये आरोपियों की डिटेल

faridabad-tigaon-kapil-adhana-murder-case-2-accused-arrested

फरीदाबाद, 20 जनवरी: बता दें कि 16 जनवरी को थाना तिगांव में हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था। वारदात में संलिप्त आरोपियों की धरपकड़ के लिए पुलिस आयुक्त विकास कुमार अरोड़ा ने क्राईम ब्राचं को आदेश दिए थे। डीसीपी क्राइम नरेंद्र कादयान के दिशा निर्देशानुसार, एसीपी क्राइम सुरेंद्र स्योराण के मार्गदर्शन में कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच ऊंचागांव प्रभारी जगमिंद्र सिंह की टीम ने उक्त मामले में शामिल दोनों आरोपियों को कल शायं बल्लभगढ़ बस स्टैंड एरिया से गिरफ्तार किया है। 

गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम सागर तथा आकाश है। दोनों ही आरोपी तिगांव के रहने वाले हैं जिन्होंने अपने ही गांव के रहने वाले कपिल की दिनांक 16 जनवरी को गांव में ही हो रहे एक लगन सगाई के प्रोग्राम में गोली मारकर हत्या कर दी थी। वारदात के पश्चात दोनों आरोपी मौके से फरार हो गए थे। जिनकी तलाश में क्राइम ब्रांच छापेमारी कर रही थी.

क्राइम ब्रांच की टीम ने गुप्त सूत्रों की सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए दोनों आरोपियों को बल्लभगढ़ बस स्टैंड से काबू किया है। पुलिस पूछताछ में सामने आया कि हत्या की वजह आरोपियों का इससे पहले मृतक कपिल के भतीजे सोनू जोकि एक दुकानदार है, के साथ लड़ाई झगड़ा व छीना झपटी करने पर नवंबर माह मे थाना  तिगावं मे  मुकदमा दर्ज हुआ था।  

आरोपियों ने सोनू की दुकान से सामान लेने के बाद पैसे के लेन देन पर सोनू के साथ की गई बहस बाजी के दौरान मारपीट  छीनाझपटी की वारदात को अंजाम दिया था जिसका मुकदमा थाना तिगांव में दर्ज किया गया था। मुकदमा दर्ज होने के पश्चात आरोपी सोनू के साथ समझौता करने, तथा मुकदमा वापस लेने का दबाव बना रहे थे परंतु सोनू ने मुकदमा वापस नहीं लिया। समझौता ना होने पर आरोपी रंजिश पाल बैठा  इसी रंजिश के चलते आरोपी सागर अपने साथ अवैध हथियार रखने लगा। 

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि दिनांक 16 जनवरी को सोनू और उसका चाचा कपिल अपने गांव में एक लगन सगाई के निमंत्रण पर आए हुए थे जहां पर आरोपी सागर और आकाश भी उस प्रोग्राम मे आऐ थे। वहां पर दोनों पक्षों का आमना सामना हुआ। 

आरोपियों ने सोनू और उसके चाचा कपिल पर पुराना मुकदमा वापस लेने का दबाव बनाया परंतु उन्होंने ऐसा करने से मना कर दिया जिसके पश्चात आरोपियों ने सोनू और उसके चाचा कपिल के साथ मारपीट शुरू कर दी और इसी मारपीट के दौरान आरोपियों ने कपिल पर गोली चला दी जिसके कारण उसकी मृत्यु हो गई। क्राइम ब्रांच द्वारा दोनों आरोपियों को आज अदालत में पेश करके पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा जिसमें मामले में गहनता से पूछताछ करके वारदात में प्रयोग असलाह बरामद किया जाएगा।

पकड़े गए तीन चोरों के कब्जे से चोरी की 7 बाईक और 1 वैगन आर बरामद

faridabad-crime-branch-sector-55-arrested-3-chor

फरीदाबाद: डीसीपी क्राइम नरेंद्र कादयान द्वारा चोरी के मामलों पर कार्रवाई करने के दिए गए र्निदेश पर कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच सेक्टर-56 की टीम ने तीन आरोपीयो को चोरी की मोटरसाईकिल सहित गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है।

गिरफ्तार आरोपियो की पहचान रफीक उर्फ सरदार निवासी आशियाना फ्लैट सेक्टर 56, मनीष निवासी गांव कुंदेर जिला भरतपुर राजस्थान हाल न्यू बसेलवा कॉलोनी ओल्ड फरीदाबाद और फैजू निवासी सवाई माधोपुर राजस्थान हाल भारत कॉलोनी खेड़ी पुल फरीदाबाद के रुप में हुई है।

