Followers

Showing posts with label Faridabad News. Show all posts

नशा और साइबर फ्रॉड के खिलाफ दुर्गा शक्ति की टीम ने छात्र-छात्राओं को किया जागरूक

durga-shakti-team-awareness-against-cyber-fraud

फरीदाबाद:- डीसीपी सेन्ट्रल जसलीन कौर के द्वारा दिए गए दिशा निर्देश के तहत दुर्गा शक्ति सेंट्रल टीम ने गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल में छात्रओं नशे के दुष्परिणाम,महिला विरुद्ध अपराध, साइबर फ्रॉड व डायल 112 ऐप के संबंध में जागरूक किया है। 

साइबर फ्रॉड- 

दुर्गा शक्ति टीम ने बताया कि आजकल टास्क पूरा करने के नाम पर,लोन दिलाने के नाम पर, अश्लील वीडियो कॉल रिकॉर्ड कर, ईनाम दिलाने के नाम पर लालच, फेसबुक व्हाट्सएप या अन्य बहुत सारी सोशल साइट्स पर वीडियो कॉल स्कैम चल रहा है जिसमें कोई लड़का या लड़की आपको अश्लील वीडियो कॉल करने का ऑफर देते हैं। कुछ व्यक्ति इनके चंगुल में पूरी तरह फस जाते है और इनका शिकार हो जाते हैं। जिसके कारण काफी आर्थिक नुकसान होता है। इस प्रकार आजकल के युवा इन साइबर अपराधियों के झांसे में आ रहे हैं। अगर आपके साथ कोई साइबर फ्रॉड होता है तो गोल्डन ऑवर में तुरंत 1930 पर कॉल कर सूचना दे।

महिला विरुद्ध अपराध-

पुलिस टीम ने महिलाओं को बताया कि अगर कोई व्यक्ति किसी औरत या लडकी का पिछा करता है तो इस के संबंध में तुरंत डायल 112 पर सूचना दे, सूचना के 5-10 मिनट में पुलिस टीम आपके पास पहुंच कर आपकी समस्या का समाधान करेगी। इसके साथ अगर घर पर आस पडोस में कोई व्यक्ति आपको परेशान करता है तो इसकी सूचना पुलिस को दे। आपकी समस्या का समाधान किया जाएगा।

नशे के दुष्परिणाम-

ईआरवी  टीम को नशे से होने वाले दुष्प्रभाव के बारे में जानकारी दी तथा हरियाणा पुलिस द्वारा तैयार की गई वीडियो को दिखाया गया। नशा तस्करी में संलिप्त अपराधियों पर अंकुश लगाने के लिए आमजन को इसकी जानकारी पुलिस को देने के लिए हेल्पलाइन नंबर 90508 91508 पर देकर पुलिस की मदद करने के लिए कहा। सूचना देने वाले की पहचान गुप्त रखी जाएगी।  

28 से होगा मुख्यमंत्री कप का आयोजन, जल्द कर लें रजिस्ट्रेशन, DC ने दी विस्तार से जानकारी

cm-cup-online-registration

फरीदाबाद, 22 फरवरी। डीसी विक्रम सिंह ने कहा कि निदेशक खेल विभाग हरियाणा, पंचकूला के द्वारा CM CUP (मुख्यमंत्री कप) का आयोजन 28.02.2024 से  ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि 25.02.2024 है। यह प्रतियोगिता  28.04.2024 से 04.03.2024 तक ब्लॉक स्तर पर,  05.03.2024 को जिला स्तर पर, 07.03.2024 जोन स्तर पर गुरूग्राम में तथा 09.03.2024 को राज्य स्तर पर जिला पंचकूला में करवाई जाएगी।

यह खेल प्रतियोगिता करवाई जाएगी:-

डीसी विक्रम सिंह ने कहा कि ब्लाक, जिला, जोनल और राज्य स्तरीय/ Block, Districts, Zonal & State Level  पर 6 खेलों में  नेशनल कबड्डी, वालीबाल, हैण्डबाॅल, खो-खो, फुटबॉल तथा बास्केटबॉल में लड़के व लड़कियों  के 14-23 आयु वर्ग में करवाये जाऐंगे।

डीसी विक्रम सिंह ने कहा कि जो भी टीम ब्लाॅक स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेना चाहती है। वह अपना रजिस्ट्रेशन आनॅलाइन https://haryanasports.gov.in/cm-cup-2024/ या CM Cup 2024 पोर्टल पर कर सकती है। अन्यथा किसी भी कार्यदिवस में जिला खेल कार्यालय, फरीदाबाद में आकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवा सकते है। रजिस्ट्रेशन का लिंक आप कार्यालय से प्राप्त कर सकते है।

इस बारे में विस्तृत  जानकारी देते हुए जिला खेल अधिकारी श्री देवेन्द्र सिंह गुलिया ने बताया की जिला फरीदाबाद में  28.02.2024 को बल्लभगढ़ ब्लॉक, 29.02.2024 को तिगांव ब्लॉक तथा 01.03.2024 फरीदाबाद ब्लॉक में खेलों का आयोजन करवाया जाएगा। बल्लभगढ़ ब्लॉक के खेल 28.02.2024 तथा तिगांव ब्लॉक के खेल 29.02.2024 को राजीव गांधी ग्रामीण खेल परिसर अटाली में फुटबॉल, राजकीय उच्च विद्यालय, अटाली में खो-खो व नेशनल कबड्डी और जवाहर नवोदय विद्यालय, मोठूका में बास्केटबॉल, वालीबाॅल तथा हैण्डबाॅल खेलों का आयोजन करवाया जाएगा। 

फरीदाबाद ब्लाॅक के खेल 01.03.2024 को हरियाणा राज्य खेल परिसर सेक्टर-12 फरीदाबाद में आयोजित करवाये जाएंगे । सभी ब्लॉक में प्रथम आने वाली टीमों का मुकाबला 05.03.2024 को जिला स्तरीय प्रतियोगिता में होगा और जिला स्तर पर प्रथम आने वाली टीम को जोनल स्तरीय प्रतियोगिता के लिए 07.03.2024 को गुरुग्राम भेजा जाएगा। जोनल स्तरीय प्रतियोगिता में प्रथम आने वाले टीम 09.03.2024 को राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए पंचकूला भेजा जाएगा।

पृथला विधानसभा के इस गाँव में नर्क जैसे हालात, विधायक नयनपाल और सरपंच पर फूटा लोगों का गुस्सा

prithla-samaypur-village-news

पृथला विधानसभा के समयपुर गाँव में कुछ सड़कों की हालत नर्क जैसी हो गई है, सड़क टूटी हुई है और नालियां ओवरफ्लो हो रही हैं, समयपुर की इस सड़क की हालत देखकर आप अंदाजा लगा सकते हैं कि बरसात के दिनों में इसकी स्थिति क्या होती होगी। स्थानीय लोगों का का कहना है कि हमने विधायक नयनपाल रावत और सरपंच जितेंद्र भारती से बहुत बार गुहार लगा ली लेकिन कोई हमारी नहीं सुन रहा है, स्थानीय लोगों ने कहा, जब सरपंच से कहते हैं तो वो कहता है फंड नहीं है और नयनपाल रावत तो विधायक बनने के बाद कभी समयपुर में आये ही नहीं।

समयपुर गाँव के लोगों ने कहा, चुनाव के दौरान नयनपाल रावत ने कहा था कि अगर मैं नहीं जीता तो जहर खाकर मर जाऊंगा, हम लोग भावनाओं में बहकर वोट देकर नयनपाल को जिता दिए, जीतने के बाद एक बार भी गाँव में नहीं आया. लोगों ने कहा, समयपुर गाँव से नयनपाल रावत को सौ फीसदी वोट मिले तब भी हमारे गाँव में कोई विकास नहीं करवा रहे हैं, लोगो ने कहा, अब दोबारा भावनाओं में बहकर हम ऐसी गलती नहीं करेंगे। नीचे देखिये वीडियो।


नशा करके गाड़ी चुराने आया चोर गाड़ी में ही सो गया, पुलिस ने पकड़ा: देखें वीडियो


NIT-3 कल्याणपुरी से एक हैरान कर देने वाला चोरी का मामला सामने आया है, आमतौर पर चोर चोरी करके फरार हो जाते हैं और किसी को भनक तक नहीं लगती, लेकिन कल्याणपुरी में गाडी चुराने आया चोर गाडी में ही सो गया, बताया जा रहा है कि चोर नशे की हालत में था, इसलिए गाडी में ही सो गया, NIT-3 पुलिस चौकी की टीम ने चोर को पकड़ लिया है.

मीडिया से बात करते हुए गाडी मालिक ने बताया कि रोजाना की तरह कल भी मैंने कल्याणपुरी चौक पर गाडी खड़ी किया था, सुबह सात बजे जब गाडी लेने के लिये आया तो देखा चोर गाडी के अंदर था, मैं तुरंत पुलिस चौकी पहुंचा और सारी जानकारी दी, पुलिस मेरे साथ आई और उसको गाडी से बाहर निकाल कर पकड़ लिया। उसकी जेब से कुछ नशीले पदार्थ भी मिले थे, उन्होंने कहा कि चोर ने गाडी के लॉक तोड़ दिए थे.

NIT-3 पुलिस चौकी ने जानकारी दी कि चोर बुलेट से EECO गाडी चुराने आया था और गाडी में ही सो गया, चोर को पकड़ लिया गया है और बुलेट भी जब्त कर ली गई है, पुलिस के मुताबिक़, इस चोर पर पहले भी चोरी के कई मुकदमें दर्ज हैं.