पुलिस प्रवक्ता सुबेसिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि तीनो आरोपी ओल्ड फरीदाबाद से मोटरसाईकिल चोरी करके मेवात बेचने के लिए ले जा रहे थे। तीनो आरोपियो को प्रतापगढ़ पुल सेक्टर-56 एरिया से क्राइम ब्रांच टीम ने गुप्त सूत्रों से प्राप्त सूचना के आधार पर काबू किया। आरोपी थाना ओल्ड एरिया से चुराई हुई मोटरसाइकिल से जा रहे थे। आरोपियो ने एक स्विफ्ट गाडी एसजीएम नगर के क्षेत्र से चोरी की थी। जिसे थाना धौज के क्षेत्र में लावारिस हालत में छोडकर चले गए थे, को बरामद किया जा चुका है। आरोपियो पर थाना ओल्ड फरीदाबाद, सेक्टर-58 में 2-2, थाना सदर बल्लबगढ़, एसजीएम नगर, एनआईटी, मुजेसर, सेन्ट्रल में 1-1 मुकदमा दर्ज है। तीनो आरोपी चोरी के मुकदमें में पहले भी जेल जा चुके है। आरोपियो से 7 मोटर साइकिल, वैगन आर गाड़ी बरामद कि गई है।                                                                                                  पुलिस पूछताछ में पता चला की आरोपी सेक्टर-17 की झुगियों में रहते थे वहां से तीनो एक दूसरे के जानते है। तीनो आरोपी नशे की पूर्ती के लिए चोरी की घटनाओं को अंजाम देते है। आरोपी फेजू को अदालत में पेश कर पुलिस रिमांड लेकर मामलों में पूछताछ की जाएगी। दो आरोपियो को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया है। 

4 लड़कियों और चाचा-भाई के हत्यारे सिंघराज के बारे में कुछ और बड़े खुलासे, और बढ़ा पुलिस रिमांड

murder-accused-criminal-shinghraj-faridabad-crime-branch-news

फरीदाबाद, 11 जनवरी 2022:  क्राइम ब्रांच डीएलएफ ने आरोपी को 22 वर्षीय युवती हत्या के मामले में गिरफ्तार करके पुलिस रिमांड पर लिया था। आरोपी ने फरीदाबाद के भिन्न थानों में हत्या,चोरी और फ्रॉड की घटनाओं को अंजाम दिया था।

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया की आरोपी सिंह राज की क्राइम कुंडली में लगातार मुकदमों का इजाफा होता जारहा है जैसा कि कल बताया गया था कि आरोपी ने वर्ष 1986 में अपने चाचा और उसके लडके की हत्या कर दी थी जिसका मुकदमा थाना छायंसा में दर्ज है। 

थाना छायंसा में ही आरोपी के खिलाफ 1चोरी का मुकदमा भी वर्ष 1991दर्ज हुआ था।

आरोपी के खिलाफ थाना ओल्ड में चोरी के 2 मुकदमे वर्ष 1992 दर्ज हुऐ थे। थाना तिगांव में धोखाधड़ी का मुकदमा वर्ष 2015 में दर्ज हुआ था।

इसके अलावा कल खुलासा किया गया था की अलग-अलग केस मे नाबालिग लड़कियों के साथ छेड़छाड़, दुष्कर्म की कोशिश का विरोध करने पर गला दबाकर 3 नाबालिग लड़कियों की हत्या कर शव नहर में फेंक चुका है।

22 वर्षीय युवती की हत्या के केस में रिमांड पूरा होने के बाद अदालत मे पेश करके पूछताछ के लिए 1 दिन का और पुलिस रिमाण्ड लिया गया है। पूछताछ जारी है.