DPS चौक पर डंडे लेकर घूमने वाली लेडी गैंग ने एक महिला की कर दी पिटाई

lady-gang-beaten-1-lady

कुछ दिन पहले फरीदाबाद न्यूज़ पर एक वीडियो वायरल हुई थी जिसमें 3 लड़कियां अपने हाथों में डंडे लेकर नहरपार में स्थित DPS चौक पर गुस्सा दिखा रही थी, ऐसा लग रहा था कि वो लड़कियां किसी को डराने-धमकाने का प्रयास कर रही थी, अब खबर आई है कि इन लड़कियों ने खेड़ीपुल पर एक महिला की बेरहमी से पिटाई कर दी.

जानकारी के अनुसार, कल रात को इस लेडी गैंग ने डोली नाम की एक महिला को जमकर पीटा, डोली ने बताया कि इन लड़कियों के नाम चुहिया, स्वान और स्वास्तिका है, सेक्टर-18 की रहने वाली डोली ने लेडी गैंग पर आरोप लगाते हुए कहा कि इसके पति ने इसका फोन छीन लिया था और पिटाई की थी, इसने मेरे पर इल्जाम लगा दिया कि मेरा फोन तू ले गई है, झूठा आरोप लगाकर मेरी पिटाई कर दी. लेडी गैंग जब डोली की पिटाई कर रही थी तो जो लोग बीचबचाव करने आये उनसे भी हाथपाई की, नीचे देखिये ये लेडी गैंग कैसे अपने हाथों में डंडे लेकर घूम रही हैं.

सौर ऊर्जा ट्युबबेल कनेक्शन के लिए फरीदाबाद के किसान 1 मार्च तक कर सकते हैं आवेदन

application-for-solar-energy-tube-connection

फरीदाबाद, 20 फरवरी। अतिरिक्त उपायुक्त डॉ. आनंद शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग हरियाणा के तहत जिला फरीदाबाद के किसान 6 श्रेणियों के 3 एचपी, 7.5 एचपी व 10 एचपी के सोलर ऊर्जा पम्प 75 प्रतिशत अनुदान पर लगवाने हेतू हरियाणा सरकार के सरल पोर्टल (saralharyana.gov.in) पर दिनांक 01.03.2024 तक आवेदन कर सकते है। इसके अतिरिक्त बिजली आधारित कनैक्शन (DHBVN) के मौजूदा आवेदकों को सौर ऊर्जा पम्प के कनैक्शन के लिए प्राथमिकता दी जाएगी, बशर्ते उनको अपने मौजूदा बिजली कनैक्शन का समर्पण करना पड़ेगा। इस वर्ष के लक्षित लाभार्थियों का चयन परिवार की वार्षिक आय व भूमि धारण के आधार पर किया जाएगा।

इस बारे में अधिक जाकारी देते हुए एडीसी आनंद शर्मा ने बताया कि ऑनलाईन आवेदन करने के लिए सभी किसानों को आवश्यक दस्तावेज जैसे परिवार पहचान पत्र होना आवश्यक है एवं आवेदक के नाम पर बिजली आधारित पम्प न हों, आवेदक के नाम पर कृषि भूमि की जमाबन्दी/फर्द होना आवश्यक है। किसान अपने खेत में सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली जैसे टपका, फव्वारा सिंचाई या भूमिगत पाईप लाईन स्थापित हो या पम्प लगाने से पहले स्थापित कर लेगें (प्रमाण पत्र/शपथ पत्र), अपलोड करना अति आवश्यक है। हरियाणा जल संसाधन प्राधिकरण के सर्वेक्षण के अनुसार उन गांवों में जहां भूजल स्तर 100 फीट से नीचे चला गया है सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली की स्थापना अनिवार्य है, अन्य को भूमिगत पाईप लाइन या सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली को लगाना अनिवार्य होगा। धान उगाने वाले किसान जिनके क्षेत्र में हरियाणा वाटर रिसोर्स अथॉरिटी की रिपोर्ट के आधार पर भूजल स्तर 40 मीटर से नीचे गिर गया है वह किसान इस योजना के पात्र नहीं है। पुराने सभी आवेदक भी नये सिरे से आवेदन करें (जिन्होनें अभी तक लाभार्थी हिस्सा जमा नहीं करवाया है)। किसान अपने ऑनलाईन आवेदन में क्षमता अनुसार जैसे 3 एचपी डीसी सरफेस मोनोब्लॉक, 7.5 एचपी डीसी सबमर्सिबल नार्मल कंट्रोलर तथा 10 एचपी डीसी सबमर्सिबल नार्मल कंट्रोलर और 10 एचपी एसी सबमर्सिबल नार्मल कंट्रोलर, 10 एचपी डीसी सबमर्सिबल यूनिवर्सल कंट्रोलर और 10 एचपी एसी सबमर्सिबल यूनिवर्सल कंट्रोलर सोलर पम्प के लिए लाभार्थी हिस्सा जमा करा सकते है व अपनी इच्छानुसार कम्पनी का चयन कर सकते है। 

इसके उपरान्त सरल पोर्टल पर दोबारा जाकर पेमेंट वेलीडेट करने के बाद ही किसान का आवेदन पूरा होगा, अन्यथा किसान का आवेदन पत्र रदद् समझा जाएगा। पेमेंट वेलीडेट करने के लिए किसान को बैंक से प्राप्त ट्रांजेक्शन नम्बर को सरल हरियाणा वेबसाईट पर भरना होगा व चालान की प्रति जिस पर बैंक द्वारा ट्रांजेक्शन नम्बर लिखा हुआ है व बैंक की स्टाम्प लगी हुई है, को पोर्टल पर ही अपलोड करना होगा। सोलर वाटर पम्पिगं सिस्टम से सम्बन्धित अधिक जानकारी व नियम और शर्तों की विस्तृत जानकारी के लिए जिले के किसान विभाग की वेबसाईट (http://hareda.gov.in) पर जा सकते हैं या किसी भी कार्य दिवस पर कार्यालय, अतिरिक्त उपायुक्त एवं मुख्य परियोजना अधिकारी, फरीदाबाद (ADC-cum-CPO, Faridabad) कमरा नम्बर 403 में संपर्क कर सकते हैं।

सूरजकुंड मेले में आए पटना के पति-पत्नी बेकार हो चुके कपड़ों के बना रहे अनोखे चप्पल

surajkund-international-crafts-mela-news

सूरजकुंड (फरीदाबाद), 16 फरवरी। 37वें सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेले में पटना से आए शिल्पकार विश्वनाथ दास बेकार हो चुके जूट और कपड़ों से अनोखा चप्पल बनाते हैं। इसकी खासियत यह है कि चप्पल पहनने की मियाद पूरी होने पर फैंकने के बाद वह खाद बन जाती है। विश्वनाथ दास अपनी धर्मपत्नी रीता दास के साथ मिलकर पिछले 25 साल से इस काम को कर रहे हैं। बीकॉम पास पति-पत्नी इससे पहले करीब दस साल तक विभिन्न बड़ी कंपनियोंं में नौकरी भी कर चुके हैं। 

आत्मनिर्भर बनने की सोच ने दोनो पति-पत्नी को शिल्पकार बना दिया। तंगी के दौर में पांच हजार रुपए उधार लेकर दोनो ने इस कारोबार को शुरू किया था। आज वह सैकड़ों लोगों को आत्मनिर्भर बनाकर महीने में करीब 70 से 80 हजार रुपए तक की आमदनी भी कर रहे हैं। इसी कारोबार से उन्होंने  अपने बड़े बेटे को एयरक्राफ्ट इंजीनियर और छोटे बेटे को डॉक्टर बनाया है। इनका उद्देश्य देश के ग्रामीण युवाओं को अपने हुनर और कम लागत से आत्मनिर्भर बनाना है।

इस प्रकार की शिल्पकारी की शुरूआत

कोलकाता के रहने वाले विश्वनाथ दास का कहना है कि वर्ष 1993 में बीकॉम करने के बाद उनका विवाह रीता के साथ हुआ। घर चलाने के लिए करीब दस साल तक बड़ी कंपनियों में नौकरी की। इसके बाद उनके अंदर आत्मनिर्भर बनने और अनोखा काम शुरू करने का विचार आया। नौकरी को छोडक़र वर्ष 2000 में उन्होंने गांवों में फेंक दिए जाने वाले जूट के बोरे एकत्रित करके उससे चप्पलें, बैग आदि बनाने का सोचा। धनराशि न होने के कारण उन्होंने जूटबोर्ड के अधिकारी कोलकाता के मोनोजित दास से संपर्क किया और 5 हजार रुपए उधार लेकर काम शुरू किया। सिक्किम में लगी प्रदर्शनी में विश्वनाथ दास ने दोगुनी कमाई कर आगे बढ़ते चले गए।

कोरोना काल में कपड़ों से बनाना शुरू किया चप्पल

शिल्पकार ने बताया कि कोरोना काल में जब जूट की कंपनियां बंद हो गई थी तब अपने घर के बेकार कपड़ों को घर में ही रिसाइकल करके उससे भी चप्पल बनाना शुरू कर दिया। कपड़ों से बने इन चप्पलों की मांग पूरे देश में है। अब तक वह देश के सभी राज्यों के अलावा बंग्लादेश, भूटान और नेपाल में भी अपने इस प्रोडक्ट को पहुंचा चुके हैं। वर्ष 2003 में इन्हें भारत सरकार ने मास्टर ट्रेनर के अवॉर्ड से नवाजा था। इनका दावा है कि कपड़ों और जूट से तैयार की गई लेडिज चप्पल साल भर और पुरुषों के चप्पलों की लाइफ करीब आठ महीने तक रहती है।

फिर पकड़ा गया राजीव कॉलोनी का गांजा तस्कर अशोक, 2 बार पहले भी जा चुका है जेल

crime-branch-arrested-ganja-taskar-ashok

फरीदाबाद- डीसीपी क्राइम हेमेंद्र कुमार मीणा के द्वारा अपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए दिए गए दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 प्रभारी नवीन कुमार की टीम ने गांजा तस्करी करने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया है। 