एक्सीडेंट के बाद धू-धू कर जलने लगी दो गाड़ियां, डायल 112 ने पहुंचकर अंदर फंसे लोगों को बचा लिया

faridabad-two-car-accident-dial-112-police-save-them

फरीदाबाद: सूरजकुंड पाली रोड पर 6 जनवरी को रात करीब 11 बजे हुई दो गाड़ियों की टक्कर के कारण दोनों गाड़ियों में भयंकर आग लग गई और दोनों गाड़ियां धू-धू कर जलने लगी। दोनों गाड़ियों में से स्विफ्ट गाड़ी का चालक बेहोश हो चुका था। इस सड़क दुर्घटना के अंदर चालक की जान बचाने में फरीदाबाद पुलिस का सराहनीय योगदान रहा। फरीदाबाद पुलिस की 12 टीम फरिश्ता बनकर आई और चालक को सुरक्षित बाहर निकाल लिया।

दोनों गाड़ियां सूरजकुंड पाली रोड पर एमवीएन नाके के पास टकराई थी जिसमें से एक गाड़ी हाईवे ट्रक थी तथा दूसरी स्विफ्ट डिजायर थी। स्विफ्ट डिजायर चालक मेवला से मांगर जा रहा था जिसने बहुत अधिक शराब पी रखी थी। शराब के नशे में उससे गाड़ी का कंट्रोल छूट गया और गाड़ी सामने से आ रही हाइवा ट्रक से टकरा गया। टक्कर होते ही दोनों गाड़ियों में आग लग गई। 

घटनास्थल से चंद दूरी पर डायल 112 की टीम गश्त कर रही थी जिसमे इंचार्ज एएसआई कृष्ण, सिपाही रोहताश तथा विक्रांत शामिल थे जिन्होंने बिना समय गंवाए मौके पर पहुंचकर देखा तो स्विफ्ट गाड़ी चालक बेहोश हो चुका था। ईआरसी टीम ने खिड़की खोलकर चालक को बाहर निकालना चाहा परंतु गाड़ी का दरवाजा लॉक हो चुका था। चालक की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पुलिस ने तुरंत गाड़ी की खिड़की का शीशा तोड़ दिया और लॉक खोलकर बेहोश चालक को सुरक्षित बाहर निकाल लिया। 

कुछ समय पश्चात पानी के छींटे डालने से चालक को होश आ गया। ईआरवी की टीम द्वारा दोनों गाड़ियों के ड्राइवरों को पुलिस थाना सूरजकुंड ले जाया गया जहां दोषी ड्राइवर के खिलाफ कानून के तहत कार्रवाई अमल में लाई गई है।

पुलिस आयुक्त विकास अरोड़ा ने ईआरवी टीम द्वारा किए गए सराहनीय कार्य के लिए उनकी हौसला अफजाई की और भविष्य में भी इसी प्रकार नागरिकों की मदद करते रहने के लिए प्रोत्साहित किया।

रेती खनन माफियाओं के ट्रक ने प्रेमवती अधाना को कुचला, मंत्री मूलचंद शर्मा ने दिया ये आदेश, पढ़ें

faridabad-lahandola-accident-premwati-adhana-death
 

फरीदाबाद, 01 जनवरी। शनिवार सुबह तिगांव क्षेत्र के लहडोला गांव में डंपर की टक्कर में 60 वर्षीय श्रीमती प्रेमवती की हुई मौत पर दुख व्यक्त करते हुए प्रदेश के परिवहन एवं खनन मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा की यमुना से अवैध खनन की करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने संबंधित एरिया के अधिकारियों को भी हिदायत दी है कि यदि इस तरीके की कोई अवैध खनन की गतिविधि की शिकायत  मिलती है तो उनके खिलाफ भी सख्त से सख्त विभागिय कार्यवाही की जाएगी।

उन्होंने कहा कि अधिकारी यमुना से लगते अपने अपने एरिया में किसी प्रकार की बिना परमिशन के खनन ना होने दें। उन्होंने कहा कि जल्द ही पुलिस इस मामले में कार्रवाई कर दोषियों को जेल भेजने का काम करेगी।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दुर्घटना से आक्रोशित होकर आज लैहंडोला गाँव के लोगों ने तिगांव रोड जाम कर दिया था जिसके बाद क्षेत्र के विधायक राजेश नागर और तिगांव के एसीपी मुनीश कुमार ने मौके पर पहुंचकर नाराज लोगों को शांत कराया और कार्यवाही का भरोसा जताते हुए रोड जाम खुलवाया। देखिये वीडियो - 

पाखल गांव में राकेश मर्डर केस में फरीदाबाद पुलिस ने पहले आरोपी को किया गिरफ्तार, अन्य की तलाश जारी

rakesh-gurjar-murder-case-pakhal-faridabad-one-arrested

Faridabad: पाखल गांव में राकेश गुर्जर मर्डर केस में फरीदाबाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए पहले आरोपी को गिरफ्तार किया है और अन्य आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया है.

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक - धारदार हथियार से की गई युवक की हत्या के मामले में थाना धौज की टीम ने  नामजद आरोपी सोनू उर्फ भूरा को गिरफ्तार किया है.

पाखल गांव के रहने वाले चचेरे भाइयो ललित, नितेश, सोनू, भविंद्र ने ट्यूबवेल के झगड़े में राकेश की हत्या कर दी थी अन्य आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 28 दिसंबर को पाखल गांव के रहने वाले राकेश की उसके ही चाचा के लड़कों ने निर्ममता से धारदार हथियार से हत्या कर दी थी जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, पीड़ित परिजनों ने आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की थी.

अवैध नशा बेचकर बेहिसाब पैसा और संपत्ति खड़ी करने वालों के लिए बुरी खबर

faridabad-police-commissioner-vikas-kumar-arora-news

फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त विकास कुमार अरोड़ा ने नशा तस्करी करने वालो पर कार्रवाई के लिए सभी थाना प्रबन्धक और चौकी प्रभारियों को नशीले पदार्थ बेचकर अवैध रुप से अर्जित की गई संपत्ति की जानकारी इकट्ठा करने के आदेश दिए थे। 

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि फरीदाबाद पुलिस नशा तस्करी करके अवैध रुप में अर्जित की गई संपत्ति की कुर्की कर नशा तस्करों से लड़ने की रणनीति बना रही है। अदालत के द्वारा नशा तस्करी में पीओ घोषित किए गए अपराधी तथा जो दस साल या उससे अधिक की अवधि के लिए कारावास के साथ इस अधिनियम के तहत दंडनीय अपराध का दोषी पाया गया है।  पुलिस ने ऐशे नशा तस्करी के माध्यम से अवैध संपत्ति अर्जित करने वाले दर्जनों आरोपियों की सूची तैयार कर ली है और जल्द ही कानूनी प्रक्रिया के अंतर्गत इनकी अवैध कमाई से अर्जित संपत्ति जब्त की जाएगी। 

फरीदाबाद पुलिस ने वर्ष 2021 में अवैध नशा तस्करी के 240 मुकदमें दर्ज कर 265 आरोपियो को गिरफ्तार करके जेल भेजा है। 

जिनमें  गांजा के 199 मुकदमों 

580 किलोग्राम गांजा, 

इंजेक्शन एवं नशीली टेबलेट तस्करी के 36 मुकदमें में 2225 इंजेक्शन, 580 टेबलेट

अफीम और स्मैक के 5 मुकदमों में अफीम 500 ग्राम व स्मैक 188 ग्राम बरामद की है

पुलिस प्रवक्ता ने आगे बताया कि वर्ष 2021 में पूर्व के वर्षों में दर्ज 339 मुकदमों में बरामद 753 किलोग्राम गांजा, 

114 किलोग्राम भांग, 

4 ग्राम ब्राउन सुगर, 

4 किलोग्राम सुलफा, 

165 ग्राम स्मैक, 

220 ग्राम हैरोइन, 

7.5 किलोग्राम चरस, 

4599 नशे की टेबलट, 

70336 नशे के केप्सूल, 

3640 नशे के इंजेक्शन, 

499 ग्राम भूक्की, 

1438 बोतल नशे का सिरप, 400 ग्राम पॉपी स्ट्रा

43 नशा किट को राज्य के पुलिस महानिदेशक के आदेश पर फरीदाबाद पुलिस आयुक्त श्री विकास अरोड़ा ने खुद अपनी मौजूदगी मे विडियो रिकॉर्डिंग करवा कर डीसीपी एवं प्रतिष्ठित व्यक्तियों की उपस्थिति में कानूनी प्रक्रिया का अनुपालन करते हुए नष्ट किया गया है।

JCM स्कूल के खिलाफ अभी तक कार्यवाही नहीं, छात्रा अंजलि की टूटी रीढ़ की हड्डी, दांत और दोनों पैर

anjali-torture-case-jcm-international-school-panhera-khurd

फरीदाबाद, 16 दिसंबर: JCM इंटरनेशनल स्कूल पन्हेड़ा खुर्द की प्रिंसिपल और चेयरमैन द्वारा मारपीट और मानसिक प्रताड़ना की वजह से स्कूल की छात्रा अंजलि दिनांक 26.11.2021 को रीढ़ की हड्डी, दोनों पैर और दांत टूट गये लेकिन अभी तक आरोपी प्रिंसिपल और चेयरमैन के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गयी है। पीड़ित छात्रा आरोपियों के बंधन से आजाद होने की कोशिश के छत से नीचे गिर गयी और घायल हो गयी। छात्रा के परिजनों ने पुलिस से मामले में मामले में कार्यवाही की मांग की है।