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी अशोक (53) फरीदाबाद की राजीव कॉलोनी का रहने वाला है। आरोपी को क्राइम ब्रांच टीम ने अपने गुप्त सूत्रों से प्राप्त सूचना से सेक्टर 56 से गांजा सहित काबू किया है। आरोपी की तलाशी लेने पर आरोपी से 910 ग्राम गांजा बरामद किया गया है। आरोपी के खिलाफ थाना सेक्टर 58 में नशा तस्करी की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार किया गया है। 

पुलिस पूछताछ में सामने आया कि आरोपी पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन से यह गांजा खरीदकर लाया था और पैसों के लालच में इसे फरीदाबाद में बेचना चाहता था। पुलिस जांच में सामने आया कि आरोपी इससे पहले भी गांजा और शराब तस्करी के मुकदमे में दो बार जेल की सजा काट चुका है। पुलिस पूछताछ पूरी होने के पश्चात आरोपी को अदालत में पेश करके कानून के तहत कार्रवाई अमल में लाई गई है।

फरीदाबाद: मार्च में होगी मैराथन, विजेताओं को मिलेंगे लाखों रूपये ईनाम, CM रहेंगे चीफ गेस्ट

mairathan-in-faridabad

फरीदाबाद, 13 फरवरी। औद्योगिक महानगर फरीदाबाद में तीन मार्च को फरीदाबाद मैराथॉन नाम से एक बड़ा इवेंट होने जा रहा है। इस इवेंट में अलग-अलग श्रेणियों में हजारों धावक अपनी भागीदारी करेंगे। हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल फरीदाबाद मैराथॉन में मुख्य अतिथि के तौर पर प्रतिभागियों का उत्साहवर्धन करेंगे। 

डीसी विक्रम सिंह मंगलवार को जिला सचिवालय के छठे तल पर स्थित कांफ्रेंस हॉल में सभी विभागों के अधिकारियों व शहर के प्रमुख उद्योगपतियों के साथ फरीदाबाद मैराथन की तैयारियों को लेकर मीटिंग आयोजित कर आवश्यक दिशा-निदेश दे रहे थे। इस दौरान खेल विभाग के निदेशक पंकज नैन ने भी विडियो कांफ्रेंस के जरिए कार्यक्रम की तैयारियों की जानकारी ली।  

उपायुक्त विक्रम सिंह ने बताया कि दिल्ली और मुंबई जैसे देश के प्रमुख शहरों में आयोजित होने वाले ऐसे आयोजनों की तर्ज पर फरीदाबाद मैराथॉन भी औद्योगिक महानगर का एनुअल इवेंट होगा। फरीदाबाद मैराथॉन में भागीदारी के लिए हजारों की संख्या में प्रोफेशनल रनर्स फरीदाबाद मैराथॉन डॉट कॉम पर अपना पंजीकरण करवा रहे हैं। उन्होंने बताया कि यह रजिस्ट्रेशन 29 फरवरी तक करवाया जा सकता है। मैराथन का शुभारंभ सूरजकुंड परिसर से होगा और यह शहर के बडख़ल मोड़ से वापिस जाएगी। उन्होंने बताया कि मैराथन के रूट में कुछ बदलाव भी किए जा सकते हैं। इसके लिए उन्होंने सभी से सुझाव भी लिए।

विभिन्न श्रेणियों में विजेताओं को नगद इनाम से किया जाएगा सम्मानित

डीसी विक्रम सिंह ने बताया कि मास्टर्स कैटेगरी में फुल मैराथन के विजेता को 50 हजार रुपए और हाफ मैराथन के विजेता को भी 50 हजार रुपए का ईनाम दिया जाएगा। ओपन केटेगरी में फुल मैराथन में प्रथम स्थान पर आने वाले विजेता को 1 लाख 50 हजार, द्वितीय विजेता को 1 लाख व तीसरे स्थान पर आने वाले विजेता को 75 हजार रुपए के नगद पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। इसी प्रकार हाफ मैराथॉन में प्रथम विजेता को 1 लाख, द्वितीय विजेता को 75 हजार व तीसरे स्थान पर आने वाले विजेता को 50 हजार रुपए के नगद पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

चिप युक्त बीब से रनर अपना वास्तविक रन टाइम कैलकुलेट कर सकेंगे

डीसी विक्रम सिंह ने बताया कि मैराथन के लिए पोर्टल पर फुल व हाफ मैराथन व 10 किलोमीटर की श्रेणी में आवेदन करने वाले रनर्स को रनिंग किट्स प्रदान की जाएगी। इसमें एक इलेक्ट्रॉनिक चिप युक्त बीब (टी शर्ट पर चिपकने वाला स्टीकर) शामिल है। उन्होंने बताया कि इस चिप युक्त बीब से रनर अपना वास्तविक रन टाइम कैलकुलेट कर सकेंगे। साथ ही आयोजन के उपरांत अपने इलेक्ट्रॉनिक बीब की मदद से आयोजन से जुड़े अपने फोटो भी डाउनलोड कर सकेंगे।

राष्ट्रीय स्तर के कलाकारों की होगी लाइव परफॉर्मेंस

डीसी विक्रम सिंह ने बताया कि फरीदाबाद में यह अपने आप में पहला ऐसा बड़ा कार्यक्रम होगा, जिसमें मैराथॉन में आए रनर्स में जोश व रोमांच भरने के लिए राष्ट्रीय स्तर के कलाकार अपनी लाइव परफॉर्मेंस देंगे। उन्होंने बताया कि मुख्य आयोजन स्थल के साथ-साथ मैराथन के पूरे रूट पर निर्धारित स्थानों पर भी छोटे स्टेज पर लाइव परफॉर्मेंस आयोजित किए जाएंगे जो रनर्स को बूस्ट अप करेंगे।

मैराथॉन मार्ग में यह होंगी व्यवस्थाएं

डीसी विक्रम सिंह ने बताया कि मैराथन मार्ग पर रनर्स की सुविधा के लिए प्रत्येक दो किलोमीटर पर मेडिकल स्टेशन बनाए जाएंगे। इन स्टेशन के साथ-साथ वहां पर ग्लूकोस, एनर्जी ड्रिंक्स सहित मोबाइल टॉयलेट्स की भी सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने बताया कि मैराथन मार्ग में रनर्स को किसी प्रकार की असुविधा न हो, इसके लिए पूरे मार्ग पर वालंटियर की ड्यूटी लगाई गई है। वहीं प्रत्येक 150 से 200 मीटर के बीच पुलिस कर्मी भी नियुक्त किए जाएंगे।

इसके साथ ही इस आयोजन में गुरूग्राम स्थित सभी यूनिवर्सिटी व सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों के कक्षा 11 व कक्षा 9 के बच्चों को भी इसमें सहभागी बनने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

मैराथन के लिए ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

मैराथॉन में सहभागी बनने के इच्छुक नागरिक फरीदाबाद मैराथॉन डॉट कॉम पर अपना रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि आवेदक को मोबाइल नंबर व ईमेल आईडी से रजिस्ट्रेशन करना होगा, जिस पर उन्हें ओटीपी प्राप्त होगा। इसके उपरांत उसे अपनी पर्सनल जानकारी व अन्य जानकारी भरनी होगी।

बैठक में एसडीएम फरीदाबाद अमित गुलिया, एसडीएम बल्लभगढ़ त्रिलोक चंद, एसडीएम बडख़ल अमित मान, सीटीएम अंकित, उद्योगपति मुकेश अग्रवाल, प्रदीप मोहंदी, अमित भल्ला, सर्वोदय से अमित कुमार, एफआईए से अंशुल कुमार सहित सभी विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

रिश्वत लेते पकड़ा गया MCF क्लर्क अरुण भाटिया, ACB ने रंगो हाथों दबोचा: देखें वीडियो


एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने आज नगर-निगम फरीदाबाद में कार्यरत अरुण भाटिया को पांच हजार रूपये रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया। जवाहर कॉलोनी निवासी संजीव भाटिया ने शिकायत दी थी कि अरुण भाटिया ने उससे रिश्वत मांगी है, एसीबी की टीम ने शिकायत को गंभीरता से लेते हुए आरोपी को बीके चौक पर स्थित नगर-निगम कार्यालय से रंगे हाथों रिश्वत लेते हुए धर दबोचा। अरुण भाटिया नगर-निगम का क्लर्क है.

फरीदाबाद न्यूज़ से बात करते हुए संजीव भाटिया ने कहा, मैं 9 तारीख को अरुण भाटिया के पास अपना जन्म प्रमाण पत्र बनवाने गया था, प्रमाण पत्र बनाने की एवज में उसने 25 हजार रूपये रिश्वत की डिमांड की, मैंने कहा, मेरे पास इतना पैसा नहीं है, जन्म प्रमाण पत्र बनाने के जो लगते हों उसे ले लो, इसके बाद अरुण भाटिया 10 हजार रूपये रिश्वत लेने पर राजी हो गया.

संजीव भाटिया ने बताया कि आज मैं फिर जब नगर-निगम ऑफिस आया तो इसने 10 हजार रूपये रिश्वत की मांग की तो मैनें कहा, अभी पांच हजार रूपये हैं ले लो बाकि बाद में ले लेना, मैनें अरुण भाटिया की शिकायत एंटी करप्शन ब्यूरो में कर दी और एसीबी की टीम ने छापा मारकर गिरफ्तार कर लिया। नीचे देखें अरुण भाटिया की गिरफ़्तारी का वीडियो।

सूरजकुंड मेले में हरियाणवी कलाकारों ने बिखेरा रंग, भक्ति के रस में डूबे दर्शक


सूरजकुंड (फरीदाबाद), 08 फरवरी। 37वें सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेला की गुरुवार की शाम हरियाणवी कलाकारों के नाम रही। बङी चौपाल पर आयोजित सांस्कृतिक संध्या में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के पब्लिसीटी एडवाईजर गजेन्द्र फौगाट और हरियाणवी कला के पद्मश्री कलाकार महाबीर गुड्डïू ने सुंदर गीतों की प्रस्तुति से रंग जमाया। उन्होंने रंगारंग सांस्कृतिक संध्या के दौरान एक ओर जहां हरियाणवी गीतों में भगवान शिव के भक्तियुक्त गीतों से चौपाल का माहौल भक्तिमय बना दिया। 


भक्तियुक्त गीतों को सुनकर दर्शक भक्ति के रस में स्नान करते हुए नजर आए। कलाकारों ने इंंडियन और वेस्टर्न वाद्य यंत्रों के जरिए से सूरजकुंड मेले को पूरी तरह भक्ति के रस में डूबो दिया। वहीं दूसरी ओर वंदे मातरम के उद्घोष के साथ चौपाल को देशभक्ति रंग में रंग दिया। महावीर सिंह गुड्डïू की तू राजा की राज दुलारी मैं सिर्फ लंगोटे आला सू जैसे भक्तिमय गीतों की प्रस्तुति देखकर चौपाल पर बैठे पर्यटक भाव विभोर हो उठे। वहीं दूसरी ओर महावीर गुड्डïू ने छोरी गावै-छोरी गावै गीत सुरीले, आ सुण ले मेरा ठिकाणा रे-भारत में हरियाणा, सौ-सौ पडे मुश्बित बेटा मर्द जवान में-भगत सिंह कदे जी घबरा जा तेरा बंद मकान में, मेरा रंग दे बंसती चोला जैसे सुंदर देशभक्ति गीतों की प्रस्तुति भी दी।

गजेंद्र फौगाट द्वारा राम घट घट में हैं-राम कण कण में हैं, मंगल भवन अमंगल हारी द्रवहु सो दशरथ अजिर बिहारी, मेरी झोंपडी के भाग आज खुल जाएंगे-राम आइंगे, अवध में आएंगे श्रीराम-अयोध्या आएंगे श्रीराम जैसे गीतों के साथ-साथ रामचरितमानस के विभिन्न चौपाइयों को संगीतमय रूप से गाकर चौपाल पर बैठे दर्शकों को भक्ति रस में डूबो दिया।


हाल ही में मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के पब्लिसीटी एडवाईजर गजेन्द्र फौगाट ने हरियाणा के सूचना जनसंपर्क एवं भाषा विभाग में एपीआरओ पद पर रहते हुए हरियाणवी पोप स्टार व वॉलीवुड सिंगर की उपाधि प्राप्त की है। वहीं शिक्षा विभाग के रिटायर प्रधानाचार्य महाबीर गुड्डïू को पंडित लख्मीचंद अवार्ड तथा कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय ने उन्हें पीएचडी की उपाधि से नवाजा है। महाबीर गुड्डïू ने बम लहरी की पहली प्रस्तुति 14 अगस्त 1972 में स्टेज पर दी थी। उन्होंने जंगम जोगी, कच्ची घोङी नृत्य और पुरुषों के धमाल डांस की शुरुआत की थी।

मोहना में एक्सप्रेसवे पर कट के लिए परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से मिले मंत्री कृष्णपाल गुर्जर

minister-krishnapal-gurjar-meet-minister-nitin-gadkari

जेवर-फरीदाबाद राजमार्ग पर मोहना गांव के समीप एक्सप्रेस वे पर उतरने और चढ़ने के लिए नए कट की आवश्यकता को लेकर मोहना व् आसपास के लोग कई महीनों से धरना प्रदर्शन कर रहे हैं, इसको संज्ञान में लेते हुए फरीदाबाद के सांसद एवं केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने आज केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से मुलाक़ात की.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मुलाक़ात के दौरान केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल ने गुर्जर ने बताया कि यह कट न केवल नागरिकों के लिए बेहतर संपर्क सुनिश्चित करेगा बल्कि इस क्षेत्र के विकास में भी योगदान देगा। गडकरी ने कट की आवश्यकता को गंभीरता से लेते हुए एनएचएआई के चेयरमैन को निर्देश दिए हैं कि मौका मुआयना करें ताकि इस कट के बारे में निर्णय लिया जा सके।

आपको बता दें कि एक्सप्रेसवे पर नए कट की आवश्यकता को लेकर मोहना में पिछले कई महीनों से धरना प्रदर्शन चल रहा है, बीते 4 फरवरी को मोहना अनाज मंडी में महापंचायत भी हुई थी, जिसमें किसान नेता राकेश टिकैत समेत कई नेता पहुंचे हुए थे. 

बल्लभगढ़ में Jyoti Strips Private Limited कम्पनी के दो ठिकानों पर पड़ा इनकम टैक्स का छापा

income-tax-raid-on-Jyoti-strips-private-limited

बल्लभगढ़ के सेक्टर-59 में स्थित Jyoti Strips Private Limited कम्पनी के दो ठिकानों पर आज सुबह आयकर विभाग की टीम ने छापेमारी की, जानकारी के अनुसार, इनकम टैक्स की टीम ने कम्पनी के मालिक के घर पर और कम्पनी के दोनों ठिकानों पर एक साथ दबिश दी, तलाशी के दौरान टीम ने कई दस्तावेज अपने कब्जे में लिए हैं, कई घंटो से छापेमारी चल रही है, कम्पनी के बाहर सीआरपीएफ के जवान तैनात हैं.

सेक्टर-59 में Jyoti Strips Private Limited कम्पनी के प्लॉट नंबर-50 और प्लॉट नंबर-100 में छापेमारी की कार्यवाही चल रही है, प्लॉट नंबर-100 में कुछ कर्मचारियों को बाहर निकाल दिया गया है. इस कम्पनी में क्वाइल बनाने का काम किया जाता है. हालाँकि इनकम टैक्स की टीम ने छापेमारी क्यों की है इसकी जानकारी नहीं मिल पायी है लेकिन माना जा रहा है टैक्स में हेराफेरी को लेकर कार्यवाही हुयी है, फिलहाल इस मामले में को जानकारी सामने आएगी अपडेट कर दिया जाएगा। नीचे देखें वीडियो

फरीदाबाद: कोतवाल और STF बनके रोहताश को अगवा कर फिरौती मांगने वाले 3 आरोपी गिरफ्तार

crime-branch-central-arrested-3-accused

फरीदाबाद डीसीपी क्राइम हेमेंद्र कुमार मीणा द्वारा अपराधिक वारदातों पर अंकुश लगाने के दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच सेंट्रल प्रभारी दीपक लोहान की टीम ने 47 वर्षीय व्यक्ति को अगवा करने के मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए उसे सकुशल बरामद कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में विष्णु, विवेक तथा गोपाल का नाम शामिल है। तीनों आरोपी वृंदावन के रहने वाले हैं। फरीदाबाद सागरपुर गांव का रहने वाला रोहतास 3 फरवरी को परिक्रमा करने के लिए वृंदावन गया था जहां शाम के समय परिक्रमा करते समय आरोपियों ने अपने आप को एसटीएफ व थाना कोतवाल अधिकारी बताकर उसे मोटरसाइकिल पर बैठा लिया और उसे आरोपी विवेक की दुकान पर ले गए जहां पर तीनों ने मिलकर रोहतास के साथ मारपीट की और उसे रस्सी से बांध लिया। आरोपियों ने रोहतास से ₹400 छीन लिए तथा ओर पैसों की मांग करने लगे जिस पर रोहतास ने कहा कि उसके पास पैसे नहीं है और उसके पास मोबाइल भी नहीं था तो आरोपियों ने उसके परिजनों का फोन नंबर लेकर रोहतास के भतीजे दीपक के पास फोन किया और ₹20000 की मांग करने लगे। पैसे नहीं देने पर उसके चाचा के पैर में गोली मार देने की धमकी दी। 

दीपक ने अपने चाचा को बचाने के लिए ₹5000 गूगल पे कर दिए। इसके बाद आरोपियों का फिर से फोन आया और वह ओर पैसों की मांग करने लगे जिसपर पीड़ित पक्ष ने सदर बल्लभगढ़ थाने में शिकायत दी। शिकायत के आधार पर 4 फरवरी को मुकदमा दर्ज करके थाना व ब्रांच की टीम आरोपियों की तलाश में जुट गई। मामले में क्राइम ब्रांच सेंट्रल की टीम ने मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए मात्र 24 घंटे में रोहतास को वृंदावन से आरोपियों के कब्जे से छुड़ाकर सकुशल बरामद कर तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। 

आरोपियों के कब्जे से वारदात में प्रयोग 2 मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं। आरोपियों को फरीदाबाद लाया गया और पुलिस पूछताछ शुरू की गई जिसमें सामने आया कि आरोपी नशेड़ी किस्म के व्यक्ति हैं जिन्होंने नशे की आपूर्ति के लिए रोहतास का अपहरण किया था। आरोपी विष्णु बहुत ही शातिर अपराधी है इसके खिलाफ लूट व चोरी के 6 मुकदमे पहले से दर्ज हैं। मामले में वारदात में प्रयोग रॉड तथा मोटरसाइकिल बरामद करने के लिए आरोपियों को अदालत में पेश करके पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा ।

राम मंदिर का दर्शन करने के लिए फरीदाबाद से अयोध्या के लिए शुरू हुई बस सेवा

bus-service-started-from-faridabad-to-ayodhya

बल्लभगढ (फरीदाबाद), 04 फरवरी। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की पहल पर अयोध्या के लिए हरियाणा रोडवेज की बस सुविधा शुरू की गई है। हरियाणा के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने रविवार को बल्लभगढ़ से हरियाणा रोडवेज बस को हरी झंडी दिखाकर अयोध्या नगरी के लिए रवाना किया। इस दौरान उनके साथ विधायक सीमा त्रिखा, विधायक नरेंद्र गुप्ता व अन्य गणमान्य नागरिक भी मौजूद रहे।

कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा ने अयोध्या जाने वाली बस में सफर करते हुए कहा कि हरियाणा के हर जिला से अयोध्या के लिए बसों का संचालन किया जाएगा। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि जो लोग महंगे सफर की वजह से अयोध्या नहीं जा सकते थे, अब उन्हें इसके लिए सोचना नहीं पड़ेगा, क्योंकि हरियाणा रोडवेज की बस सस्ते में अयोध्या में भगवान श्रीरामचंद्र के दर्शन करने के लिए सफर करवाएगी। कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि  सरकार द्वारा आमजन के लिए परिवहन की सुविधा को ज्यादा से ज्यादा सुविधाजनक बनाने का प्रयास किया जा रहा है, ताकि लोग अधिक से अधिक हरियाणा राज्य परिवहन की बसों का लाभ उठाएं। उन्होंने आमजन मानस से अपील करते हुए कहा कि हरियाणा राज्य परिवहन को देश में सभी वर्ग के लोगों को बेहतर यातायात सुविधाएं प्रदान करने का काम किया है।

इस मौके पर विधायक नरेंद्र गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री हरियाणा का यह एक ऐतिहासिक फैसला है कि अयोध्या के लिए बस का संचालन किया जा रहा है, जिससे जनता को सीधे हरियाणा परिवहन की बस सेवा के जरिए अयोध्या नगरी में भगवान श्री राम के दर्शन होंगे। विधायक सीमा त्रिखा ने भी मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सोच और परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा द्वारा शुरू की गई बस सुविधा के लिए उनका धन्यवाद व आभार प्रकट किया।

उल्लेखनीय है कि बल्लभगढ से अयोध्या के लिए हरियाणा रोडवेज बस का एक ओर से किराया मात्र 960 रुपए प्रति टिकट है और यह बस प्रतिदिन सुबह 8.30 बजे बल्लबगढ़ से अयोध्या के लिए संचालित होगी।

वहीं अयोध्या के लिए सफर कर रहे यात्रियों में श्रीराम जन्म भूमि के लिए शुरू की गई हरियाणा रोडवेज की बस सुविधा से खुशी देखी गई। लोग हरियाणा सरकार के इस फैसले को ऐतिहासिक बताते हुए जय श्री राम के नारे लगाते हुए नजर आए।

परिवहन विभाग की बस में सफर करते हुए भारत कालोनी निवासी प्यारेलाल व कौशल दीक्षित, सेक्टर-19 निवासी विजय कुमार व राजीव, बल्लबगढ़ निवासी संजू राणा ने कहा कि देश में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व और प्रदेश में मुख्यमंत्री मनोहर लाल व कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा का जनता को राम मंदिर में राम लल्ला के दर्शन के लिए अयोध्या बस सेवा शुरू करना सनातन धर्म के लोगों के लिए सराहनीय कदम है। औद्योगिक नगरी फरीदाबाद के सनातन धर्म के सभी लोग बस में अयोध्या जाकर भगवान श्री राम के दर्शन सहज ही कर पाएंगे। अयोध्या बस सेवा के शुभारंभ अवसर पर भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष गोपाल शर्मा, टिपरचंद शर्मा, हर प्रसाद गौड, जगत भूरा, प्रेम खट्टर, लखन बेनीवाल, नवीन चेची, मुकेश डागर, सुषमा यादव, महाप्रबंधक लेखराज सहित शहरवासी मौजूद रहे।

फरीदाबाद: प्रॉपर्टी डीलर रामसेवक की ह'त्या करने वाले को हथियार सप्लाई करने वाला आरोपी गिरफ्तार

1-accused-arrested-in-ramsevak-murder

फरीदाबाद- डीसीपी क्राइम हेमेंद्र कुमार मीणा के दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच 85 प्रभारी जोगिंदर सिंह की टीम ने 20 दिन पहले हत्या के मुकदमे में आरोपियों को असल सप्लाई करने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया है। बता दें कि गांव तिल्लोरी खादर में 14 जनवरी को जमीन विवाद में प्रॉपर्टी डीलर रामसेवक की हत्या योजना के तहत कर दी है। 

मृतक के छोटे भाई विजेंद्र पाल की शिकायत पर थाना भुपानी में योजना के तहत अवैध हथियार से हत्या की प्रयास और हत्या की धाराओं में मामला दर्ज किया गया था। मामले में संज्ञान लेते हुए पुलिस आयुक्त राकेश कुमार आर्य के द्वारा मामले में तुरंत कार्रवाई के दिए गए आदेश डीसीपी क्राइम हेमेंद्र कुमार मीणा के दिशा निर्देश तथा एसीपी क्राइम अमन यादव के मार्गदर्शन में कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 प्रभारी जोगिन्द्र सिहँ की टीम ने मामले में कार्रवाई करते हुए मुख्य आरोपी मोहित उर्फ़ कपील, गौरव,मुबीन उर्फ़ सेंटी आरोपियों को गिरफ्तार किया था।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी अतेंद्र फरीदाबाद के बुढेना गांव का रहने वाला है। इस मामले में मृतक रामसेवक व मामले के मुख्य आरोपी मोहित के बीच जमीनी विवाद चल रहा था जिस कारण पहले भी संबंध में झगड़े हुए हैं जो अब मोहित उर्फ़ कपिल ने इस जमीन विवाद को लेकर रामसेवक को मारने की योजना बनाई थी। योजना के तहत कपिल ने पता किया कि रामसेवक हर रविवार तिल्लोरी खेतों पर जाता है और मोहित उर्फ़ कपील ने अपने साथियो मुबीन, गौरव, और अन्य आरोपी के साथ मिलकर रामसेवक की हत्या की वारदात को अंजाम दिया था। मामले में तीन आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद क्राइम ब्रांच की टीम ने मामले में आगे कार्रवाई करते हुए आरोपी अतेंद्र को बीपीटीपी एरिया से गिरफ्तार किया है। आरोपी के खिलाफ थाने में अवैध हथियार का एक और मुकदमा दर्ज करके मामले में पूछताछ की गई। पुलिस पूछताछ में सामने आया कि आरोपी यह पिस्टल अब्बास नाम के व्यक्ति  से 95000 में खरीद कर लाया था जिसकी तलाश जारी है। पुलिस जांच में सामने आया कि आरोपी के खिलाफ इससे पहले भी अवैध हथियार व लड़ाई झगड़े के कई मुकदमे दर्ज हैं। 


सूरजकुंड मेले में मैथिली ठाकुर ने बिखेरा सुरों का जलवा, भक्तिमय हुआ माहौल

maithili-perform-in-surajkund-international-mela

सूरजकुंड (फरीदाबाद), 03 फरवरी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सोशल मीडिया एक्स पर वीडियो पोस्ट से सुर्खियों में आई बिहार की बेटी मैथिली ठाकुर ने शनिवार को बड़ी चौपाल पर जब भक्ति रस से ओतप्रोत मेरी झोपडी के भाग आज खुल जाएंगे, राम आएंगे... को मधुर धुन में ऐसे पिरोया कि दर्शक प्रभू श्रीराम की भक्ति में डूब गए। मौका था 37 वें सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय हस्त-शिल्प मेले में बड़ी चौपाल में आयोजित सांस्कृतिक संध्या का।

इस सांस्कृतिक संध्या में मां शबरी पर एक गीत गाने के लिए दर्शकों ने मैथिली ठाकुर के भजन की जमकर प्रशंसा की। बता दें कि अयोध्या के राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा से पहले दुनिया में यह भक्ति गीत उस समय लाइमलाइट में आया, जब देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे अपने सोशल मीडिया एक्स पर पोस्ट किया। अपने एक्स पर एक पोस्ट में पीएम मोदी ने कहा था कि यह गीत प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम देश में लोगों को भगवान राम के जीवन से जुड़ी घटनाओं की याद दिला रहा है। पीएम मोदी ने मैथिली ठाकुर की जमकर तारीफ की थी। भारतीय चुनाव आयोग ने उन्हें ब्रांड एंबेसडर भी बनाया है।

बिहार में जन्मी मैथली ठाकुर हिंदी, भोजपुरी और मैथिली जैसी विभिन्न भाषाओं में गाना गाने के लिए जानी जाती हैं।

आज के कार्यक्रम में उन्होंने सबसे पहले रामा-रामा रटते-रटते बीती रे उमरिया.... से शुरुआत की। इसके बाद जब उन्होंने श्रीराम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में... गाया तो दर्शक उनके साथ गाने लगे तथा भोजपुरी में भगवान राम को समर्पित ...जन्म लिए रघुरैया, अवधिया में बाजे बजैया... गीत की प्रस्तुति पर तो पर्यटक झूमने को मजबूर हो गए।

इससे पहले आज दिन भर देश विदेश से आए कलाकारों ने अपनी पारंपरिक सांस्कृतिक प्रस्तुतियों से दर्शकों का मनोरंजन किया। आज दिन में गुजराती डांडिया, पंजाब पुलिस का बैंड, तंजानिया का जांजीवा, अफ्रीका का मालवी तथा इथोपिया का पारंपरिक नृत्य सहित अनेक कार्यक्रम आयोजित किए गए।

इस अवसर पर सचिव भारत सरकार चंचल कुमार, सूरजकुंड मेला प्राधिकरण के वाइस चेयरमैन एम.डी. सिन्हा, पर्यटन विभाग के प्रबंध निदेशक नीरज कुमार के अलावा अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।

सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय मेले का हुआ भव्य आगाज, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने किया उद्घाटन

surajkund-international-fair-started

फरीदाबाद, 02 फरवरी। हरियाणा के सूरजकुंड में आज 37वें सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेला-2024 का भव्य आगाज हुआ, जो 18 फरवरी तक चलेगा। भारत की राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मू द्वारा 37वें सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेला का उद्घाटन किया गया। इस अवसर पर हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय और मुख्मयंत्री श्री मनोहर लाल सहित कई गणमान्य अतिथियों की गरीमामयी उपस्थिति रही।