इस मामले में आरोपियों के खिलाफ छात्रा छायंसा में दिनांक 7 दिसंबर को मुकदमा नंबर 0328 दर्ज किया गया था लेकिन पुलिस ने आरोपियों को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया है। पीड़ित छात्रा के पिता करतार सिंह (मोबाइल - 9996505824) ने बताया कि स्कूल प्रशासन ने ना तो उनकी बेटी के इलाज में मदद की और ना ही अपनी गलती मानी उल्टा उनकी बेटी को ही झूठा साबित करने का प्रयास किया जा रहा है।

करतार सिंह ने बताया कि मेरी पुत्री अंजली जो कि जे० सी० एम० इन्टर नेशनल स्कूल पन्हैडा खुर्द तह० बल्लबगढ जिला फरीदाबाद में 11 कक्षा कॉर्मश की छात्रा है । दिनांक 26.11.2021 को मेरी पुत्री अपने नियमित समय पर स्कूल गई हुई थी। दिनांक 26.11.2021 को समय करीब दोपहर 1:00 बजे मेरे मो० न० 9996505824 पर स्कूल की प्रिंसिपल रचना शर्मा का फोन आया कि आपकी पुत्री को स्कूल में चक्कर आ गये है जिस कारण से वह स्कूल की तीसरी मंजील से नीचे गिर गई है । मैं जल्द बाजी में अपने सभी काम छोड कर स्कूल पहुँचा तो मुझे पता चला कि स्कूल प्रशासन मेरी बेटी को ग्राम दयालपुर के सरकारी होस्पिटल में लेकर गये है तो वहां डॉक्टरों ने मेरी बेटी की स्थिति को देखकर बोले की मेरी लड़की की हालत गम्भीर है इसको किसी अन्य होस्पिटल ले जाओ तो मैने उनसे फोन से सम्पर्क किया और उनको रोका और मै अपनी पुत्री को संकट मोचन होस्पिटल लेकर गया और मेरी बेटी की स्थिति को देखकर उन्होने भी मना कर दिया कि इसको कही और ले जाईये इसकी हालत ज्यादा खराब है इसको दिल्ली ट्रामा सेन्टर एम्स में ले जाईये तो मै अपनी बेटी को तुरन्त एम्बुलेंस में डाल कर दिल्ली ट्रामा सेन्टर लेकर गया वहां उन्होने उसे एमेरजेन्सी में भर्ती कराया और डॉक्टरो के टैस्ट करने पर पता चला कि उसके रीड की हडडी टुट गई है और पैर की हडडी टुट गई है, और दॉत भी टूट गये है और बाकी सारे शरीर पर चोटे आई हैं। इसके बाद इन्होंने मेरी बेटी के दो ऑपरेशन किये और वह दिनांक 28.11.2021 को होश में आई । 

करतार सिंह ने बताया कि दिनांक 28.11.2021 के बाद जब मैं अपने घर आया और स्कूल जाकर मैने बच्चों से पूछ ताछ की और कुछ टीचर से पूछताछ की कि मेरी बेटी को चोट कैसे लगी तो पूछने पर पता चला कि मेरी बेटी की किसी स्कूल की मामुली गलती की वजह से मेरी बेटी को रचना शर्मा प्रिंसिपल व राजबीर शर्मा डारेक्टर ने दो घन्टे तक अपने ओफिस में बन्द रखा उसको मानसिक प्रताडना दी उसके साथ गलत व्यवहार किया और उसकी डन्डो व थप्पडो से गलत पीटाई की जिस कारण से वह घबराकर मारपीट से बचने के लिए कमरे से निकलकर भागने की कौशिश तो वह उपर को मंजिल की तरफ भागी तो उसका पैर फिसल गया तो वह तीसरी मंजिल से नीचे गिर गई और इन्होने मुझे चक्कर आने की झूठी रिर्पोट दी । 

करतार सिंह ने पुलिस से मांग की है कि उपरोक्त स्कूल प्रिंसिपल रचना शर्मा व डारेक्टर राजबीर शर्मा उर्फ राजू के खिलाफ केस दर्ज करके उनके खिलाफ सख्त से सख्त कानूनी कार्यवाही की जावें और मेरी बेटी को न्याय दिलाया जाय।