मेले के शुभारंभ अवसर पर राष्ट्रपति ने मेला परिसर में हरियाणा की अपना घर पवेलियन का दौरा किया और हरियाणवी संस्कृति की झलक बिखेर रहे यंत्रों की बारीकी से जानकारी भी ली। राष्ट्रपति ने मेला के थीम स्टेट गुजरात राज्य के स्टॉलों का अवलोकन करते हुए शिल्पकारों से भी संवाद किया। साथ ही मेले के सहभागी देशों व प्रदेशों की सांस्कृतिक विधा को भी देखते हुए उन्हें प्रोत्साहित किया। परिसर की मुख्य चौपाल के मंच से राष्ट्रपति श्रीमती द्रोपदी मुर्मु ने दीप प्रज्ज्वलन के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

उद्घाटन करने उपरांत राष्ट्रपति ने अपने संबोधन में कहा कि वर्ष 1987 से हर वर्ष आयोजित किए जा रहे इस मेले के सफल आयोजन के लिए सभी टीमें बधाई की पात्र हैं। उन्होंने इस वर्ष के मेले के आयोजन के लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल व उनकी टीम की प्रशंसा की।

श्रीमती द्रौपदी मुर्मु ने कहा कि तंजानिया इस वर्ष के मेले का भागीदार देश है। पिछले साल अक्टूबर में तंजानिया की राष्ट्रपति सामिया सुलुहू हसन से चर्चा के दौरान दोनों देशों की सांस्कृतिक आदान-प्रदान को और अधिक विस्तारित करने के महत्व पर सहमति बनी थी। इस मेले में आने वाले आगंतुकों को लकड़ी की नक्काशी, मिट्टी के बर्तन और बुनाई सहित जीवंत और रंगीन तंजानिया कला और शिल्प का अनुभव करने का मौका मिलेगा। यह तंजानियाई नृत्य, संगीत और व्यंजनों को प्रदर्शित करने का एक अद्भुत मंच है, जिसमें हम भारत और पूर्वी अफ्रीकी तट के बीच सदियों से लोगों के बीच संपर्क के कारण कुछ भारतीय प्रभाव की झलक भी देख सकते हैं। इस मेले में भागीदार राष्ट्र के रूप में तंजानिया की भागीदारी अफ्रीकी संघ के साथ भारत की मजबूत भागीदारी को उजागर करती है।

राष्ट्रपति ने कहा कि इस वर्ष के मेले के साझेदार राज्य गुजरात की कला, परंपरा देखते ही बनती है। गुजरात के विभिन्न क्षेत्रों से आए शिल्पकरों व कलाकारों के माध्यम से राज्य की जीवंत कला देखने को मिलेगी। उन्होंने कहा कि उत्तर पूर्वी हस्तशिल्प एवं हथकरघा विकास निगम लिमिटेड इस वर्ष के मेले के सांस्कृतिक भागीदार हैं। हमारे शिल्पकारों ने देश की कला विरासत को संजो कर रखा है। इसके लिए सभी शिल्पकार सराहना के पात्र हैं।

उन्होंने कहा कि यह मेला हमारी सांस्कृतिक विविधता का उत्सव है। यह मेला हमारी परंपरा का उत्सव भी है और नवीनता का भी। यह मेला हमारे शिल्पकारों को कला प्रेमियों से जोडऩे का प्रभावी मंच है। यह मेला कला प्रदर्शनी भी है और व्यापार केंद्र भी है। उन्होंने कहा कि इस मेले के दौरान 20 करोड़ रुपये से ज्यादा का व्यापार होने की उम्मीद है, जो शिल्पकारों व हथकरघा व्यापारियों के लिए आर्थिक दृष्टि से एक बहुत बड़ा मंच है।

सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेले ने वैश्विक पर्यटक कैलेंडर में अपनी एक अलग जगह बनाई है, जो निरंतर सफलता की ओर अग्रसर है- राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय

इस अवसर पर राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने आज के दिन को हरियाणा राज्य के लिए एक ऐतिहासिक दिवस बताते हुए कहा कि राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मु की उपस्थिति से इस मेले की भव्यता में एक नया आयाम जुड़ा है। उनके आगमन से हरियाणा राज्य के लिए भी आज का दिन ऐतिहासिक बन गया है।  उन्होंने बताया की इस बार मेले का थीम स्टेट गुजरात है, जो सांस्कृतिक विविधता और सभ्यता के लिए प्रसिद्ध है और मेले का सहयोगी राष्ट्र तंज़ानिया है, जिसका भारतवर्ष के साथ गहरा रिश्ता है। राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि उम्मीद है इस प्रकार के आयोजनों से हमारे द्विपक्षीय संबंध और मज़बूत होंगे।  

राज्यपाल ने कहा की सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय मेला ने अंतरराष्ट्रीय पर्यटक कैलेंडर में अपनी अलग पहचान बना ली है। अब यह हर साल एक बहू प्रतीक्षित कार्यक्रम है जो निरंतर सफलता की ओर अग्रसर है। गत वर्ष देश विदेश से लगभग 14 लाख पर्यटकों का मेले में आगमन हुआ था।

श्री बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि इस वर्ष हमारे आठ उत्तर पूर्वी राज्य- अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, सिक्किम व त्रिपुरा- हमारी अस्टलक्ष्मी सांस्कृतिक भागीदार के रूप में भाग ले रहे हैं। यह सभी आठ राज्य मेले में आगंतुकों व कला प्रेमियों के लिए कला, शिल्प, व्यंजन और प्रदर्शन कला की पहले कभी न देखी गई माला प्रस्तुत करने के लिए एक छतरी के नीचे एकत्रित होकर अपनी प्रतिभाओं का प्रदर्शन करके मेले को आकर्षक बनाएगें।

आत्मनिर्भरता के साथ विकसित भारत की परिकल्पना को साकार कर रहा है हरियाणा- मुख्यमंत्री मनोहर लाल

इस अवसर पर हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मु का प्रदेशवासियों की ओर से हरियाणा की धरा पर पधारने के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि अरावली की पहाडिय़ों की तलहटी में तोमर वंश के राजा सूरजपाल द्वारा बनवाया गया ऐतिहासिक सूरजकुंड रोमन शैली में बना है और उगते सूरज की आकृति का है। उगता सूरज प्रगति का प्रतीक माना जाता है। इस धरा पर पिछले 36 सालों से लगाये जा रहे अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेले का इस बार विशेष महत्व है, इसका उद्घाटन राष्ट्रपति के कर कमलों से हुआ है। आज सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेला हरियाणा की पहचान बन चुका है।

मुख्यमंत्री ने विशेष रूप से मेले में भागीदार देश संयुक्त गणराज्य तंजानिया के कारीगरों और शिल्पकारों का स्वागत करते हुए कहा कि पूर्वी अफ्रीकी देश तंजानिया की कला और शिल्प निश्चित रूप से इस मेले में आकर्षण का केंद्र होगा। उन्होंने कहा कि इस बार मेले का सहभागी राज्य गुजरात है। उन्होंने कहा कि हरियाणा प्रदेश आत्मनिर्भरता के साथ विकसित भारत की परिकल्पना को साकार करने में अपना दायित्व निभा रहा है।

उन्होंने कहा कि पहली बार इस वर्ष इस मेले में 40 से अधिक देश भाग ले रहे हैं, जो एक रिकॉर्ड है। यहां देश-विदेश के कलाकारों व शिल्पकारों की कल्पनाओं से सराबोर कलाकृतियों से सुसज्जित इस हस्तशिल्प मेले की छटा देखते ही बनती है। उन्होंने कहा कि इस मेले में लगभग 1000 से अधिक स्टॉल शिल्पकारों व हस्तशिल्पियों को उपलब्ध करवाए जाते हैं। मेले में हरियाणा की चौपाल, अपना घर के माध्यम से यहां की संस्कृति भी देखने को मिलेगी। उन्होंने कहा कि 16 दिनों तक चलने वाले इस मेले में 15 लाख से अधिक लोगों के आने की उम्मीद है।

यह मेला परंपरा, विरासत और संस्कृति की त्रिवेणी

श्री मनोहर लाल ने कहा कि हस्तशिल्पियों द्वारा बनाई गई कलाकृति और हस्तशिल्प आत्मनिर्भर भारत की सच्ची भावना को निरूपित करती हैं। उनके इस महत्व को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा इस दिशा में विशेष प्रयास किए गए हैं। सूरजकुण्ड अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेला पिछले 36 वर्षों से शिल्पकारों और हथकरघा कारीगरों को अपना हुनर प्रदर्शित करने का बेहतरीन मंच रहा है। यह मेला विभिन्न अंचलों की लोक-कलाओं, लोक-व्यंजनों, लोक-संगीत, लोक नृत्यों और वेशभूषा से रू-ब-रू करवाता है। यह मेला परंपरा, विरासत और संस्कृति की त्रिवेणी है, जो भारत के ही नहीं, बल्कि दुनिया भर के पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में शिल्पकला को बढ़ावा देने के लिए हम इस प्रकार के मंच प्रदान करते रहते हैं। इस अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेले के अलावा जिला स्तर पर सरस मेले लगाए जाते हैं, जिनमें शिल्पकारों और बुनकरों को अपनी हस्तशिल्पों का प्रदर्शन करने का अवसर मिलता है।

हरियाणा में शिल्पकारों को मिल रहा है उचित मंच - पर्यटन मंत्री कंवर पाल

इस अवसर पर हरियाणा के पर्यटन एवं विरासत मंत्री श्री कंवर पाल ने सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि 36 वर्षों से सूरजकुंड शिल्प मेला का आयोजन किया जा रहा है और हर साल इसका आकार बढ़ता जा रहा है। पिछले कुछ वर्षों में मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के दूरदर्शी नेतृत्व में यह मेला तेजी से लोकप्रियता के मामले में आगे बढ़ रहा है। मुख्यमंत्री के पर्यटन को बढ़ावा देने तथा वैश्विक स्तर तक पहुंचाने के प्रयासों का ही परिणाम है कि विभिन्न देशों की भागीदारी इस मेले में हो रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में शिल्पकला को बढ़ावा देने के लिए सरकार शिल्पकारों को विशेष मंच प्रदान कर रही है। इस अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेले के अलावा जिला स्तर पर सरस मेले लगाए जाते हैं, जिनमें शिल्पकारों और बुनकरों को अपनी हस्तशिल्पों का प्रदर्शन करने का अवसर मिलता है।

इस अवसर पर केंद्रीय भारी उद्योग राज्य मंत्री श्री कृष्ण पाल, हरियाणा के परिवहन मंत्री श्री मूलचंद शर्मा, विधायक श्रीमती सीमा त्रिखा, श्री राजेश नागर, श्री नरेंद्र गुप्ता, मुख्य सचिव श्री संजीव कौशल, पुलिस महानिदेशक श्री शत्रुजीत कपूर, सूरजकुंड मेला प्राधिकरण अध्यक्ष वी. विद्यावती, सूचना, लोक संपर्क, भाषा एवं संस्कृति विभाग के महानिदेशक श्री मंदीप सिंह बराड़ सहित अन्य सांसदगण और विधायकगण मौजूद रहे।

कल से शुरू हो जाएगा सूरजकुंड मेला, जानिए कैसे मिलेगा टिकट और कहाँ होगी पार्किंग

surajkund-international-fair-started-2-february

फरीदाबाद/ सूरजकुडं, 01 फरवरी। भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय ki सचिव वी. मनीषा ने कहा कि 37वां सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय शिल्प मेला-2024, 02 फरवरी से 18 फरवरी, 2024 तक आयोजित होने जा रहा है और इसका लक्ष्य अपनी उच्च ऊर्जा और जोश के साथ इतिहास बनाना है। उन्होंने कहा कि 37वें संस्करण में दुनिया भर और पूरे भारत से अभूतपूर्व भागीदारी देखने को मिलेगी। "भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 02 फरवरी, 2024 को दोपहर 3:00 बजे श्री बंडारू दत्तात्रेय, माननीय राज्यपाल, हरियाणा की गरिमामय उपस्थिति में 37वें सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय शिल्प मेले के उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता करेंगी। वहीं श्री मनोहर लाल, हरियाणा के माननीय मुख्यमंत्री, श्री कंवर पाल, माननीय विरासत और पर्यटन, स्कूल शिक्षा, पर्यावरण, वन और वन्यजीव, आतिथ्य और संसदीय कार्य मंत्री, हरियाणा सरकार, श्री कृष्ण पाल, माननीय राज्य मंत्री, बिजली और भारी उद्योग, भारत सरकार, श्री मूलचंद शर्मा, परिवहन, खान और भूविज्ञान, चुनाव और उच्च शिक्षा मंत्री, हरियाणा सरकार, श्रीमती सीमा त्रिखा, एम.एल.ए., बडखल के साथ केन्द्र और प्रदेश सरकार के टूरिज्म सहित अन्य विभागों के अधिकारी गण  गणमान्य व्यक्ति इस अवसर की शोभा बढ़ाएंगे।

हरियाणा सरकार के पर्यटन विभाग   प्रधान सचिव एमडी सिन्हा ने कहा कि हस्तशिल्प, हथकरघा और भारत की सांस्कृतिक विरासत की समृद्धि और विविधता को प्रदर्शित करने के लिए 1987 में पहली बार सूरजकुंड शिल्प मेले की मेजबानी की गई थी। उन्होंने कहा कि  केंद्रीय पर्यटन, कपड़ा, संस्कृति, विदेश मंत्रालय और हरियाणा सरकार के सहयोग से सूरजकुंड मेला प्राधिकरण और हरियाणा पर्यटन द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित, यह उत्सव देश में गौरव और प्रमुखता का स्थान ले चुका है।

सौंदर्यपूर्ण माहौल में भारत के शिल्प, संस्कृति और व्यंजनों के प्रदर्शन के लिए यह अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन कैलेंडर है

सूरजकुंड शिल्प मेले के इतिहास में एक बैंचमार्क स्थापित किया गया था। क्योंकि इसे 2013 में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपग्रेड किया गया था। वहीं  2023 में, यूरोप, अफ्रीका और एशिया के 40 से अधिक देशों ने मेले में भाग लिया।

37वें अन्तर्राष्ट्रीय सूरजकुडं शिल्प के यह देश हैं भागीदार

एमडी सिन्हा ने कहा कि इस वर्ष लगभग 50 देश मेले का हिस्सा होंगे। जिनमें बोत्सवाना, काबो वर्ड, कोमोरोस, इस्यातिनी, इथियोपिया, गाम्बिया, घाना, गिनी बिसाऊ, केन्या, मेडागास्कर, मलावी, माली, मोजाम्बिक, नामीबिया, नाइजीरिया, साओ टोम प्रिंसिपी, सेनेगल शामिल हैं। सेशेल्स, टोगो, युगांडा, जान्थिया, जिम्बाब्वे, अल्जीरिया, आर्मेनिया, बांग्लादेश, बेलारूस, कांगो, डोमिनिकन, मिस, एस्टोनिया, आयरलैंड, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, लेबनान, मॉरीशस, म्यांमार, नेपाल, रूस, श्रीलंका, सीरिया, थाईलैंड, ट्यूनीशिया, तुर्की, यूनाइटेड किंगडम, उज़्बेकिस्तान, भूटान, कैमरून और जोर्डन शामिल हैं। वहीं संयुक्त गणराज्य तंजानिया 'साझेदार राष्ट्र के रूप में भाग लेगा और मेले में अफ्रीका के रंग और जीवंतताएं लाएगा।

गुजरात प्रदेश होगा मेले क थीम स्टेट: नीरज कुमार

सूरजकुण्ड के चीफ़ एडमिनिस्ट्रेटर नीरज कुमार ने बताया कि 37वें अन्तर्राष्ट्रीय सूरजकुडं शिल्प मेले में गुजरात राज्य 37वें सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय शिल्प मेला 2024 का थीम राज्य है, जो क्षेत्र के विभिन्न कला रूपों और हस्तशिल्प के माध्यम से अपनी अनूठी संस्कृति और समृद्ध विरासत का प्रदर्शन कर रहा है।

आगंतुकों को गुजरात की महान भूमि से विरासत और संस्कृति का एक टुकड़ा मिलेगा। गुजरात के सैकड़ों कलाकार विभिन्न लोक कलाओं और नृत्यों का प्रदर्शन करेंगे। पारंपरिक नृत्य कला रूपों से लेकर उत्कृष्ट शिल्प तक, यहां विरासत और संस्कृति का गुलदस्ता मौजूद है। 

दर्शकों को लुभाने के लिए गुजरात स्टेट द्वारा आगंतुकों के मूड को खुश करने के लिए, भारत के राज्यों के कलाकारों सहित भाग लेने वाले विदेशी देश

37वें अन्तर्राष्ट्रीय सूरजकुडं शिल्प मेले में देश और विदेश  के अंतर्राष्ट्रीय लोक कलाकारों द्वारा शानदार प्रदर्शन प्रस्तुत किए जाएंगे।

साथ ही, इस वर्ष हमारे आठ उत्तर पूर्वी राज्य, हमारी 'अस्तलक्ष्मी' सांस्कृतिक भागीदार के रूप में भाग लेंगे। अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, सिक्किम और त्रिपुरा के सभी आठ राज्य मेले के आगंतुकों के लिए कला, शिल्प, व्यंजन और प्रदर्शन कला की पहले कभी न देखी गई माला प्रस्तुत करने के लिए एक छतरी के नीचे एक साथ आएंगे।

दिन के विभिन्न प्रकार के कलाकार आगंतुकों को मंत्रमुग्ध करेंगे

रंगारंग सास्कृतिक कार्यक्रमों पंजाब से भांगड़ा, असम से बिहू, बरसाना की होली, हरियाणा से लोक नृत्य, हिमाचल प्रदेश से जमकड़ा, हाथ की चक्की का लाइव प्रदर्शन और हमेशा प्रसिद्ध बहरूपिया, जो रखेंगे मेला मैदान में भीड़ ने अपनी मनमोहक प्रतिभा और दिखावे से मनोरंजन किया।

मेला पखवाड़े के दौरान शाम को मनमोहक सांस्कृतिक प्रस्तुतियों आगंतुकों का भरपूर मनोरंजन करेंगी। परिक्रमा, मेथली ठाकुर द्वारा गूंजती भक्ति प्रस्तुति, पदम श्री उस्ताद अहमद हुसैन और उस्ताद मोहम्मद हुसैन द्वारा भावपूर्ण सूफी प्रस्तुति, गीता राबड़ी द्वारा शास्त्रीय गुजराती लोकगीत, उत्तर पूर्वी बैंड, अंतर्राष्ट्रीय फ्यूजन, कैलाश खेर की मनमोहक धुन, पंजाची जैसे बैंडों के शानदार प्रदर्शन का आनंद लेंगे । वहीं  दलेर मेहंदी का पोप प्रदर्शन के अलावा गुजरात, तंजानिया और अन्य अंतर्राष्ट्रीय कलाकारों के मनमोहक नृत्य और गीत कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए। शाम 6.00 बजे से बङी/ चौपाल-1 पर सारी गतिविधि और उत्साह देखें।

उन्होंने कहा कि मेला मैदान 43.5 एकड़ भूमि में फैला हुआ है और इसमें शिल्पकारों के लिए 1000 काम की झोपड़ियों और एक बहु-व्यंजन फूड कोर्ट है, जो आगंतुकों के बीच बेहद लोकप्रिय है। मेले का माहौल गुजरात और प्रकृति के रंगों और वाइब्स से प्रेरित रूपांकनों और सजावट के साथ जातीय वाइब्स लेकर आएगा।

हरियाणा का एक परिवार राज्य की प्रामाणिक जीवनशैली को प्रदर्शित करने के लिए विशेष रूप से बनाए गए 'अपना घर में रहने जा रहा है। 'अपना घर' आगंतुकों को राज्य के लोगों की जीवनशैली का अनुभव करने का मौका देता है और उन्हें उनकी संस्कृति के बारे में बातचीत करने और सीखने का मौका भी प्रदान करता है। अपना घर पारंपरिक मिट्टी के बर्तन, बर्तन आदि प्रदर्शित करेगा और शिल्पकार इन पारंपरिक शिल्पों का जीवंत प्रदर्शन करेंगे। न केवल हरियाणा बल्कि गुजरात भी गुजराती परिवार की पारंपरिक जीवनशैली को प्रदर्शित करने के लिए एक अपना घर बनाएगा जो उन लोगों के लिए एक शानदार अनुभव होगा जो मेले में सांस्कृतिक रंगों का आनंद लेना चाहते हैं। दोनों चौपालों (एम्फीथियेटर्स) को भाग लेने वाले राज्य और भागीदार राष्ट्र के तत्वों से प्रेरित होकर एक नया रूप दिया गया है। पारंपरिक प्रॉप्स के उपयोग के साथ-साथ प्रदर्शन को दर्शकों के लिए जीवंत बनाएं। 37वां अन्तर्राष्ट्रीय सूरजकुडं शिल्प  मेला 2 फरवरी से 18 फरवरी, 2024 तक प्रतिदिन सुबह 10.00 बजे से शाम 8:00 बजे तक खुला रहता है।

ये हैं 37वें सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय शिल्प मेला-2024 की अन्य झलकियाँ

सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) की प्रगति के साथ तालमेल रखते हुए, मेला प्रवेश टिकट Bookmyshow.com के माध्यम से ऑनलाइन बुक किए जा सकते हैं। स्मार्ट पार्किंग के तकनीकी नवाचारों के माध्यम से परेशानी मुक्त वाली पार्किंग। भुगतान फास्ट टैग सक्षम और कैशलेस होगा। मेले के पूरी तरह से परेशानी मुक्त अनुभव के लिए आगंतुक पहले से पार्किंग बुक कर सकेंगे। कला और संस्कृति विभाग राजस्थान से कच्ची घोड़ी, स्टिक वॉकर, कालबेलिया, बहरूपिया, हिमाचल से कांगड़ी नाटी, असम से बिहू, भांगड़ा, जिंदुआ, पंजाब से झूमर, उत्तराखंड से छपेली, उत्तर प्रदेश से बरसाना की होली जैसे पारंपरिक और सांस्कृतिक कलाकारों का प्रदर्शन करेगा। मेघालय से वांगिया, संभलपुरी ओडिशा, मध्य प्रदेश से बधाई और भी बहुत कुछ।

एक सामाजिक जिम्मेदारी पहल के रूप में, सूरजकुंड मेला प्राधिकरण प्रवेश टिकटों पर 50 प्रतिशत की छूट प्रदान करता है। दिव्यांग व्यक्ति, वरिष्ठ नागरिक और सेवारत रक्षा कर्मी और पूर्व सैनिक शामिल हैं । गुजरात के अपना घर के साथ-साथ हरियाणा का पूरी तरह से नवीनीकृत 'अपना घर आगंतुकों को रोमांचित करेगा।

मेले की अवधि के दौरान स्कूली छात्रों के लिए कई रोमांचक और नवीन प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। मेला पखवाड़े के दौरान निर्यातकों और खरीदारों की बैठक का आयोजन किया जाता है जो शिल्पकारों को निर्यात बाजार तक पहुंचने और टैप करने के लिए एक तैयार सहायता प्रणाली प्रदान करता है।

सीपी राकेश आर्य ने कहा कि सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने के लिए मेला मैदान में नाइट विजन कैमरों के साथ 300 से अधिक सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। किसी भी अप्रिय घटना या दुर्घटना को रोकने के लिए मेला परिसर में महिला गार्ड सहित बड़ी संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात हैं। मेले में प्रवेश करने वाले अतिक्रमियों की घुसपैठ की जाँच की जाएगी ।

यहां बनाई गई हैं पार्किंग:-

शिल्पर जुबली गेट के ठीक बगल में एमसीएफ की खोरी भूमि पर 2-3 एकड़ अतिरिक्त पार्किंग स्थान बनाया गया।

फायर ब्रिगेड टीम और मेडिकल टीमें पूरे मेले में किसी भी आपात स्थिति के लिए उपलब्ध रहेगी।  सभी महत्वपूर्ण चिंदुओं पर अत्याधुनिक चिकित्सा, अग्नि और आपदा प्रबंधन सुविधाओं के साथ आपदा प्रबंधन योजना/निकासी योजना मौजूद है। बैंक, डिस्पेंसरी, मेला पुलिस नियंत्रण कक्ष और सीसीटीवी नियंत्रण कक्ष एक केंद्रीकृत स्थान पर स्थित है। ताकि आगंतुकों और प्रतिभागियों को इन आवश्यक सेवाओं तक आसानी से पहुंच मिल सके।  दिव्यांग व्यक्तियों के लिए बेहतर सुविधाएं। मेला परिसर में प्लास्टिक पोलिथीन बैंग पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया गया है।

यह है सूरजकुंड का इतिहास:-

सूरजकुंड, लोकप्रिय सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय शिल्प मेला का स्थल, दक्षिणी दिल्ली से 8 किमी की दूरी पर फरीदाबाद में स्थित है। सूरजकुंड का नाम प्राचीन एम्फीथिएटर से लिया गया है, जिसका अर्थ है 'सूर्य की झील जिसका निर्माण 10वीं शताब्दी में तोमर सरदारों में से एक राजा सूरजपाल ने किया था। 'सूरज' का अर्थ है 'सूर्य' और 'कुंड' का अर्थ है 'पूल झील या जलाशय। यह स्थान अरावली पर्वत श्रृंखला की पृष्ठभूमि पर बना है। जैसा कि इतिहासकार हमें बताते हैं, यह क्षेत्र तोमर वंश के क्षेत्र में आता था। सूर्य उपासकों के कबीले के सरदारों में से एक, राजा सूरज पाल ने इस क्षेत्र में एक सूर्य कुंड बनवाया था। ऐसा माना जाता है, कि इसकी परिधि में एक मंदिर भी था। पुरातात्विक उत्खनन से खंडहरों के आधार पर यहां एक सूर्य मंदिर के अस्तित्व का पता चला है जिसे अब भी देखा जा सकता है। फ़िरोज शाह तुगलक (1351-88) के तुगलक वंश शासन के दौरान, चूने के गारे में पत्थरों से सीढ़ियों और छतों का पुनर्निर्माण करके जलाशय का नवीनीकरण किया गया था। यह मेला वास्तव में भारत की सांस्कृतिक विरासत की समृद्धि और विविधता के लिए एक श्रद्धांजलि है, जो इस शानदार स्मारक की पृष्ठभूमि में आयोजित किया जाता है।

महामहिम राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू करेंगी सूरजकुंड मेले का उद्घाटन, 40 देश करेंगे शिरकत

surajkund-mela-news-update

फरीदाबाद, 29  जनवरी। डीसी विक्रम सिंह ने कहा कि इस बार का 37वां अंतरराष्ट्रीय सूरजकुंड क्राफ्ट्स मेला पिछले वर्षों के मुकाबले इस वर्ष और भी ज्यादा भव्य रूप से आयोजित किया जाएगा। ऐसे में मेले की तैयारियों को लेकर प्रशासन व सरकार द्वारा सभी तैयारियां और अधिक बेहतरीन ढंग से की जा रही हैं। डीसी विक्रम सिंह सूरजकुंड परिसर स्थित होटल राजहंस में 2 फरवरी से शुरू होने वाले 37वें अंतरराष्ट्रीय क्राप्ट मेले की तैयारियों को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों की मीटिंग को संबोधित कर रहे थे।

डीसी विक्रम सिंह ने कहा कि 2 फरवरी को मेले का आधिकारिक उद्घाटन महामहिम राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी द्वारा किया जाएगा वहीं 3 तारीख को उपराष्ट्रपति श्री जगदीप धनखड़ मेले में शिरकत करेंगे। उन्होंने कहा कि इस बार मेले में 40 देश शामिल होंगे तथा कई देशों के राजदूत भी विभिन्न अवसरों पर मेले में शिरकत करेंगे।  मेला सुबह 10:00 बजे शुरू हो कर रात 08:00 बजे तक रहेगा। वहीं बड़ी चौपाल व छोटी  चौपालों पर लगातार अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर  सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। यहां देश व विदेश के कलाकारों के अलावा स्कूली बच्चे भी अपनी प्रस्तुती देंगी। बच्चों के लिए प्रतिदिन विभिन्न प्रतियोगिताएं भी करवाई जाएंगी।

इस दौरान सभी वरिष्ठ अधिकारियों ने मेला में विभिन्न स्थानों पर जाकर तैयारियों का जायजा लिया व मेले के दौरान लगने वाले विभिन्न स्टालों की जानकारी भी ली। उन्होंने

निर्देश दिए कि मेले में सफाई, सडक़ों की व्यवस्था, लाईटिंग, बिजली की व्यवस्था, शौचालयों सहित सभी सुविधाएं बेहतरीन हों। इसके लिए सभी विभागों को भी निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों से कहा कि सभी विभाग अपनी-अपनी तैयारियां समय से पूरी कर लें। मेले में पार्किंग सहित अन्य सभी विषयों पर भी संबंधित विभागों को निर्देश दिए गए।

मीटिंग में एडीसी आनंद शर्मा, पर्यटन विभाग के एमडी नीरज कुमार, डीसीपी मुख्यालय अभिषेक जोरवाल, डीसीपी ट्रैफिक अमित यशवर्धन, जीएम टूरिज्म यूएस भारद्वाज, सहित सभी विभागों के अधिकारी मौजूद थे।